यूपी, महाराष्‍ट्र और चंडीगढ़ में मास्‍क पहनना हुआ जरूरी, क्‍या मास्‍क से रूकेगा कोरोना वायरस?

Coronavirus : कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार को देखते हुए यूपी, महाराष्‍ट्र और चंडीगढ़ सार्वजनिक स्‍थानों पर मास्‍क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Apr 08, 2020
यूपी, महाराष्‍ट्र और चंडीगढ़ में मास्‍क पहनना हुआ जरूरी, क्‍या मास्‍क से रूकेगा कोरोना वायरस?

भारत में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्‍या में दिन प्रतिदिन इजाफा होता दिखाई दे रहा है। बुधवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक, देश में कोरोना पॉजिटिव मामले 5 हजार का आंकड़ा पार कर चुके हैं। जिसके चलते देश के सभी राज्‍य चौकन्‍ना हो गए हैं। महाराष्‍ट्र में संक्रमितों की संख्‍या सबसे अधिक है तो वहीं तमिलनाडु और दिल्‍ली कोविड-19 संक्रमितों के मामले में क्रमश: दूसरे व तीसरे स्‍थान पर हैं। बाकी राज्‍यों में भी स्थिति सामान्‍य नहीं है, जिसके चलते अब राज्‍य सरकारें भी कड़े कदम उठा रही हैं। बुधवार को महाराष्‍ट्र, चंडीगढ़ और उत्‍तर प्रदेश में मास्‍क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है।

मुंबई में मास्‍क पहनना जरूरी उलंघन करने पर कार्रवाई

बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने बुधवार से मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है। निगम ने कोरोना के फैलने के कारणों पर लगाम लगाने के उद्देश्‍य से मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है। इसके तहत घर पर बने मास्क को भी अनुमति दी जाएगी। नियम का उल्लंघन करने वालों को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 188 के तहत दंडित किया जाएगा। 

मुंबई के नगर आयुक्त प्रवीण परदेशी ने जारी एक आदेश में कहा, सभी व्यक्ति किसी कारण से सार्वजनिक स्थान पर जैसे सड़क, अस्पताल, कार्यालय, बाजारों में हैं उन्‍हें अनिवार्य रूप से मास्क पहनना होगा। घर का बना कपड़े का मास्‍क भी पहना जा सकता है।

mask

चंडीगढ़ में भी मास्‍क अनिवार्य

चंडीगढ़ प्रशासन ने कोरोन वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है। चंडीगढ़ के एडवाइजर मनोज परिडा ने कहा, "हमने चंडीगढ़ के लोगों के लिए बुधवार से मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है।" 

उन्होंने कहा कि आदेश की धज्जियां उड़ाने वाले को पुलिस द्वारा चेतावनी दी जाएगी। हालांकि, उल्लंघनकर्ताओं पर जुर्माना लगाने के संबंध में निर्णय लिया जाना बाकी है। उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ पहला केंद्र शासित प्रदेश (यूटी) होगा जिसने मास्‍क पहनना अनिवार्य कर दिया है।

इसे भी पढ़ें: 4 चरणों में फैलता है कोरोना वायरस, चौथा चरण है सबसे भयावह, जानें भारत किस स्‍टेज में है?

यूपी में भी सार्वजनिक स्‍थानों पर मास्‍क पहनने के आदेश

उत्‍तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने लखनऊ में प्रेसवार्ता कर प्रदेश में कोरोना वायरस की स्थिति की जानकारी दी। इस दौरान उन्‍होंने कहा, राज्य में सार्वजनिक स्‍थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। मास्क न पहनने पर कानूनी कार्रवाई भी हो सकती है। हालांकि, किन धाराओं में सजा होगी इसकी पुष्टि नही की गई है।

mask

इसे भी पढ़ें: संक्रमण को रोकने के लिए 70% तक प्रभावी हैं घर के बने मास्‍क, जानें बनाने का तरीका

क्‍या मास्‍क रोकेगा कोरोना वायरस: Will Coronavirus Stop From Mask?

मास्‍क पहनने को लेकर विशेषज्ञों की अलग-अलग राय है। कुछ लोगों को मानना है कि सिर्फ मास्‍क पहनने से कोरोना वायरस के संक्रमण को नहीं रोका जा सकता है, जबकि कुछ का मत है कि मास्‍क को प्रॉपर तरीका से पहना जाए तो काफी हद तक इस पर काबू पाया जा सकता है।

इस बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के सलाहकार, डेविड हेमैन सीबीई कहना है "मुझे लगता है कि मास्क पहनना प्रभावी है या सोशल डिस्‍टेंसिंग से भी ज्‍यादा प्रभावी है।"

वहीं, यूनिवर्सिटी ऑफ सैन फ्रांसिस्को के वैज्ञानिक जेरेमी हॉवर्ड ने 28 मार्च को द वॉशिंगटन पोस्ट में लिखा था कि कोरोना वायरस पर सरल, घर का बना मास्क भी प्रभावी हो सकता है, जैसा कि एशियाई देशों में प्रदर्शित किया जाता है जहां वायरस के प्रसार को कम किया गया है।

एक शोध के अनुसार, बिना मास्क वाले लोग दूसरों को आसानी से संक्रमित करते हैं या खुद संक्रमित हो जाते हैं।

Imputs: cleveland, theguardian

Read More Health News In Hindi

Disclaimer