कोरोना मरीजों के लिए क्यों जरूरी है 5वां और 10वां दिन? डॉक्टर से जानिए इसके बारे में

कोरोना मरीजों के लिए आइसोलेशन का 5वां और 10वां दिन बहुत महत्वपूण होता है। लेकिन ऐसा क्यों होता है? जानें इसके बारे में 

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: May 04, 2021Updated at: May 04, 2021
कोरोना मरीजों के लिए क्यों जरूरी है 5वां और 10वां दिन? डॉक्टर से जानिए इसके बारे में

देशभर में कोरोना वायरय की दूसरी लहर बहुत तेजी से अपने पैर पसार रही है। देश में कोरोना के मामले 4 लाख को पार कर चुके हैं और रोजाना हजारों लोगों की जान कोरोना ले रहा है। इस समय देश में स्थिति इतनी गंभीर हो चुकी है कि देश के कई राज्य ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं। देश के लोग ऑक्सीजन की कमी की वजह से अपनी जान गवां रहे हैं। इस समय देश के कई इलाकों में लॉकडाउन लगा हुआ है, लेकिन स्थिति काबू में आने का नाम नहीं ले रही है। इस समय ट्रेसिंग, टेस्ट और ट्रीटमेंट के रूल को फॉलो किया जा रहा है और यह बहुत जरूरी भी है। क्योंकि जरूरी नहीं है कि सभी में कोरोना वायरस के लक्षण नजर आए, कई लोगों में कोरोना के लक्षण कई दिनों बाद नजर आते हैं और तब तक वह कई लोगों तक संक्रमण फैला चुका होता है। ऐसे में जरूरी है कि ज्यादा से ज्यादा टेस्ट करवाए जाए और उनका इलाज करवाया जाए। 

corona

कोरोना वायरस के लक्षण हर व्यक्ति में अलग-अलग तरह से नजर आ रहे हैं। कुछ लोगों में खांसी-बुखार तो कुछ को डायरिया और उल्टी के लक्षण नजर आ रहे हैं। कोरोना के शुरुआत में कुछ लोगों में इसके हल्के लक्षण नजर आते हैं, तो कुछ लोगों में कोई लक्षण ही नजर नहीं आता है। डॉक्टर कहते हैं कि कोरोना संक्रमण की गंभीरता 5वें और 10वें दिन सबसे अधिक होती है। वैसे तो कोरोना मरीजों के लिए 14 दिन का आइसोलेशन पीरियड बहुत गंभीर होता है, लेकिन आइसोलेशन पीरियड का 5वां और 10वां दिन कोरोना मरीजों के लिए काफी जरूरी होते हैं। 

इसे भी पढ़ें - क्या वैक्सीन लगाने के बाद भी हो सकता है कोरोना वायरस? डॉक्टर से जानें क्यों जरूरी है कोरोना वैक्सीन लगवाना

कैसे होती है वायरस की शुरुआत (How Does the Virus Start)

जनरल फीजिशियन डॉक्टर रमन कुमार बताते हैं कि कोरोना का मरीज सबसे पहले कोविड-19 का कोई लक्षण महसूस करता है और इसके बाद उसका इलाज शुरु करता है। ज्यादातर कोरोना मरीज संक्रमित होने के 2-3 दिन बाद लक्षण महसूस करते हैं। इसका शुरुआती लक्षण वायरल होता है, इसलिए लोगों को खांसी और बुखार आता है। इसके बाद वायरस इम्यून सिस्टम को प्रभावित करना शुरू कर देता है। जब हमारी इम्यूनिटी वायरस से लड़ना शुरू करती है, तो एंटीबॉडी का निर्माण होता है। 

5वां और 10वां दिन क्यों है महत्वपूर्ण (Why 5th and 10th day is Important)

दरअसल, कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों के लिए 5वां दिन वह समय होता है, जब मरीजों में इसके लक्षण ज्यादा नजर आने लगते हैं। मरीज लक्षणों के दूसरी लहर से प्रभावित होने लगते हैं, ये लक्षण गंभीर हाने लगते हैं। इस समय कोरोना मरीज के फेफड़े भी प्रभावित हो सकते हैं। ज्यादातर कोरोना मरीजों के लक्षणों को ठीक करने लिए एक सप्ताह या 10 दिन का समय लग जाता है। 10वें दिन के बाद मरीज के लक्षणों में धीरे-धीरे कमी आने लगती है या फिर उसकी तबियत बिगड़ने लगती है। इसलिए इन दिनों में मरीज की सेहत का खास ध्यान रखना जरूरी होता है। 

इसे भी पढ़ें - कोरोना वायरस को ठीक करने में असरदार है स्टीम थैरेपी? डॉक्टर से जानें स्टीम लेने के फायदे

इन दिनों में दिख सकते हैं कोरोना वायरस के ये लक्षण (Symptoms of Corona Virus Can Be Seen in These Days)

  • बदन दर्द (Body Pain)
  • थकान (Fatigue)
  • खांसी (Cough)
  • कमजोरी (Weakness)
  • सांस लेने में तकलीफ (Shortness of Breath)
  • छाती में दर्द (Pain in Chest)
  • फोकस करने में परेशानी (Trouble in Focusing)
  • मानसिक तनाव (Mental Stress)
corona

कोरोना के बढ़ते मामले सभी को परेशान कर रहे हैं। ऐसे में कोरोना से बचाव करने के लिए इसके सभी गाइडलाइंस का पालन करना जरूरी है। कोरोना से बचने के लिए आपको समय-समय पर हाथ धोने चाहिए, सामाजिक दूरी का पालन करना चाहिए और हमेशा मास्क लगाकर रहना चाहिए। इस समय आपको डबल मास्किंग के नियम को फॉलो करना जरूरी है। इसके अलावा कोरोना वायरस से बचने के लिए आपको अपने खान-पान का भी विशेष ध्यान रखना है और मानसिक तौर पर स्वस्थ रहना है। इन सभी नियमों का पालन करने हम सभी  आसानी से कोरोना को हरा सकते हैं।

Read More Articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer