दांतों में झनझनाहट और ठंडा-गर्म पानी लगना है सेंसिटिविटी का लक्षण, जानें ये समस्या क्यों होती है और इसका इलाज

दांतों में सेंसिटिविटी होने के कई कारण हो सकते हैं। इसके कारण दांतों में काफी तेज दर्द और झनझनाहट महसूस होती है। आइए विस्तार से जानते हैं इस बारे में-

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Feb 10, 2021
दांतों में झनझनाहट और ठंडा-गर्म पानी लगना है सेंसिटिविटी का लक्षण, जानें ये समस्या क्यों होती है और इसका इलाज

सेंसिटिविटी नाम सुनते ही सबसे पहले हम स्किन के बारे में सोचने लगते हैं। लेकिन दांतों में भी सेंसिटिविटी की समस्या होती है। इसे हम दांतों में झनझनाहट की परेशानी कहते हैं। दांतों में सेंसिटिविटी होना बहुत ही आम बात है। लेकिन इसके कारण हमारे दांत में बहुत ही ज्यादा दर्द होने लगता है। कभी भी टूथ सेंसिटिविटी को नजर अंदाज नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे आपके दांतों की परेशानी काफी ज्यादा बढ़ने लगती है। डेंटल शोध के अनुसार, करीब 10 फीसदी लोग दांतों की झनझनाहट से परेशान हैं। दांतों में सेंसिविटी तब महसूस होती है, जब हम ठंडा पानी, खट्टा, चाय और आइसक्रीम जैसे खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं, तो इससे सेंसिटिविटी महसूस होती है। सेंसिटिविटी होने पर हमें अपने दांतों का खास ख्याल रखना चाहिए। आइए विस्तार से जानते हैं टूथ सेंसिटिविटी के कारण, लक्षण और बचाव के टिप्स-

दांतों में झनझनाहट के लक्षण

दांतों में झनझनाहट के कई लक्षण होते हैं। आइए जानते हैं इस बारे में-

अधिक गर्म चीजों को सहन ना कर पाना

इस स्थिति में जब हम गर्म चीजों का सेवन करते हैं, तो दांतों में काफी ज्यादा दर्द, झनझनाहट जैसी समस्या होने लगती है। कई मामलों में दांतों में झनझनाहट पेय पदार्थ की गर्मी के कारण नहीं, बल्कि उसमें मौजूद शुगर की वजह से होने लगती हैं। इन पेय पदार्थों में चाय, कॉफी या  फिर कोई अन्य मीठा पेय पदार्थ होता है। 

ठंडा तापमान ना सह पाना

कुछ लोगों को ठंडी चीजों से सेंसिटिविटी महसूस होती है। जिसमें आइस टी, नींबू पानी या आइसक्रीम जैसी चीजें शामिल होती हैं। ठंडी चीजों से दांतों में तीव्र दर्द और झनझनाहट महसूस होने लगती है। 

दांतों को छूने पर होता है दर्द महसूस

कुछ लोगों को दांत छूने भर से ही काफी ज्यादा दर्द होने लगता है। जैसे- ब्रश और उंगली छूने से दर्द महसूस होता है। ब्रश को छूने भर से ही दर्द महसूस होता है। 

मीठा खाने पर दर्द होना

मीठा खाने से भी आपको सेंसिटिविटी हो सकती है। चॉकलेट, कैंडी, रसगुल्ला और अन्य चीजों से आपको दांतों में सेंसिटिविटी होती है। 

इसे भी पढ़ें - इन 5 कारणों से होता है नासूर, जानिए इसके 10 प्रमुख लक्षण और घरेलू उपचार

खट्टी चीजों से सेंसिटिविटी 

खट्टी चीजों जैसे- अचार, आम, जूस जैसी चीजों से सेंसिटिविटी होती है।

दांतों में सेंसिटिविटी होने के कारण

इंदिरापुरम की डेंटिस्ट डॉक्टर स्मिता सिंह बताती हैं कि हमारे दांतो के ऊपरी परत को एनेमल और अंदरूनी परत को डेन्टिन कहा जाता है। जब किसी कारण से एनेमल परत दांतों से हट जाता है, तो बाहरी चीजें डेन्टिन के संपर्क में आने लगती है। इस कारण दांतों में काफी अधिक झनझनाहट महसूस होने लगती है। दांतों से एनेमल परत हटने के मुख्य कारण हो सकते हैं-

