किन लाेगाें काे जरूर लगवाना चाहिए हेपेटाइटिस का टीका? जानें किन्हें रहता है इंफेक्शन का अधिक खतरा

हेपेटाइटिस लिवर काे बुरी तरह से प्रभावित कर देता है। इसलिए हेपेटाइटिस का टीका जरूर लगवाना चाहिए। जानें किन लाेगाें के लिए जरूरी है हेपेटाइटिस का टीका-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatUpdated at: Sep 16, 2021 17:02 IST
किन लाेगाें काे जरूर लगवाना चाहिए हेपेटाइटिस का टीका? जानें किन्हें रहता है इंफेक्शन का अधिक खतरा

हेपेटाइटिस लिवर या यकृत की सूजन को संदर्भित करता है। यह आमतौर पर एक वायरल संक्रमण के कारण होता है, जो तीव्र (अल्पकालिक) और क्राेनिक (दीर्घकालिक) लिवर रोग दोनों का कारण बनता है। पांच मुख्य हेपेटाइटिस वायरस हैं, जिन्हें ए, बी, सी, डी और ई प्रकार के रूप में संदर्भित किया जाता है। सलाहकार- गैस्ट्रोएंटरोलॉजी, केएमसी अस्पताल मैंगलोर के डॉक्टर अनुराग शेट्टी बताते हैं कि अन्य वायरस जैसे कि सार्स कोविड 19, ईबीवी आदि भी हेपेटाइटिस का कारण बन सकते हैं। हेपेटाइटिस के अन्य गैर-संक्रामक कारण हैं जैसे ड्रग्स, शराब का सेवन या विषाक्त पदार्थ और लिवर में वसा का निर्माण जिसे NASH (नॉन एल्कोहलिक स्टीटो हेपेटाइटिस) कहा जाता है।

hepatitis E

( Image Source : lifebeyondhepatitisc.com)

हेपेटाइटिस ए और ई (Hepatitis A and E)

हेपेटाइटिस ए और ई स्व-सीमित तीव्र हेपेटाइटिस है, जो शायद ही कभी तीव्र लिवर विफलता में प्रगति करता है। ये दोनों वायरस दूषित पानी और भोजन के माध्यम से फैलते हैं। हेपेटाइटिस ए और ई के मामले मानसून में अधिक बढ़ते हैं।

इसे भी पढ़ें - हेपेटाइटिस बी क्यों माना जाता है लिवर का सबसे खतरनाक रोग? डॉक्टर से जानें इसके लक्षण, कारण और इलाज

हेपेटाइटिस बी और सी (Hepatitis B and C)

हेपेटाइटिस बी और सी क्राेनिक हेपेटाइटिस (6 महीने से अधिक) हाे सकते हैं। यह लिवर में सूजन, लिवर सिराेसिस, लिवर कैंसर का कारण बन सकता है। इतना ही नहीं यह मौत का कारण भी बन सकता है। दुनिया भर में 325 मिलियन से अधिक लोग हेपेटाइटिस बी वायरस या हेपेटाइटिस सी वायरस से पीड़ित हैं। हेपेटाइटिस बी और सी प्रति वर्ष 1.4 मिलियन मौतों का कारण बनते हैं। 

डॉ अनुराग शेट्टी बताते हैं कि लिवर कैंसर से होने वाली 3 में से 2 मौतों के लिए हेपेटाइटिस बी और सी जिम्मेदार हैं। हेपेटाइटिस बी और सी से ग्रसित 10 में से 9 लोग संक्रमण से अनजान होते हैं, जिससे लिवर कैंसर का विकास होता है। साथ ही यह अन्य लाेगाें तक भी प्रसारित हाे सकता है। 

( Image Source : webmd.com)

इन लाेगाें काे लगवाना चाहिए हेपेटाइटिस का टीका (Who should get Hepatitis Vaccine)

  • स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ताओं
  • सभी शिशुओं 
  • 18 साल तक के बच्चाें
  • हेपेटाइटिस बी पॉजिटिव व्यक्तियों के संवेदनशील यौन साथी
  • यौन रूप से सक्रिय व्यक्ति जो दीर्घकालिक, पारस्परिक रूप से एकांगी संबंध में नहीं हैं
  • पुरुष जो पुरुषों के साथ यौन संबंध रखते हैं 
  • इंजेक्शन दवा उपयोगकर्ता
  • हेपेटाइटिस बी-पॉजिटिव व्यक्तियों के परिवार के सदस्य
  • रक्त के संपर्क में आने के जोखिम में स्वास्थ्य देखभाल और सार्वजनिक सुरक्षा कार्यकर्ता
  • पुराने जिगर की बीमारी वाले व्यक्ति
  • हेपेटाइटिस सी संक्रमण वाले व्यक्ति 
  • एचआईवी संक्रमण वाले व्यक्ति
  • 19 से 59 वर्ष की आयु के मधुमेह वाले वयस्क
  • मां के उपचार द्वारा मां से बच्चे में हेपेटाइटिस बी के संचरण की रोकथाम और जन्म के समय बच्चे को IV इम्युनोग्लोबुलिन के साथ टीकाकरण। 

इन सभी लाेगाें काे हेपेटाइटिस का टीकाकरण करवाना बेहद जरूरी हाेता है। इससे बचने के लिए टीकाकरण, स्क्रीनिंग और उपचार ही एकमात्र तरीका है। यह धीरे-धीरे बढ़ता है और पूरे लिवर काे डैमेज कर देता है, जिससे लाेगाें काे जान तक चली जाती है।

हेपेटाइटिस से बचाव करे टीकाकारण

हेपेटाइटिस बी संक्रमित व्यक्ति के खून या रक्त, वीर्य से फैल सकता है। इसके अलावा संक्रमित व्यक्ति के साथ यौन संबंध बनाने, सूई साझा करने, सीरिंज शेयर करने से भी हेपेटाइटिस फैलता है। हेपेटाइटिस बी से बचाव का सबसे अच्छा तरीका है टीका लगवाना। अगर आपने इसका टीका नहीं लगवाया है, ताे आपकाे शारीरिक संबंध बनाते समय सतर्क हाेने की जरूरत हाेती है। साथ ही किसी भी व्यक्ति के निजी वस्तुओं का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए। 

(Main Image Source : sangbadpratidin.in, theconversation.com)

Read More Articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer