Doctor Verified

प्रेगनेंसी के दौरान किसी तरह की गड़बड़ी होने पर शरीर देता है ये 6 संकेत, डॉक्टर से जानें इनके बारे में

Unhealthy Pregnancy Symptoms: जब गर्भावस्था के दौरान कुछ गड़बड़ी चल रही होती है, तो भी कुछ लक्षण नजर आ सकते हैं। 

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Mar 30, 2022Updated at: Mar 30, 2022
प्रेगनेंसी के दौरान किसी तरह की गड़बड़ी होने पर शरीर देता है ये 6 संकेत, डॉक्टर से जानें इनके बारे में

Unhealthy Pregnancy Symptoms in Hindi: मां बनना हर एक महिला के लिए सबसे खूबसूरत पल होता है। लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को कई मानसिक और शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। प्रेगनेंसी  (Pregnancy in Hindi) के दौरान महिलाओं के शरीर में कई तरह के भी बदलाव देखने को मिलते हैं। इनमें कई बदलाव पूरी तरह से सामान्य होते हैं, जबकि कुछ बदलाव ऐसे देखने को मिलते हैं जो अनहेल्दी गर्भावस्था की ओर संकेत देते हैं। वजाइनल डिस्चार्ज, मतली और लगातार पेट में दर्द होना अस्वस्थ गर्भावस्था के संकेत हो सकते हैं। चलिए कामिनेनी अस्पताल हैदराबाद, वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अर्चना दिनेश (Dr. Archana Dinesh, Senior Gynaecologist, Kamineni Hospitals Hyderabad) से विस्तार से जानते हैं Unhealthy Pregnancy में कौन-कौन से लक्षण नजर आ सकते हैं।

अनहेल्दी प्रेगनेंसी के लक्षण (Unhealthy Pregnancy Symptoms in Hindi)

रक्त स्त्राव, सिरदर्द के साथ सही से न दिखाई देना,  पेट में तेज दर्द, सांस लेने में कठिनाई और लंबे समय तक बुखार रहना अनहेल्दी प्रेगनेंसी के लक्षण हो सकते हैं। इसके अलावा उंगलियों, चेहरे और पैरों में सूजन होना भी Unhealthy Pregnancy के लक्षण हो सकते हैं।

unhealthy pregnancy

(image source: istockphoto.com)

1. रक्त स्त्राव होना (Bleeding Discharge in Pregnancy)

गर्भावस्था के दौरान हल्का रक्त स्त्राव होना सामान्य है। लेकिन अगर भारी रक्त स्त्राव (Bloody Discharge During Pregnancy) होता है, तो गर्भपात का जोखिम बढ़ जाता है। साथ ही रक्त स्त्राव एक्टोपिक गर्भावस्था का भी संकेत हो सकता है। इसके साथ ही पेट के निचले हिस्से में दर्द होना भी अनहेल्दी प्रेगनेंसी का लक्षण (Signs and Symptoms of Unhealthy Pregnancy) होता है। अगर आपको प्रेगनेंसी के दौरान हैवी ब्लीडिंग के साथ ऐंठन, पेट दर्द हो रहा है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। 

2. अत्यधिक मतली और उल्टी (Vomiting in Pregnancy)

पहली तिमाही के दौरान थोड़ा बहुत उल्टी होना सामान्य है, अधिकतर गर्भवती महिलाओं (Red Flags in Early Pregnancy) को इसका सामना करना पड़ता है। लेकिन अगर आपको बहुत मतली या उल्टी (Vomiting During Pregnancy) हो रहा है, तो इसे नजरअंदाज न करें। बार-बार उल्टी होना आपको डिहाइड्रेट कर सकता है। इस स्थिति में आपका वजन कम हो सकता है, चक्कर आ सकते हैं, साथ ही इलेक्ट्रोलाइट्स का भी असंतुलन हो सकता है। इस स्थिति में आपको अपनी डाइट का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है।

