वजन घटाने के लिए जरूरी है विटामिन-डी की अच्छी खुराक, जानें बैली फैट और विटामिन-डी के बीच का संबंध

विटामिन डी की कमी को पारंपरिक रूप से हड्डी और श्वसन पथ के संक्रमण से जुड़ा हुआ है। पर शोध बताता है कि बैली फैट घटाने के लिए भी ये जरूरी है।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Jun 29, 2020Updated at: Jun 29, 2020
वजन घटाने के लिए जरूरी है विटामिन-डी की अच्छी खुराक, जानें बैली फैट और विटामिन-डी के बीच का संबंध

विटामिन डी की कमी को हम लोग अक्सर हड्डियों के कमजोर होने और मौसमी बीमारियों से जोड़कर देखते हैं। पर विटामिन डी हमारे शरीर के लिए इससे कहीं और ज्यादा काम करता है। ये दिल की विफलता, मधुमेह और कैंसर से बचा सकता है और विटामिन डी की कमी से बाल झड़ने लगते हैं। पर हाल में आए एक अध्ययन की मानें, तो ये वजन घटाने के लिए भी बेहद जरूरी है। संयुक्त राज्य अमेरिका की 40 प्रतिशत से अधिक आबादी में विटामिन डी की कमी है, यह एक गंभीर मुद्दा है। मोटापा और विटामिन डी की कमी के बीच एक लिंक पहले देखा गया है। दरअसल विटामिन-डी वसा के प्रकार और उसके पाचन में एक भूमिका निभाता है। तो आइए जानते हैं बैली फैट और विटामिन-डी के बीच का संबंध।

insidebellyfat

क्या कहता है शोध?

नीदरलैंड्स एपिडेमियोलॉजी ऑफ ओबेसिटी अध्ययन में वजन घटाने और विटामिन-डी के बीच संबंधों का अध्ययन किया गया।न्यूट्रिशन जर्नल में प्रकाशित एक अन्य शोध में पाया गया कि विटामिन डी के सेवन के बढ़ने से अध्ययन के प्रतिभागियों के शरीर के वसा प्रतिशत में कमी आई है। यह ज्यादातर इसलिए होता है क्योंकि विटामिन डी शरीर में वसा के भंडारण और उत्पादन को प्रभावित करता है। यह आपके शरीर में अन्य हार्मोन जैसे टेस्टोस्टेरोन और न्यूरोट्रांसमीटर (सेरोटोनिन) को प्रभावित करता है, जो वजन घटाने में मदद करता है।

शोध में पाया गया है कि महिलाओं में, पेट की चर्बी दोनों ही विटामिन डी के निम्न स्तर से जुड़ी थीं, जिसका पेट की चर्बी पर सबसे अधिक प्रभाव पड़ा। पुरुषों में, हालांकि, निचले विटामिन डी का स्तर लिवर और पेट में वसा के साथ काफी जुड़ा हुआ था।पेट की चर्बी बढ़ने और विटामिन डी के निचले स्तर के बीच मजबूत संबंध बताते हैं कि बड़ी कमर वाले व्यक्तियों में विटामिन डी की कमी के विकास का अधिक खतरा होता है और उन्हें अपने विटामिन डी के स्तर की जांच करवाने पर विचार करना चाहिए। उसका अगला कदम यह समझना है कि यह संबंध क्यों है। क्या विटामिन डी की कमी से पेट क्षेत्र में वसा जमा हो जाती है, या पेट की वसा विटामिन डी के स्तर में कमी आती है?

इसे भी पढ़ें : मूंग,मसूर और अरहर दाल कम करेगी शर्ट से बाहर झांकती हुई तोंद, मोटे लोग जानें कैसे ये दाल आपके लिए हैं चमत्कारी

विटामिन-डी शरीर से कैसे कम हो सकता है बैली फैट

दरअसल विटामिन-डी टेस्टोस्टेरोन को संचालित करता है और शरीर में वसा को कम करने और चयापचय को बढ़ावा देता। साथ ही ये नई वसा कोशिकाओं के गठन को अवरुद्ध करके वजन घटाने को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है। सेरोटोनिन आपकी नींद के पैटर्न को नियमित करने के साथ-साथ लंबे समय तक तृप्त महसूस करके आपकी भूख और कैलोरी की मात्रा को कम कर सकता है। इसलिए अगर आप विटामिन-डी से भरपूर डाइट लें, तो आप आसानी से अपना वजन कम कर सकते हैं।

विटामिन डी की कमी कैसे होती है

विटामिन डी की कमी को कई कारकों के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। विटामिन डी के बहुत से खाद्य स्रोत नहीं हैं और भले ही 15-20 मिनट की धूप लेना आपके विटामिन डी की आवश्यकताओं को पूरा कर सकता है पर सूरज की हानिकारक यूवी किरणों त्वचा के लिए अच्छा नहीं है। वहीं अन्य कारकों पर ध्यान दें, तो

  • -बदलती जीवनशैली, जिसमें अजीब काम के घंटे शामिल होना
  • -धूप की कमी
  • -खानपान में कमी
insidesourceofvitamind

इसे भी पढ़ें : योग और डाइट की मदद से नहीं घट रहा है आपका वजन? अपनाएं 'Russian twist' वेट लॉस एक्सरसाइज

डाइट में शामिल करें विटामिन-डी से भरपूर ये चीजें

पर्याप्त धूप लेना शरीर को पर्याप्त विटामिन डी का उत्पादन करने में मदद करने का सबसे अच्छा तरीका है। इसके अलावा विटामिन डी से भरपूर इन खाद्य स्रोतों को आप खान-पान में शामिल कर सकते हैं :

  • -वसायुक्त मछली, जैसे सैल्मन, मैकेरल, और टूना
  • -अंडे 
  • -पनीर
  • -मशरूम
  • -पाश्चराइज्ड दूध
  • -अनाज और जूस

Read more articles on Weight-Management in Hindi

Disclaimer