TNM Staging : क्या है कैंसर की टीएनएम स्टेजिंग सिस्टम? जानें इसके बारे में

शरीर में कैंसर के स्टेज का पता करने के लिए डॉक्टर टीएनएम स्टेजिंग सिस्टम का उपयोग करते हैं। चलिए विस्तार से जानते हैं इसके बारे में

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 04, 2021
TNM Staging : क्या है कैंसर की टीएनएम स्टेजिंग सिस्टम? जानें इसके बारे में

कोशिकाओं के असाधारण रूप से बढ़ने को कैंसर कहा जाता है (Cancer Cells Increase)। इसमें कोशिकाएं अनियंत्रित और असाधारण रूप से बढ़ती हैं, जो शरीर के विकास प्रणाली का हिस्सा नहीं होती है। डीएनए में बदलाव और म्यूटेशन (Mutation) कई तरह के कैंसरों का कारण है। इस दौरान व्यक्ति में कई तरह के लक्षण (Cancer Symptoms) नजर आना शुरू हो जाते हैं। अगर शुरुआत में इसके लक्षणों पर गौर किया जाए, तो कैंसर पीड़ित आसानी से ठीक हो सकता है और एक सामान्य जिंदगी जी सकता है। कैंसर के स्टेज का पता लगाने के लिए डॉक्टर टीएनएम स्टेजिंग सिस्टम (TNM Staging System) का उपयोग करते हैं। चलिए वॉकहार्ट अस्पताल, मुंबई सेंट्रल के कंसल्टेंट ऑन्कोलॉजिस्ट डॉक्टर प्रीतम जैन (Dr Preetam Jain, Consultant Oncologist, Wockhardt Hospital, Mumbai Central) से टीएनएम स्टेजिंग सिस्टम के बारे में विस्तार से समझते हैं।

मोलमाी

टीएनएम स्टेजिंग सिस्टम (TNM Staging System)

टीएनएम सिस्टम सबसे व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला कैंसर स्टेजिंग सिस्टम है। ऑन्कोलॉजिस्ट (कैंसर के डॉक्टर) टीएनएम सिस्टम का उपयोग करके कैंसर के उपचार का विकल्प देखते हैं। इस स्टेजिंग सिस्टम के जरिए आप अपने पैथोलॉजी रिपोर्ट में कैंसर देख सकते हैं।  

इसे भी पढ़ें - अनुवांशिक ब्रेस्ट कैंसर से बचाव में कितना मददगार है जेनेटिक टेस्ट? जानें डॉक्टर से

T : टी यानी ट्यूमर (Tumor)। इसमें ट्यूमर के आकार और सीमा को संदर्भित किया जाता है। इसका आकार आमतौर पर सेंटीमीटर में दिया जाता है। मुख्य कैंसर को प्राथमिक कैंसर कहा जाता है।

N : एन यानी लिम्फ नोड्स (Lymph Nodes)। कैंसर वाले आस-पास के लिम्फ नोड्स की संख्या को संदर्भित करता है। इसमें पता चलता है कि ट्यूमर लिम्फ नोड्स में फैल गया है। साथ ही ट्यूमर कितनी दूरी तक फैला है इसका पता भी चलता है।

M : एम यानी मेटास्टेसिस (Metastasis)। इसमें पता चलता है कि प्राथमिक ट्यूमर शरीर के अन्य हिस्सों में भी फैल गया है। 

जब आपके कैंसर का वर्णन TNM प्रणाली द्वारा किया जाता है, तो प्रत्येक अक्षर के बाद संख्याएं होती हैं, जो कैंसर के बारे में अधिक विवरण देती हैं। 

T : प्राथमिक कैंसर  (Primary tumor) 

TX : इसका मतलब है कि मुख्य कैंसर को मापा नहीं जा सकता है। 

T0 : मुख्य कैंसर पाया नहीं गया।

T1, T2, T3, T4 : मुख्य ट्यूमर के आकार और सीमा को संदर्भित करता है। टी के बाद संख्या जितनी अधिक होगी, ट्यूमर उतना ही बड़ा होगा। T3a और T3b जैसे अधिक विवरण प्रदान करने के लिए T को और अधिक विभाजित किया जा सकता है।

मोलमाी

N : क्षेत्रीय लिम्फ नोड्स (Regional Lymph Nodes) 

NX : लिम्फ नोड्स के पास कैंसर को मापा नहीं जा सकता है। 

N0 : लिम्फ नोड्स के पास कैंसर नहीं है।

N1, N2, N3 : कैंसर वाले लिम्फ नोड्स की संख्या और स्थान को दर्शाता है। एन के बाद संख्या जितनी अधिक होगी, कैंसर वाले लिम्फ नोड्स उतने ही अधिक होंगे।

इसे भी पढ़ें - ये 8 तरह के कैंसर हो सकते हैं अनुवांशिक (Genetic), डॉक्टर से जानें इनके लक्षण और बचाव के टिप्स

M :  दूर के मेटास्टेसिस (Distant Metastasis) 

MX : मेटास्टेसिस को मापा नहीं जा सकता है।

M0 : कैंसर शरीर के दूसरे हिस्सों में नहीं फैला है।

M1 : कैंसर शरीर के दूसरे हिस्सों में फैल गया है।

कैंसर स्टेज का वर्णन करने के अन्य तरीके (Other Ways to Describe Stage)

टीएनएम प्रणाली कैंसर का विस्तार से वर्णन करने में मदद करती है। लेकिन, कई कैंसर के लिए टीएनएम संयोजनों को पांच चरणों में बांटा गया है। आपके कैंसर के बारे में ऑन्कोलॉजिस्ट इसे इन चरणों में से एक के रूप में वर्णित कर सकता है।

स्टेज 0 : कैंसर के असामान्य कोशिकाएं मौजूद हैं लेकिन आस-पास के ऊतकों तक नहीं फैली है। 

स्टेज 1,2,3 : कैंसर सेल्स मौजूद है। संख्या जितनी अधिक होगी, कैंसर ट्यूमर उतना ही बड़ा होगा और उतना ही यह आस-पास के ऊतकों में फैल गया होगा।

स्टेज 5 : कैंसर शरीर के दूसरे अंगों में भी फैल गया है।

अगर आप में कैंसर के कुछ लक्षण नजर आते हैं, तो आप तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। इसके बाद डॉक्टर आपकी टीएनएम स्टेजिंग कर सकते हैं, जिससे पता चलेगा कि आप कैंसर है या नहीं है। अगर है तो उसने आपको कितना प्रभावित किया है। 

Read More Articles on Cancer in Hindi

Disclaimer