कोरोना के दौरान अनियमित पीरियड्स, हैवी ब्लीडिंग, और थकान की समस्या को न करें नजरअंदाज, डॉक्टर से जानें कारण

क्‍या आपको भी कोव‍िड महामारी में अन‍ियम‍ित पीर‍ियड्स और ब्‍लड क्‍लॉट की समस्‍या हो रही है तो एक्‍सपर्ट से जानें क्‍या है इस समस्‍या का कारण और उपाय

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: May 04, 2021 11:26 IST
कोरोना के दौरान अनियमित पीरियड्स, हैवी ब्लीडिंग, और थकान की समस्या को न करें नजरअंदाज, डॉक्टर से जानें कारण

क्‍या कोव‍िड का असर मह‍िलाओं में पीर‍ियड्स पर पड़ रहा है? कोरोना के चलते स्‍ट्रेस बढ़ रहा है और रिकवरी का असर लोगों के मान‍ स‍िक और शारीर‍िक स्‍वास्‍थ्‍य पर पड़ रहा है। कुछ मह‍िलाओं ने कोरोना काल में और कोव‍िड र‍िकवरी के बाद पीर‍ियड्स में अन‍ियम‍ितता, ब्‍लड क्‍लॉट, हैवी ब्‍लीड‍िंग, स्‍पॉट‍िंग की श‍िकायत की। कोव‍िड के चलते इंटेस्‍टाइन, क‍िडनी, ब्‍लड प्रेशर पर असर होता है ज‍िसके चलते मह‍िलाओं में ये समस्‍या हो सकती है हालांक‍ि कोव‍िड का सीधा असर पीर‍ियड्स पर नहीं होता पर कोव‍िड के दौरान स्‍ट्रेस लेने से, रूटीन में बदलाव आने से, मोटापा बढ़ने से भी पीर‍ियड्स में अन‍ियम‍ितता हो सकती है। कोई भी वायरस पीर‍ियड्स पर सीधे असर नहीं डालता पर बाक‍ि ऑर्गन पर पड़ने वाले असर से पीर‍ियड्स में बदलाव आ सकता है। ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ में स्‍थ‍ित क‍िंग जोर्ज मेड‍िकल यून‍िवर्स‍िटी में प्रोफेसर, लखनऊ ओबीजी सोसाइटी की सेक्रेटरी और गाइनोकॉलोज‍िस्‍ट डॉ न‍िशा स‍िंह से बात की। 

periods and corona

क्‍या कोव‍िड पॉज‍िट‍िव होने पर अन‍ियम‍ित हो सकते हैं पीर‍ियड्स? (Corona may cause irregular periods)

हां अगर आपको कोव‍िड हुआ है तो पीर‍ियड्स पर इसका असर पड़ सकता है। अगर आपको कोव‍िड हुआ है तो आपकी बॉडी र‍िकवरी स्‍टेज या इंफेक्‍शन के दौरान, पीर‍ियड्स में अन‍ियम‍ितता ला सकती है। ऐसा इसल‍िए होता है क्‍योंक‍ि स्‍ट्रेस से इन्‍सुलीन का इंबैलेंस बढ़ जाता है। इन्‍सुलीन का इंबैलेंस बढ़ने से लेपट‍िन हॉर्मोन न‍िकलता है ज‍िसके चलते ज‍िन मह‍िलाओं के पीर‍ियड्स 30 द‍िन के अंदर आते होंगे वो 7 से 8 द‍िन देरी से आ सकते हैं। अगर आपके पीर‍ियड्स एक सा दो बार देरी से आए हैं तो घबराने की जरूरत नहीं है, ऐसा हॉर्मोनल चेंज या कोव‍िड के दौरान स्‍ट्रेस लेने से हो सकता है। डॉ न‍िशा ने बताया क‍ि इन सब समस्‍याओं से बचने के ल‍िए सबसे पहले तो आपको स्‍ट्रेस कम करना होगा। अभी की स्‍थ‍ित‍ि में सभी परेशान है पर आपको हेल्‍दी डाइट, अच्‍छी नींद, फ‍िक्‍स रूटीन, और खुश रहने की जरूरत है। ब‍िना वजह डरना या स्‍ट्रेस लेना आपकी सेहत ब‍िगाड़ सकता है। 

कोव‍िड के चलते पीर‍ियड्स में गड़बड़ी के क्‍या कारण हो सकते हैं? (How Corona is affecting menstrual cycle in women) 

irregular periods causes

  • कोरोना काल में एंग्‍जाइटी के चलते हॉर्मोनल इंबैलेंस, पीर‍ियड्स में गड़बड़ी का सबसे बड़ा कारण है। 
  • कोव‍िड के चलते ज्‍यादातर मह‍िलाएं घर से काम कर रही हैं, ऐसे में फ‍िजि‍कल एक्‍टीव‍िटी बहुत कम हो गई है, मोटापा बढ़ने पर ल‍िप‍िड प्रोफाइल पीर‍ियड्स पर असर डालती है इसल‍िए भी पीर‍ियड्स में गड़बड़ी हो सकती है। 
  • कोव‍िड के लोग घरों में हैं, ऐसे में स्‍लीप‍िंग पैटर्न बुरी तरह से प्रभाव‍ित हुआ है ज‍िसका असर पीर‍ियड्स पर भी आता है, ये भी एक कारण हो सकता है। 
  • कोव‍िड के चलते रूटीन बदला है, खाने का समय बदला है, ईट‍िंग पैटर्न बदलने से भी पीर‍ियड्स में अन‍ियम‍ितता क‍ी श‍िकायत मह‍िलाओं को होने लगती है। 
  • कोव‍िड के समय स्‍ट्रेस सबसे बड़ा कारण है पीर‍ियड्स साइक‍िल खराब होने का, हर द‍िन बुरी खबरों के बीच रहने का असर द‍िमाग और हॉर्मोन्‍स पर पड़ता है। 

इसे भी पढ़ें- पीरियड्स के बाद या पहले ब्लीडिंग होना नहीं है नॉर्मल, जानें इस समस्या से जुड़े 7 बड़े कारण

पीर‍ियड्स में गड़बड़ी के अन्‍य कारण (Other reasons for irregular periods or unusal bleeding)

आपको अपने डॉक्‍टर को पीरियड्स में अन‍ियम‍ितता को लेकर बताना होगा। ऐसा भी हो सकता है क‍ि किसी और कारण से आपके पीर‍ियड्य में गड़बड़ी हो रही हो। डॉक्‍टर ब्‍लड टेस्‍ट या अल्‍ट्रासाउंड से इसका पता लगाते हैं। कोरोना के असर के अलावा कुछ और कारण भी हो सकते हैं जैसे- 

  • 1. प्रेगनेंसी
  • 2. थायराइड 
  • 3. डायब‍िटीज 
  • 4. एनीमि‍या 
  • 5. सर्वाइकल कैंसर
  • 6. प्रीमेच्‍योर मेनोपॉज
  • 7. म‍िसकैरेज 
  • 8. पॉलीप्स या सिस्‍ट 

कोरोना काल में अन‍ियम‍ित पीर‍ियड्स और ब्‍लड क्‍लॉट से कैसे बचें? (Prevention tips for irregular periods, spooting during COVID)

periods treatment

कोरोना के दौरान आपको भी अपनी पीर‍ियड्स की तारीख में कुछ गड़बड़ी लग रही है या हल्‍की ब्‍लीड‍िंग की समस्‍या है तो इन उपायों को जरूर अपनाएं- 

1. कसरत को ब‍िल्‍कुल न छोड़ें (Exercise)

आपको हर द‍िन कसरत करनी ही है। पीर‍ियड्स की अन‍ियम‍ितता का कारण स्‍ट्रेस भी हो सकता है इसल‍िए उसे कम करने के ल‍िए आपको हर द‍िन कम से कम 40 म‍िनट वॉक और कसरत करनी चाह‍िए। कसरत के अलावा आप योगा भी कर सकती हैं। बटरफ्लाई पोज इस समस्‍या के ल‍िए अच्‍छा माना जाता है आपको योग, ब्रीथ‍िंग एक्‍सरसाइज आद‍ि को अपनी द‍िनचर्या में शाम‍िल करना चाह‍िए।

2. न्‍यूट्र‍िशन पर ध्‍यान दें (Nutrition)

आपको अपने न्‍यूट्रिशन पर ध्‍यान देना है। अनहेल्‍दी खाने से बचें। न्‍यूट्र‍िशन कम होने से आपको एनीम‍िया भी हो सकता है ज‍िससे ब्‍लीड‍िंग पैटर्न इफेक्‍ट होते हैं। आपको आयरन और कैल्‍श‍ियम र‍िच डाइट लेनी चाह‍िए। इसके साथ ही फाइबर को अपनी डाइट में शाम‍िल करें। हर द‍िन मुट्ठी भर ड्राय फ्रूट्स का सेवन करें। प्रोबायोट‍िक्‍स जैसे दही, छाछ को भी अपनी डाइट में शामिल करें और खाने का समय फ‍िक्‍स करें। 

3. स्‍ट्रेस कम करें, पॉज‍िट‍िव सोचें (Stay Positive)

स्‍ट्रेस का असर पीर‍ियड्स पर पड़ता है, इस समय कोव‍िड के चलते हर कोई स्‍ट्रेस में है पर मह‍िला होने के नाते आपको अपनी बॉडी का खास ख्‍याल रखने की जरूरत है। स्‍ट्रेस ब‍िल्‍कुल न लें क्‍योंक‍ि इससे पीर‍ियड्स में गैप, पीर‍ियड्स न आना आद‍ि जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं। इसके साथ ही आपको खुद को पॉज‍िट‍िव रखने की जरूरत है। मानस‍िक स्‍वास्‍थ्‍य को बेहतर रखने के ल‍िए नेगेट‍िव बातों से खुद को दूर रखें। 

इसे भी पढ़ें- 17 साल की लड़की का निकाला गया 4 साल पुराना ओवेरियन ट्यूमर, जानें ओवेरियन ट्यूमर के लक्षण, कारण और इलाज

4. मेड‍िट‍ेशन से म‍िलेगी मदद (Meditation)

अगर आप मेड‍िटेट नहीं करती हैं तो इसे अपनाकर देखें आपको कुछ ही द‍िनों में फर्क महसूस होगा। इससे स्‍ट्रेस तो कम होता ही है साथ ही मेड‍िटेशन द‍िमाग को शांत करता है। क‍िसी खुली और शांत जगह पर बैठकर आपको सुबह और शाम मेड‍िटेशन करना चाह‍िए। इससे पीर‍ियड्स के दौरान होने वाली समस्‍या से भी आपको न‍िजात म‍िल सकता है। 

5. चेकअप करवाएं (Checkups)

अगर लगातार पीर‍ियड्स की समस्‍या कई महीनों से बनी हुई है तो डॉक्‍टर के पास जाएं वो आपको लोअर एब्‍डॉम‍िन एक्‍स-रे, ब्‍लड टेस्‍ट, थॉयराइड टेस्‍ट आद‍ि के ल‍िए कह सकते हैं। इन टेस्‍ट से पता चलेगा क‍ि आपको कहीं क‍िसी अन्‍य बीमारी के कारण तो समस्‍या नहीं हो रही है। 

आपको पीरियड्स में अन‍ियम‍ितता को नजरअंदाज ब‍िल्‍कुल नहीं करना है अगर आपको हैवी ब्‍लीड‍िंग, स्‍पॉट‍िंग या थकान हो रही है तो डॉक्‍टर से सलाह लेने में देरी ब‍िल्‍कुल भी न करें। 

Read more on Women Health in Hindi 

Disclaimer