Chalazion: किन कारणों से होता है पलकों पर गांठ, जानें इसके 5 लक्षण, कारण और घरेलू उपचार

पलकों के ऊपरी या निचले हिस्से पर एक छोटी मेबोमियन ग्लैंड है, जिसमें ब्लॉकेज के कारण पलकों पर गांठ हो जाती है।

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Feb 03, 2021Updated at: Feb 03, 2021
Chalazion: किन कारणों से होता है पलकों पर गांठ, जानें इसके 5 लक्षण, कारण और घरेलू उपचार

पलकों पर गांठ (chalazion) एक तरह से इंफेक्शन की समस्या है। इसमें किसी तरह का कोई दर्द महसूस नहीं होता है। यह इंफेक्शन किसी भी व्यक्ति को अचानक से होता है। यह किसी भी व्यक्ति के पलकों पर एक गांठ के रूप में होती है, जो पलकों के ऊपर या नीचे हो सकता है। आमतौर पर यह गांठ मेबोमियन या ऑयल ग्लैंड में ब्लॉकेज की वजह से होता है और यह बिना किसी इलाज के कुछ ही दिनों में ठीक भी हो सकता है। पलकों पर हुई इन गांठ को कई बार लोग आंतरिक गांठ समझ लेते है। पलकों पर गांठ आमतौर पर बिलनी होने के बाद विकसित होती है। यदि आपको पलकों पर गांठ हो जाए और देखने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं। 

किन कारणों से होती है पलकों पर गांठ (Causes of Chalazion)

  • पलकों के ऊपरी या निचले हिस्से पर एक छोटी मेबोमियन ग्लैंड है, जिसमें ब्लॉकेज के कारण पलकों पर गांठ हो जाती है। पलकों की ये ग्रंथि ऑयल बनाते हैं, जो आंखों की नमी बनाए रखते हैं। 
  • सेबरेया, रोज़ेसा, मुंहासे, क्रॉनिक ब्लेफेराइटिस जैसी परेशानी से जूझ रहे लोगों को यह परेशानी हो सकती है। 
  • वायरल कंजक्टिवाइटिस से ग्रसित लोगों को यह परेशानी हो सकती है। 
  • पलकों पर संक्रमण के कारण यह परेशानी हो सकती है।
  • आंखों के अंदर संक्रमण फैलना

बार-बार पलकों पर गांठ की शिकायत होने पर डॉक्टर से संपर्क करें। यह एक दुर्लभ बीमारी हो सकती है।  

इसे भी पढ़ें- क्या होता है Cold Exposure? एक्सपर्ट से जानिए इसके लक्षण, कारण और घरेलू उपचार

पलकों पर गांठ के लक्षण (Symptoms of chalazion)

  • पलकों पर गांठ और सूजन जैसा दिखना।
  • देखने में दिक्कत होना।
  • गांठ के आसपास उभरापन महसूस होना।
  • कभी-कभी पलकों पर गांठ लाल दिखना।
  • कभी-कभी दर्द महसूस होना। 

पलकों पर गांठ का निदान व उपचार (Diagnosis and treatment of chalazion)

इस परेशानी में आपको किसी तरह के टेस्ट की आवश्यकता नहीं होती है। डॉक्टर आपको  देखकर पता लगा सकते हैं कि आपको किस तरह की परेशानी है। इसके अलावा कुछ सवालों के जबाव के आधार पर आपकी समस्या का पता लगाया जा सकता है। जैसे-

  • क्या आपको दर्द होता है?
  • क्या आपको आंखों में खुजली होती है?
  • क्या आपको अन्य कोई समस्या है?

इन सवालों के आधार पर आपकी समस्या को पता लगाया जा सकता है कि आपको बिलनी है या पलकों पर गांठ।

इस बीमारी में आपको किसी तरह के कोई उपचार की आवश्यकता नहीं होती है। लेकिन डॉक्टर आपको इलाज के निम्न तरीके अपनाने की सलाह देते हैं।

गांठ पर करें सिंकाई - बार-बार अपने हाथों से गांठ को छुएं नहीं। अपनी गांठ पर दिन में 4 से 5 बार सिंकाई करें। सिंकाई के लिए एक कॉटन पैड या सूती कपड़ा लें। इसे गर्म पानी में भिगोकर निचोड़ लें और आंखों पर सिंकाई करें। इससे कीटाणु इंफेक्शन से राहत मिलेगा।  

इसे भी पढ़ें -   प्रेगनेंसी में शराब पीने से आपका होने वाला बच्चा हो सकता है इस खतरनाक सिंड्रोम का शिकार, जानें खतरे और लक्षण

पलकों पर गांठ का उपचार - डॉक्टर आपको पलकों पर गांठ को हल्के हाथों से कई बार मसाज के लिए भी बोल सकते हैं। इसके लिए पहले हाथों का साफ कर लें और धीरे-धीरे गांठ पर मसाज करें इससे गांठ में भरा तरल पदार्थ निकलने लगता है। जब वह निकलने लगे तो साफ कपड़े से उसे पोंछ दें और आंखों को गंदे हाथों से छूने की गलती न करें। इस बाद का ध्यान रहे कि जब तक पलकों पर गांठ ठीक न हो आई मेकअप और लेंस पहनने से परहेज करें, इससे परेशानी बढ़ सकती है।

Read More Articles On    Other Diseases in Hindi

Disclaimer