जीरे के सेवन से शरीर को होते हैं ये 10 फायदे, जानें इसके नुकसान भी

जीरे के अंदर कई ऐसे गुण मौजूद होते हैं जो सेहत को तंदुरुस्त बनाते हैं। ऐसे में आप इस लेख के माध्यम से जानें कि जीरे के फायदे और नुकसान क्या हैं...

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jan 07, 2021Updated at: Jan 07, 2021
जीरे के सेवन से शरीर को होते हैं ये 10 फायदे, जानें इसके नुकसान भी

जीरा हर भारतीय घर की रसोई में प्रयोग किया जाता है। मसाले के रूप में इसका प्रयोग व्यंजनों में सुगंध और स्वाद बढ़ा देता है। इसके अंदर पाए जाने वाले औषधीय गुण सेहत को तंदुरुस्त बनाने में भी बेहद मददगार है। बता दें कि जीरे के बीज से मोटापे को घटा सकते हैं और डायबिटीज की समस्या भी कम हो सकती है। ऐसे में आज इस लेख के माध्यम से जानेंगे की जीरा खाने का सही तरीका क्या है? इसके फायदे और नुकसान क्या हैं? पढ़ते हैं आगे... 

cumin benefits

जीरे की तासीर

जीरा गर्म तासीर का होता है लेकिन इसका प्रयोग हर मौसम में किया जा सकता है। अगर इसका इस्तेमाल सीमित मात्रा में किया जाए ये सेहत को अनेक फायदे पहुंचा सकता है।

जीरे खाने का सही तरीका

1- भारतीय घरों में घी में जीरे के बीजों को भूनते हैं। ऐसा करने से जीरा सब्जी के साथ मिलकर स्वाद बढ़ाता है।

2- सूप, सॉस और आचार में इसका उपयोग बेहद कारगर है।

3- कुछ लोग जीरे के बीजों को पानी के साथ मिलाकर चाय के रूप में भी सेवन करते हैं।

4- दाल में या भारतीय व्यंजनों में जीरे का छौंक बहुत प्रसिद्ध है। ऐसा करने से स्वाद दोगुना हो जाता है। 

इसे भी पढ़ें- मलाइका अरोड़ा ने बताया जीरा और मेथी का पानी है उनकी फिटनेस और सेहत का राज, आप भी कर सकते हैं सेवन

जीरे के फायदे (Benefits of Cumin)

इम्यूनिटी सिस्टम को करें मजबूत

जीरे के अंदर विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जिससे इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत होता है। विटामिन सी उन लोगों के लिए बेहद मददगार है जिनकी इम्यूनिटी तनाव के कारण कमजोर हो गई है। ऐसे में अगर नियमित रूप से विटामिन सी का सेवन किया जाए तो इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। साथ ही सूजन, दिल का दौरा, कैंसर का खतरा, लो ब्लड प्रेशर की समस्या दूर हो सकती हैं।

सांस की बीमारी से छुटकारा

जीरे के अंदर थिमोक्विनोन पाया जाता है, जिससे अस्थमा या सूजन से समस्याओं को दूर किया जा सकता है। जीरा ब्रोंकोडाइलेटर और प्राकृतिक एंटी एजिंग के रूप में भी काम करता है। इसके सेवन से फेफड़ों, ब्रोंची आदि को साफ किया जा सकता है। हम कह सकते हैं कि जीरे का उपयोग अस्थमा के रोगियों के लिए एक प्राकृतिक उपचार है।

वजन घटाने में मददगार

जीरे के उपयोग से शरीर की चर्बी और कोलेस्ट्रॉल को कम किया जा सकता है। इसके अलावा जीरा चयापचय क्रियाओं को उत्तेजित कर सकता है और इसके सेवन से व्यक्ति को भूख कम लगती है। ऐसे में आप जीरो को भूनकर, मिक्सी में पीसकर इसका छोड़ बनाएं और एक चम्मच रोजाना दही के साथ खाएं ऐसा करने से वजन आसानी से कम हो जाएगा।

इसे भी पढ़ें- ये 9 फूड कॉम्बिनेशन आपकी डाइट को बनाते हैं सुपर हेल्दी, Luke Coutinho से जानें इनके फायदे 

ब्लोटिंग या पेट में गैस की समस्या को रखे दूर

जीरे से ब्लोटिंग और पेट की समस्या को दूर किया जा सकता है। बता दें कि ब्लोटिंग की समस्या से पी.एम.एस, आईबीएस, अपच आदि समस्या पैदा कर सकती है। सबसे पहले एक कप पानी में उसमें एक चुटकी जीरा, सौंफ के बीज, अदरक का पाउडर, समुद्री नमक मिलाएं और 5 मिनट को इसे उबालें। अब इसका सेवन करें। समस्या दूर हो जाएगी।

