ये 8 तरह के कैंसर हो सकते हैं अनुवांशिक (Genetic), डॉक्टर से जानें इनके लक्षण और बचाव के टिप्स

कई कैंसर ऐसे होते हैं, जो अनुवांशिक प्रकृति के हो सकते हैं। यानी परिवार के दूसरे सदस्यों को भी यह हो सकते हैं। जानें ऐसे 8 कैंसरों के बारे में

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 01, 2021
ये 8 तरह के कैंसर हो सकते हैं अनुवांशिक (Genetic), डॉक्टर से जानें इनके लक्षण और बचाव के टिप्स

क्या आपके घर में भी कोई कैंसर रोगी है या पहले कभी था? अगर हां, तो आपके मन में अनुवांशिक प्रकृति के कैंसर को लेकर डर जरूर होगा। अनुवांशिक प्रकृति के कैंसर पीढ़ी दर पीढ़ी होने वाली एक बीमारी है। लेकिन सभी कैंसर प्रकृति में अनुवांशिक नहीं होते हैं। लगभग 10% कैंसर ही अनुवांशिक या पारिवारिक प्रकृति के होते हैं। इसमें ब्रेस्ट कैंसर, गर्भाशय का कैंसर और थायरॉइड कैंसर सबसे सामान्य है।

क्या है अनुवांशिक प्रकृति के कैंसर (What is Genetic Cancer)

वॉकहार्ट हॉस्पिटल के कंसल्टेंट ऑन्कोलॉजिस्ट डॉक्टर प्रीतम जैन(Dr Preetam Jain, Consultant Oncologist, Wockhardt Hospital, Mumbai Central) बताते हैं कि अनुवांशिक प्रकृति के कैंसर वह होते हैं, जो परिवार में कई पीढ़ियों से चलते आ रहे हैं। लेकिन सभी अनुवांशिक प्रकृति के कैंसर पारिवारिक हो, यह जरूरी नहीं है। कई बार जीन में म्यूटेशन होना भी कैंसर का कारण बन सकता है। 

अनुवांशिक प्रकृति के कैंसरों के लक्षण (Symptoms of Hereditary or genetic cancer)

cancer

1. स्तन कैंसर  (Breast cancer)

  • - एक या दोनों स्तनों में गांठ होना (शुरुआत में गांठ में दर्द नहीं होता है)
  • - निप्पल डिस्चार्ज
  • - निप्पल पर रेडनेस और दर्द होना
  • - गर्दन में सूजन
  • - हड्डियों और पेट में दर्द
  • - भूख न लगना
  • - सांस लेने में कठिनाई 

2. ओवेरियन कैंसर  (Ovarian Cancer)

  • - पेल्विक एरिया में दर्द
  • - पेट में सूजन या फैलाव
  • - हर समय पेशाब आने का अहसास होना 
  • - पेट में तरल पदार्थ 
  • - योनि स्राव

3. गर्भाशय के कैंसर (Uterine Cancer)

  • - रजोनिवृत्ति के बाद के चरण में असामान्य रक्तस्राव 
  • - योनि स्राव 
  • - पेट दर्द 
  • - पेल्विक दर्द और दबाव

4. थायराइड कैंसर (Thyroid Cancer)

  • - गले में गांठ बनना
  • - खाना निगलने में परेशानी
  • - आवाज में बदलाव
  • - गर्दन में सूजन
  • - सांस लेने में कठिनाई

5. कोलोरेक्टल कैंसर (Colorectal Cancer)

cancer

6. पेट का कैंसर (Stomach Cancer)

  • - पेट में जलन और पेट फूलना
  • - भूख न लगना और वजन कम होना
  • - हीमोग्लोबिन में कमी
  • - पेट के ऊपरी हिस्से में परेशानी

7. अग्नाशय के कैंसर (Pancreatic Cancer)

  • - चिकना मल निकलना
  • - पैर और तलवों में सूजन
  • - लगातार वजन कम होना

8. किडनी कैंसर (Kidney Cancer)

  • - पेशाब में खून आना
  • - एनीमिया
  • - थकान और कमजोरी
  • - साइड में या पेट में गांठ

अनुवांशिक प्रकृति के कैंसर की पहचान कैसे करें? (How to Identify Genetic Nature Cancer)

डॉक्टर प्रीतम बताते हैं कि अनुवांशिक प्रकृति के कैंसर का पता लगाना बहुत मुश्किल नहीं होता है। इसके लिए सबसे पहले परिवार की हिस्ट्री को देखा जाता है कि क्या परिवार में किसी सदस्य को कभी कैंसर रहा है। इसके बाद उस कैंसर के बारे में जानकारी पता की जाती है। फिर अनुवांशिक परामर्श दिया जाता है और आखिरी में अनुवांशिक प्रकृति के कैंसर की जांच करने के लिए ब्लड और टिश्यू की जांच की जाती है। अगर किसी का अनुवांशिक प्रकृति का कैंसर पॉजिटिव आता है, तो इसके बाद ऑन्कोलॉजिस्ट और जेनेटिकिस्ट की देखरेख में अपना इलाज करवाना होता है। साथ ही परिवार के अन्य सदस्यों की भी काउंसलिंग करवानी होती है और अपना इलाज करवाना होता है।

कैसे करें बचाव? (Prevention Tips for Genetic Cancer)

डॉक्टर प्रीतम बताते हैं कि अगर आपके परिवार में कोई कैंसर का मरीज है, तो ऐसे में आपको घबराने की जरूरत नहीं है। क्योंकि सभी कैंसर पारिवारिक या अनुवांशिक प्रकृति के नहीं होते हैं। इस दौरान आपको डॉक्टर के संपर्क में रहने की जरूरत होती है। साथ ही उनके दिशा-निर्देशों का पालन करना होता है। अगर कैंसर एक या दो पीढ़ियों को होता है, तो यह अनुवांशिक प्रकृति को हो सकता है। आपको अपनी डाइट का खास ध्यान रखना होता है। नियमित रूप से एक्सरसाइज भी करें। 

कैंसर संक्रामक रोग नहीं है। यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नहीं फैलता है। कैंसर रोगी के साथ संपर्क में आने पर यह नहीं फैलता है। यह अनुवांशिक कारणों की वजह से एक-दूसरे को हो सकता है। 

Read More Articles on Cancer in Hindi

Disclaimer