एक को देख कर दूसरे को क्यों आती है जम्हाई, जानें जम्हाई आने का कारण और इसके 5 फायदे

जम्हाई आने का कारण हमेशा आलस आना या नींद ना पूरी होना नहीं होता। जम्हाई लेना शरीर के लिए फायदेमंद भी है, आइए जानते हैं इसके कुछ विशेष कारण।

 
Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariUpdated at: Aug 24, 2021 10:48 IST
एक को देख कर दूसरे को क्यों आती है जम्हाई, जानें जम्हाई आने का कारण और इसके 5 फायदे

सो कर उठने के बाद, किसी काम से बोरियत होने पर या फिर थक जाने से अक्सर हम जम्हाई लेते हैं।  पर क्या आपने कभी सोचा है कि ऐसा क्यों होता है (Why Do we yawn)? ये दरअसल, ब्रेन और हमारे शरीर के बीच होने वाली रिएक्टिव एक्टिविटी है, जिसमें कि शरीर खुद को रिलेक्स करता है। साथ ही जब हम दूसरों को जम्हाई लेते देखते हैं तो, सहानुभूति के रूप में खुद भी जम्हाई लेते हैं जो कि ब्रेन का हैबिचुअल एक्शन है। पर अगर किसी को ज्यादा जम्हाई आती है तो, ये स्वास्थ्य से जुड़ी किसी परेशानी की ओर संकेत करता है, जिसके लिए आपको कुछ उपाय करने पड़ सकते हैं। पर इन सबसे पहले जरूरी है जम्हाई आने के कारणों  के बारे में जानना। उसके बाद हम ये भी जानेंगे कि जम्हाई लेने के फायदे क्या हैं (yawning health benefits)

Inside2yawning

Image credit: Mental Floss

जम्हाई आने का कारण-Why Do we yawn in hindi

जम्हाई लेने के कारणों की बात करें तो, इसका सबसे बड़ा कारण है हमारा ब्रेन और बॉडी टेंप्रेचर। दरअसल, 2014 में फिजियोलॉजी एंड बिहेवियर जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन की मानें तो, जब हमारे शरीर का टेंप्रेचर ज्यादा हो जाता है तो, इसे ठंडा करने और इस टेंपरेचर को संतुलित करने के लिए हमें जम्हाई आई है। इसके अलावा इसके कई कारण हैं, जैसे कि

  • -ब्रेन का थक जाना
  • -बोरियत होना
  • -कार्बन डाइऑक्साइड का बाहर निकलना
  • -उनींदापन
  • -नींद संबंधी विकार, जैसे स्लीप एपनिया के कारण
  • -दवाओं के साइडइफेक्ट्स से
  • -डिप्रेशन के कारण

इसे भी पढ़ें : बीते कल (Past) को लेकर हो रहा है पछतावा तो आप भी हो सकते हैं इमोशनल बैगेज के शिकार, ऐसे पाएं छुटकारा

जम्हाई लेने के फायदे-Yawning health benefits

1. शरीर को ठंडा करने के लिए

जम्हाई हमारे शरीर को रिलेक्स करने में मदद करती है। जब हम जम्हाई लेते हैं तो शरीर अपने आप को कुछ देर के लिए डिटॉक्स करता है और तापमान को नियमित करता है।  इसके अलावा जब जम्हाई लेने के लिए हम ठंडी हवा में सांस लेते हैं, तो ये शरीर को रिफ्रेश होने में मदद करता है।

2. शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ती है

जब हम ऊब जाते हैं या थक जाते हैं, तो हम उतनी गहरी सांस नहीं लेते जितना हमें लेना चाहिए। ऐसे में धीमी सांस लेने के कारण हमारा शरीर कम ऑक्सीजन लेता है और फिर हमें जम्हाई आती है। इस तरह एक लंबे समय के बाद जम्हाई लेने के से हमें खून में ज्यादा ऑक्सीजन लाने और ज्यादा कार्बन डाइऑक्साइड को बाहर निकालने में मदद मिलती है। तब जम्हाई लेना हमारे ऑक्सीजन और कार्बन डाइऑक्साइड के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। 

3. फेफड़ों के लिए फायदेमंद

जम्हाई लेने का सबसे बड़ा फायदा ये है कि इससे फेफड़ों की एक्सरसाइज होती है। जब आप जम्हाई लेते हैं  तो, फेफड़े पूरी तरह से फैलते हैं जिससे कि टिशूज और मांसपेशियों की एक्सरसाइज होती है। इससे आप के फेफड़ों की फैलाव होता है और इनकी क्षमता बढ़ती है। इसलिए अगर आपको जम्हाई आ रही है तो, ये ना समझें कि ये आलस है पर ये आपके फेफड़ों की क्षमता बढ़ाने के लिए एक आसान एक्सरसाइज भी हो सकती है। इसलिए जम्हाई लेने में कोई बुराई नहीं है।

lungscancerinside54

इसे भी पढ़ें : खुद की भावनाओं को व्यक्त न कर पाना हो सकता है इमोशनल ब्लंटिंग, जानें इसके कारण और लक्षण

4. ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाता है

जम्हाई लेने से हमारे जबड़े में खिंचाव होता है, जिससे चेहरे और गर्दन में खून का प्रवाह बढ़ जाता है। जम्हाई के कारण लंबी लंबी सांस लेने से दिल की धड़कन में भी तेजी आ जाती है। इससे शरीर के माध्यम से खून और रीढ़ की हड्डी के तरल पदार्थ को तेजी से सर्कुलेट होती है और पूरी बॉडी को रीस्टार्ट करने में मदद मिलती है। यह पूरी प्रक्रिया मस्तिष्क को शांत करती है और इसे एक्टिवेट करती है।

5. स्ट्रेस और एंग्जायटी कम करता है

स्ट्रेस और एंग्जायटी हमारे दिमाग को गर्म करता है और इससे हमारा ब्लड प्रेशर भी बढ़ जाता है। ऐसे में जब हम जम्हाई लेते हैं और थोड़ी देर शांत बैठ जाते हैं तो, ये  स्ट्रेस और एंग्जायटी को कम करने में मदद करता है। इसलिए जब आप स्ट्रेस और एंग्जायटी में हो तो, जम्हाई जरूर लें। 

ये तो, थे जम्हाई लेने के फायदे पर अगर आपको ज्यादा जम्हाई (excessive yawning) आती है तो, ये स्वास्थ्य से जुड़ी स्थितियों के कारण हो सकती है। जैसे कि तनाव, नींद ना आना, ब्रेन ट्यूमर, दिल से जुड़ी बीमारियों, मिरगी, मल्टीपल स्क्लेरोसिस और लीवर फेलियर के कारण हो सकता है। ऐसे में सबसे पहले तो, एक हेल्दी लाइफस्टाइल फॉलो करें और उसके बाद स्ट्रेस कंट्रोल करने और एक बेहतर नींद लेने की कोशिश करें।

Main image credit: Slate Magazine

Read more articles on Mind-Body in Hindi

Disclaimer