क्या गर्मी में आपको भी लगती है कम भूख? डायटीशियन Rujuta Diwekar से जानें गर्मी में क्या खाएं और कितना खाएं

 Rujuta Diwekar की मानें, तो हमें अपनी डाइट में देसी और पारंपरिक भोजन को शामिल करना चाहिए। ऐसे में गर्मियों में इन चीजों को डाइट में जरूर शामिल करें। 

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariUpdated at: Apr 08, 2021 15:52 IST
क्या गर्मी में आपको भी लगती है कम भूख? डायटीशियन Rujuta Diwekar से जानें गर्मी में क्या खाएं और कितना खाएं

बदलते मौसम का हमारे तन और मन दोनों पर फर्क पड़ता है। सेलेब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर (Rujuta Diwekar) की मानें, तो गर्मियों में हमें कम भूख (Feeling Less Hungry During Summer) लगती है, खास कर दोपहर के समय। ऐसा इसलिए क्योंकि प्रकाश की मात्रा भूख को उत्तेजित करती है। दरअसल, साइंस की मानें, तो जब कम रोशनी होती है तो हमारा शरीर प्राकृतिक रूप से किसी भी चीज को सुविधाजनक रूप से स्टोर कर पाता है और इसलिए गर्मियों की तुलना सर्दियों में लोगों को ज्यादा भूख लगती है। पर गर्मियों में आपका शरीर डरता है कि कहीं यह अधिक न हो जाए इसलिए आपको भूख कम लगती है। एक और तथ्य ये भी है कि ठंड से लड़ने के लिए हमारे शरीर को अधिक मेहनत करनी पड़ती है और इसलिए, सर्दियों में आपको ज्यादा भूख महसूस होती है, तो गर्मियों में शरीर में पानी की खपत ज्यादा होती है जिसके चलते हमें प्यास ज्यादा लगती है। 

Insidejwarkiroti

पर भूख का कम लगना आपको बीमार कर सकता है। इससे आपकी इम्यूनिटी और मेटाबोलिज्म पर भी खासा असर पड़ता है। ऐसे में जरूरी बै कि आप अपने गर्मियों की डाइट को सही करें और कुछ ऐसी चीजों को खाएं, जिससे की आपकी भूख भी बनी रही है और आपको ऐसा भी न लगे कि आपने बहुत ज्यादा खा लिया है। तो, आइए रुजुता दिवेकर से जानते हैं कि गर्मियों में हमारी डाइट (summer healthy diet tips) कैसी होनी चाहिए? 

गर्मियों में क्या खाना चाहिए-Summer healthy diet tips

1. खाएं ज्वार भकरी (ज्वार की रोटी)

ज्वार एक प्रकार का मोटा अनाज है, जिसे लोग भूनकर और आटा बना कर तरह-तरह की चीजें बनाते हैं। गर्मियों में आप गेहूं की रोटी की जगह 2 ज्वार की रोटी (benefits of jowar ki roti) खा सकते हैं। इसमें काफी पौष्टिक तत्व होते हैं जैसे कि मिनरल, प्रोटीन, पोटेशियम, फॉस्फोरस, कैल्शियम, आयरन और विटमिन बी कॉम्प्लेक्स आदि। ज्वार की खास बात ये है कि ये आपके पेट को ठंडा रखने का काम करता है और  पित्त को शांत करता है, वात को बढ़ाता है। इसके अलावा इसके कई फायदे हैं, जैसे कि

  • -ये ग्लूटेन फ्री है, जो कि आपको गैस, बदहजमी और पेट से जुड़ी परेशानियों से बचाता है।
  • -ये ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने में मदद करता है।
  • -ये आयरन और प्रोटीन से भी भरपूर होता है, जो कि हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है।
  • -ज्वार शरीर को हल्का भी रखता है और इसे खाने के बाद आपको भारी-भारी भी नहीं लगेगा। 

इसे भी पढ़ें : गर्मी में दूध पीते समय रखें इन 7 बातों का ध्यान, वरना हो सकता है सेहत को नुकसान

2. लताओं वाली सब्जियां

रुजुता दिवेकर कहती हैं कि गर्मियों में लताओं वाली सब्जियों का ज्यादा खाना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि इनकी प्रकृति ठंडी होती है और ये पेट को ठंडा रखने का काम करते हैं। ऐसे में आपको  ड्योढ़ी, तोरी, घीया, कद्दू और खीरा आदि खाना चाहिए। ये आपको शांत रखते हैं और इम्यूनिटी बढ़ाते हैं। आप इनसे सब्जी, सलाद और रायता बना कर खा सकते हैं। 

Insidegheeya

3.  एक कटोरी मूंग दाल खाएं

मूंग दाल में काफी मात्रा में प्रोटीन होता है। ये शरीर को ताकत देने के साथ पाचन क्रिया को भी सही रखता है। मूंग की दाल के सेवन से ब्लड प्रेशर (blood pressure) को सामान्य रखने में मदद मिलती है और ये पेट को शांत करता है। साथ ही ये कब्ज की परेशानी को भी दूर करता है क्योंकि इसमें कई एंजाइम हैं, जो कि मेटाबोलिज्म को सही रखता है। साथ ही ये एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर है, जो कि इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करता है। साथ ही इसका ये गुण ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को दूर करने में मदद करते हैं। ये डायबिटीज और हृदय रोग जैसी समस्याओं को कम करने में मदद करती है। इसके अलावा मूंग के सूप में पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट गुण गर्मी के कारण होने वाले तनाव को भी दूर करने में कारगर है, इसलिए आपको रोज के खाने में 1 कटोरी मूंग दाल शामिल करना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें : डलगोना के बाद अब ट्रेंड में है 'प्रॉफी' (Proffee), जानें कॉफी और प्रोटीन से बने इस ड्रिंक की रेसिपी और फायदे

इसके साथ ही आपको खाने के बाद एक एक 1 गिलास छाछ पीना चाहिए। ये आपके पाचंनतंत्र को सही रखेगा और गैस व बदहजमी आदि से बचाएगा। साथ ही ये आपके प्रतिरक्षा में सुधार करेगा। रुजुता दिवेकर कहती हैं कि हेल्दी डाइट का मतलब यही है कि आप जितना हो सके अपने खाने में उतनी विविधता और देसीपन लाएं। ये शरीर में एसिडिटी, कमजोरी और सूजन आदि को रोकेगा। साथ ही इस तरह से पेट भर जाने पर आपको खाने के बाद क्रेविंग आदि की परेशानी नहीं होगी।

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer