डाइट के इन 3 नियमों का पालन करते हैं बॉडीबिल्‍डर

बॉडीबिल्‍डर के जैसी फिटनेस पाना असंभव काम नहीं है, इसके लिए नियमित वर्कआउट के साथ खानपान का विशेष ध्‍यान रखना पड़ता है, बॉडीबिल्‍डर भी डायट से जुड़े क

सम्‍पादकीय विभाग
एक्सरसाइज और फिटनेसWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Mar 17, 2015
डाइट के इन 3 नियमों का पालन करते हैं बॉडीबिल्‍डर

बॉडीबिल्‍डर शब्‍द सुनते ही फिट और बीमारीमुक्‍त शरीर की छवि दिमाग में आती है, और हम भी उनके जैसी फिटनेस पाने की चाहत रखते हैं। लेकिन बॉडीबिल्‍डर बनना न तो आसान काम है और न ही इसे बनाये रखना आसान है। इसके पीछे जिम में घंटो पसीना बहाना जरूरी है साथ ही खानपान पर विशेष ध्‍यान देना भी जरूरी है। बॉडीबिल्‍डर के डायट में मांसपेशियों को मजबूती प्रदान करने वाले सभी विटामिन और प्रोटीन मौजूद होते हैं। बॉडीबिल्‍डर डायट के कुछ नियमों का पालन भी करते हैं। इस लेख में विस्‍तार से जानिये कि बॉडीबिल्‍डर डायट के किन-किन नियमों का पालन करते हैं।
diet rules in Hindi

ब्रेकफास्‍ट कभी न छोडना

सुबह का नाश्‍ता सभी के लिए बहुत जरूरी है और इसे बिलकुल नहीं छोड़ना चाहिए। बॉडीबिल्‍डर भी सुबह का नाश्‍ता यानी ब्रेकफास्‍ट कभी नहीं छोड़ते हैं। इंटरनेशनल सोशायटी ऑफ न्‍यूट्रीशंस की मानें तो सुबह हेल्‍दी ब्रेकफास्‍ट करने से मांसपेशियों का विकास तो होता ही साथ ही यह मांसपेशियों को मजबूत भी बनाता है। इसके अलावा यह पूरे शरीर के साथ दिमाग को भी पूरे दिन सक्रिय रखने में मदद करता है। इसलिए बॉडीबिल्‍डर सुबह वक्‍त नाश्‍ता करना कभी नहीं भूलते हैं।

इसे भी पढ़ें- बॉडी बिल्डिंग के शुरुआती टिप्‍स

प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट

बॉडीबिल्‍डर सुबह के वक्‍त वर्कआउट के बाद प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट का सेवन करते हैं। वे ऐसा प्रत्‍येक वर्कआउट सेशन के समाप्‍त होने के बाद करते हैं। व्‍यायाम के बाद मांसपेशियों को दुरुस्‍त रखने के लिए ग्‍लूकोज और एमिनो एसिड की जरूरत होती है। यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्‍सॉस की मेडिकल ब्रांच द्वारा किये गये शोध में यह बात सामने आयी है कि, व्‍यायाम के बाद मांसपेशियों के विकास के लिए 6 ग्राम एमिनो एसिड की जरूरत होती है, या 12 आउंस दूध का सेवन करना फायदेमंद होता है। कार्बोहाइड्रेट की कमी पूरा करने के लिए चॉकलेट दूध का सेवन कीजिए, इससे मांसपेशियां अधिक मजबूत होती हैं।

bodybuilder diet in Hindi
क्रीएटिन का सेवन

बॉडीबिल्‍डर मांसपेशियों को मजबूत बनाने और उनके बेहतर विकास के लिए रोज क्रीएटिन का सेवन करते हैं। यूनिवर्सिटी ऑफ हवाई के वैज्ञानिकों द्वारा किये गये शोध की मानें तो क्रिएटिन का सेवन करने से मांसपेशियों के साथ शरीर की क्षमता और ऊर्जा का स्‍तर भी बढ़ता है, इसके कारण व्‍यायाम करने में आलस भी नहीं आता है। लेकिन अगर इसकी अधिक मात्रा का सेवन किया जाये तो इसके साइड-इफेक्‍ट भी हो सकते हैं। इसलिए हर रोज 5 ग्राम से अधिक सेवन न करें।

अगर आप भी अपनी बॉडी को बॉ‍डीबिल्‍डर की तरह बनाना चाहते हैं, तो आहार के इन नियमों का पालन करें और खुद को फिट रखें।

 

Image Source - Getty Images

Read More Articles on Sports and Fitness in Hindi

Disclaimer