एनीमिया को दी मात

किसी व्यक्ति को एनीमिया में तब होता है जब शरीर में लौह की कमी हो जाती है। ऐसे में अगर आप एक चम्मच जीरे के पाउडर का सेवन करते हैं तो आपके शरीर को 4 मिलीग्राम आयरन मिलता है। जीरे के अंदर पाए जाने वाला आयरन रेड ब्लड सेल्स को उत्तेजित करता है और थकावट को दूर करता है। ऐसे में आप अपने दैनिक आहार में जीरा का सेवन करें। इससे थकान, चिंता, एनीमिया, आयरन की कमी आदि की समस्या दूर हो जाएगी।

पाचन क्रिया को करें उत्तेजित

पाचन क्रिया को दुरुस्त रखने और दस्त, पेट फूलना, अपच, पेट में दर्द आदि समस्याओं को दूर रखने के लिए जीरे का उपयोग आयुर्वेद में औषधि के रूप में किया जाता है। यह पेट की अम्लता को भी दूर करता है। ऐसे में आप एक गिलास पानी में भुना हुआ जीरा मिलाकर दिन में एक या दो बार सेवन करें। इसके अलावा आप एक गिलास पानी में जीरे का पाउडर और काली मिर्च मिलाकर सेवन कर सकते हैं ऐसा करने से पाचन क्रिया होगी।

स्मरण शक्ति को बढ़ाएं

जीरे के अंदर एंटी ऑक्सीडेंट एवं एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। इनके सेवन से स्मरण शक्ति तेज होती है साथ ही एकाग्रता में भी सुधार आता है। यह अल्जाइमर के साथ-साथ उम्र के साथ याददाश्त के कमजोर होने की समस्याओं के लिए भी सफल उपचार है। इसके अंदर पाए जाने वाले विटामिन बी नसों को उत्तेजित करते हैं। साथ ही ये दिमाग की कार्य क्षमता में सुधार लाते हैं । इसके लिए आप नियमित रूप से भुना हुआ जीरे को चबाएं। ऐसा करने से याददाश्त तेज होती है।

मधुमेह को नियंत्रित करें

ध्यान दें कि जीरे के अंदर मधुमेह विरोधी गुण मौजूद होते हैं। साथ ही इसके सेवन से हाइपोग्लाइसीमिया और ग्लूकोसुरिया जैसी समस्याएं भी दूर हो सकती हैं। ऐसे में जीरो को भूनकर और आधा चम्मच पानी के साथ खाएं ध्यान रखें कि अगर आपने किसी भी प्रकार की सर्जरी कराई है तो जीरे का सेवन 2 हफ्ते पहले से ही बंद कर दें।

हड्डियों की मजबूती

जीरे के अंदर विटामिन b12, कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम आदि पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जिससे हड्डियों को मजबूत बनाया जा सकता है। साथ ही इसके सेवन से ओस्टियोपोरोसिस का खतरा कम हो जाता है। अगर आप अपनी हड्डियों को मजबूत बनाना चाहते हैं तो नियमित रूप से जीरे का सेवन करें।

अनिद्रा की समस्या को करें दूर

यदि आपको नींद ना आने की परेशानी है तो बता दें कि जीरे में मेलाटोनिन पाया जाता है। जो अनिद्रा से लड़ने में बेहद कारगर है। मेलाटोनिन हार्मोन होता है जिससे नींद आती है। ऐसे में आप केले को मसलकर उसमें एक चम्मच जीरा मिलाएं और सोने से पहले खाएं। ऐसा करने से नींद ना आने की समस्या दूर हो जाएगी।

जीरे से होने वाले नुकसान (cumin side effects)

जीरे के नुकसान निम्न प्रकार हैं-

1- अगर जीरे का अधिक सेवन किया जाए तो उसे पाचन संबंधित समस्याएं हो सकती हैं। साथ ही ये हार्टबर्न का कारण भी बन सकता है।

2- इसके अधिक सेवन से डकार ज्यादा आने लगती है।

3- गर्भवती महिलाओं को जीरा का सेवन सीमित मात्रा में करना चाहिए। इसके अलावा डॉक्टर की सलाह पर इसका सेवन करना चाहिए।

(ये लेख महर्षि आयुर्वेद के चिकित्सा अधीक्षक के डॉक्टर सौरभ शर्मा द्वारा दिए गए इनपुट्स के आधार पर बनाया गया है।)

Read More Articles on healthy diet in hindi

Disclaimer