  • रात के समय दांत पीसना
  • कठोर ब्रश का इस्तेमाल करना
  • ब्रश करते वक्त अधिक दबाव देना
  • मसूड़े दांतों से पीछे हट जाना
  • दांतों में सड़न
  • दांतों की पकड़ कमजोर होना
  • टूटा हुआ दांत

इत्यादि कारणों से बाहरी वातावरण डेन्टिन के संपर्क में आता है।

कैसे रखें टूथ सेंसिटिविटी में अपने दांतों का ख्याल

  • नियमित रूप से टूथ ब्रश करें। दांतों पर आराम-आराम से ब्रश का इस्तेमाल करें। ध्यान रखें कि ब्रश करते वक्त दांतों पर ज्यादा जोर ना दें।
  • ब्रश करने के बाद कभी भी फ्लॉसिंग करना ना भूलें। इससे दांतों के बीच फंसे खाने के टुकड़े आसानी से निकल जाते हैं।
  • फ्लॉसिंग और ब्रश करने के बाद कुल्ला जरूर करें, जिससे आपके मुंह के आसपास मौजूद गंदगी साफ हो जाएगी। इसके लिए माउथवॉश का प्रयोग करें
  • 2 से 3 महीने में अपना टूथ ब्रश जरूर बदलें। 
  • कुल्ला करने के लिए हल्के गर्म पानी का इस्तेमाल करें। यह आपके लिए ज्यादा अच्छा होता है। 
  • दांतों की सफाई करते वक्त ज्यादा जोर ना लगाएं। इससे एनामेल हटने की संभावना होती है। एनामेल एक सुरक्षाकवच है, जो दांतों को सुरक्षित रखता है।
  • बहुत अधिक मीठा, खट्टा, सोडा इत्यादि एसिडिक चीजों का सेवन ना करें।
  • सप्ताह में 1 से 2 बार सरसों तेल और नमक से अपने दांतों की मसाज करें।
  • नियमित रूप से जीभ की सफाई करें।
  • सेंसिटिविटी अधिक महसूस होने पर डॉक्टर से जरूर सलाह दें।  

दांतों की सेंसिटिविटी दूर करने के घरेलू इलाज

लौंग तेल से करें दांतों की मालिश

लौंग के तेल से मालिश करने से आपके दांतों की सेंसटिविटी दूर हो सकती है। इसके लिए कॉटन वॉल पर 2 से 3 बूंद लौंग तेल डालें। इससे दांतों के मसूड़ों की मालिश करें। इससे दांतों में इंफेक्शन होने का खतरा कम होता है। 

नमक पानी

दांतों में इंफेक्शन की समस्या को दूर करने के लिए नमक का पानी इस्तेमाल करें। नमक के पानी से कुल्ला करने से दांतों का इंफेक्शन दूर होता है। नमक में एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होता है, जो दांतों की परेशानी को दूर करता है। 

कच्चे प्याज से दांतों की समस्या करें दूर 

दांतों की सेंसिटिविटी कच्चे प्याज से भी आप दूर कर सकते हैं। दरअसल, कच्चे प्याज में एंटीइंफ्लेमेंटरी गुण मौजूद होता है, जो दांतों की झनझनाहट को दूर करने में आपकी मदद करता है। इससे दांतों की समस्या धीरे-धीरे दूर होती है।   

लहसुन की कलियों से करें सेंसिटिविटी दूर    

मसूड़ों और दांतों में होने वाली सेंसिटिविटी को आप लहसुन की कलियों में भी दूर कर सकते हैं। इसके लिए 2 से 3 लहसुन की कलियां लें। इसे अच्छे से पीसकर अपने दांतों पर लगाएं। इससे दांतों में होने वाली सेंसिटिविटी दूर होगी। 

इसे भी पढ़ें - Chalazion: किन कारणों से होता है पलकों पर गांठ, जानें इसके 5 लक्षण, कारण और घरेलू उपचार    

अधिक ठंडी और गर्म चीजों से रहें दूर 

अधिक ठंडी और गर्म चीजों का एक साथ सेवन ना करें। इससे आपकी समस्या ज्यादा बढ़ सकती है। 

इन सभी उपायों से आप दांतों में सेंसिटिविटी से राहत पा सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे कि किसी भी चीज से खुद का इलाज करने से पहले एक बार डॉक्टर से जरूर संपर्क करेँ। क्योंकि इससे आपकी समस्या बढ़ सकती है।

Read More Articles on  Other Diseases in Hindi 

Disclaimer