इसे भी पढ़ें - पीसीओएस (PCOS) होने पर ये 5 अंग होते हैं सबसे ज्यादा प्रभावित, जानें कैसे करें बचा

3. हाई फीवर (High Fever in Pregnancy)

गर्भावस्था के दौरान 101 डिग्री फ़ारेनहाइट या 38 डिग्री सेल्सियस से अधिक बुखार गंभीर हो सकता है। यह किसी संक्रमण का संकेत हो सकता है, जो बच्चे को भी प्रभावित कर सकता है। अगर बुखार के साथ ही जोड़ों में दर्द, त्वचा पर दाने भी होते हैं तो ये साइटोमेगालोवायरस (सीएमवी), टोक्सोप्लाज्मा और पैरोवायरस जैसे संक्रमण का संकेत हो सकते हैं।  सीएमवी जन्मजात बहरेपन का सबसे आम कारण है। इसलिए अगर आपको बुखार (High Fever During Pregnancy) के साथ जोड़ों में दर्द, चकत्ते, शरीर में दर्द भी हो तो डॉक्टर से जरूर कंसल्ट करें। 

unhealthy pregnancy

(image source: medicalnewstoday.com)

4. योनि स्त्राव और खुजली होना (Vaginal Itching During Pregnancy)

गर्भावस्था में योनि स्राव और खुजली (Vaginal Discharge During Pregnancy) होना सामान्य है। लेकिन कुछ मामलों में यह संक्रमण या यौन संचारित रोगों का संकेत हो सकता है। यह संक्रमण भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकता है। इस स्थिति में आपको डॉक्टर से जरूर मिलना चाहिए।  

5. पेशाब में दर्द और जलन (Urine Burning in Pregnancy)

कुछ महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान पेशाब में दर्द और जलन भी हो सकता है। ये मूत्राशय या मूत्र पथ के संक्रमण का संकेत (Urine Infection Symptoms in Hindi) हो सकते हैं। अगर इस संक्रमण का समय पर इलाज न किया जाए, तो यह समय से पहले प्रसव का कारण बन सकता है। पेशाब के दौरान दर्द और जलन (Irritation in Urine Area During Pregnancy) महसूस होने पर डॉक्टर से मिलें। अगर यह संक्रमण होता है, तो इसका समय पर इलाज करवाएं। इससे आपका गर्भावस्था पीरियड सुरक्षित रहेगा।

इसे भी पढ़ें - पीरियड्स के दौरान कब्ज के हो सकते हैं ये 5 कारण, डॉक्टर से जानें बचाव के उपाय

6. गंभीर सिरदर्द या एक तरफ सूजन होना (Headache in Pregnancy)

गर्भावस्था में रक्त के थक्के बनने की संभावना अधिक होती है। पिंडली में खून का थक्का बनना सूजन और दर्द का कारण बन सकता है। यह खून का थक्का फेफड़ों तक जा सकता है, जो घातक हो सकता है। मस्तिष्क में खून का थक्का गंभीर सिरदर्द से शुरू हो सकता है। गर्भावस्था के दौरान खराब सिरदर्द के अन्य संभावित कारण भी हो सकते हैं। अगर आपको गर्भावस्था के दौरान तेज सिरदर्द (Bad Headache Pregnancy Sign) होता है, तो डॉक्टर से संपर्क करें।

अगर गर्भावस्था के दौरान आपको भी बुखार, रक्त स्त्राव, पेशाब में दर्द या जलन, गंभीर सिरदर्द और बुखार जैसे लक्षण महसूस होते हैं। तो इन्हें बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें, ये अस्वस्थ गर्भावस्था का संकेत (Unhealthy Pregnancy Symptoms in Hindi) हो सकते हैं। जो बच्चे को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए ये लक्षण नजर आने पर तुंरत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। 

(main image source: parents.com)

Disclaimer