तरबूज ही नहीं इस सड़ी गर्मी में ये 6 फूड आपको देंगे तरबूज जैसी ताजगी और स्वाद, विटामिन सी के साथ मिलेगी ठंडक

अगर आप गर्मियों में ठंडक के लिए सिर्फ तरबूज खाते हैं तो जरा रुकिए ये 6 फूड भी आपको देंगे ठंडक और स्वाद। 

 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: May 28, 2020Updated at: May 28, 2020
तरबूज ही नहीं इस सड़ी गर्मी में ये 6 फूड आपको देंगे तरबूज जैसी ताजगी और स्वाद, विटामिन सी के साथ मिलेगी ठंडक

देश भर के अलग-अलग राज्यों में पारा 40 के पार पहुंच गया है और गर्मी ने अपना कहर दिखाना शुरू कर दिया है। गर्म मौसम और लू ने लोगों की स्किन को जलाना शुरू कर दिया है और बढ़ते तापमान को देख भारतीय मौसम विभाग ने देश में कई राज्यों में रेड अलर्ट भी जारी कर दिया है। मौसम विभाग ने लोगों को ऐसी गर्मी से बचने के लिए घर पर ही रहने की सलाह दी है। जी हां, कोरोनोवायरस महामारी के अलावा लोगों को अपने स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए घर के अंदर रहने की सख्त जरूरत है। हालांकि हम जलवायु परिस्थितियों की भविष्यवाणी या मौसम में किसी प्रकार का परिवर्तन तो नहीं कर सकते हैं लेकिन अपनी डाइट और जीवनशैली में कुछ बदलाव कर हीटवेव से जुड़े स्वास्थ्य जोखिमों को कम कर सकते हैं। इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में बता रहे हैं, जो हीटवेव से लड़ने में आपके लिए बहुत आवश्यक हो सकते हैं।  तो आइए जानते हैं कौन से फूड आपको गर्मी से राहत दे सकते हैं।   

tomato

टमाटर 

आपको यह जानकर हैरानी हो सकती है लेकिन टमाटर, जिसे हम इतनी आसानी से अपने रोजमर्रा के व्यंजनों और करी में इस्तेमाल करते हैं वो भी एक गर्मी से राहत देने का काम करता है। टमाटर हमारे शरीर को हाइड्रेट करता है  (इनमें 92-94% पानी की मात्रा होती है) और इसमें लाइकोपीन, विटामिन सी की बहुत अधिक मात्रा पाई जाती है। टमाटर शरीर में सूजन-रोधी यौगिकों की आपूर्ति करता है, जो हीटस्ट्रोक से होने वाली किसी भी तरह की सूजन, जलन या स्वास्थ्य जोखिमों को कम करता है।   

खीरा  

खीरे गर्मियों में खाया जाने वाला एक ऐसा फूड है, जो आपको गर्मी से राहत प्रदान कर सकता है। क्या आप जानते हैं खीरा हीटवेव को हरा देने के लिए सबसे अच्छे व सस्ते उपलब्ध विकल्पों में से एक हैं। खीरे में बहुत सारी पानी की मात्रा होती है, साथ ही इसमें विटामिन ए, बी और के, फोलेट जैसे पोषक तत्व होते हैं और इसमें बहुत कम कैलोरी (ग्लू-फ्री स्नैक) होती है, जो इसे सुपर हेल्दी बनाते हैं। इसके प्राकृतिक ठंडे गुण आपको ठंडक देते हैं और इस सस्ती सी हरी सब्जी के सेवन से आप बढ़ती गर्मी में शांत रह सकते हैं। 

इसे भी पढ़ेंः Watermelon Seeds : तरबूज खाने के बाद थूकें नहीं इसके काले-काले बीज ! इन काले बीज के फायदे सुन उड़ जाएंगे होश

सौंफ के बीज           

सौंफ के बीज रसोई में पाए जाने वाली एक और सहायक सामग्री है, जिसका सेवन हमें गर्मियों के मौसम में करना चाहिए। यह न केवल हमारी आंत के लिए अच्छी होते हैं बल्कि सौंफ के बीज को पानी में रात भर भिगोने और सुबह उठकर पीने से आपका पेट भी ठंडा रहता है। कुछ अध्ययनों में यह भी कहा गया है कि ये मसाला कई तरह से आपकी मदद कर सकता है और यहां तक कि अगर आप नियमित रूप से इसका सेवन करेंगे तो गर्मी से जुड़े तनाव को कम कर सकते हैं। इसके लिए बस एक गिलास पानी में बीज भिगोएं और सुबह उठकर पी लें। ऐसा करने से आप तनाव  को कम कर सकते हैं।     

coconut 

नारियल पानी

नारियल पानी शरीर के लिए प्राकृतिक रूप से मीठा और इलेक्ट्रोलाइट से भरा पेय है। यह सुपर पौष्टिक भी है, जिसमें प्राकृतिक एंजाइमों, खनिजों और विटामिनों की अच्छाई होती है जो कि तेज गर्मी से राहत दे सकते हैं। यह शरीर में सोडियम और पोटेशियम के स्तर को बहाल करने या संतुलित करने में भी मदद करता है, जिससे डिहाइड्रेशन को दूर करने में मदद मिलती है। जब भी गर्मी में घर से बाहर हो तो नारियल पानी पीकर आप हीटवेव से बच सकते हैं।  

इसे भी पढ़ेंः  गेहूं आटे से सस्ता और असरदार है कच्चे केले का आटा, न्यूट्रिशिनिस्ट रूजेता दिवेकर से जानें आटा बनाने का तरीका

मिर्च                 

जब भी आप मिर्च की तरह कुछ मसालेदार चीज के बारे में सोचते हैं तो पहली बात क्या है जो आपके दिमाग में आती है ? क्या आप अपने मुंह में जलन और पसीने को लेकर चिंता करते हैं? अगर ऐसा है तो फिर से सोचें। कुछ मसाले वास्तव में गर्मी को मात देने में मदद कर सकते हैं। मिर्च और लाल मिर्च में एक आवश्यक सक्रिय घटक होता है, कैप्सीकन, जो आपके शरीर के लिए एक प्राकृतिक उत्प्रेरक के रूप में कार्य करता है। यह शरीर के अंदरूनी तापमान को बढ़ाता है ताकि बाहर के तापमान से मेल खा सके, जिससे पसीना आ जाता है और आपका शरीर वास्तव में ठंडा हो जाता है। 

दही

दही एक बेहतरीन कूलिंग एजेंट है,, जिसे आप अपनी हर डाइट में शामिल कर सकते हैं और भारतीय होने के नाते हमारे पास इसका सेवन करने के कई तरीके हैं फिर चाहे वह छाछ हो, रायता, चाट, लस्सी या फिर भी दही से बनी करी। एक अच्छा प्रोबायोटिक होने के कारण से दही का नियमित सेवन यह सुनिश्चित करता है कि आपका पाचन दुरुस्त रहे और आप किसी भी गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल परेशानी का शिकार न हो। इतना ही नहीं ये पेट की गर्मी को भी दूर करने में मदद करता है, जिसके कारण कई समस्याएं होती हैं।   

Read More Articles On Healthy Diet In Hindi 

Disclaimer