सुनने की क्षमता बढ़ानी है और लंबी उम्र तक कान रखने हैं स्वस्थ, तो अपनाएं ये 7 टिप्स

सुनने की क्षमता बढ़ाने के ल‍िए आप 7 आसान ट‍िप्‍स को फॉलो कर सकते हैं और अपने कानों का स्‍वास्‍थ्‍य बेहतर कर सकते हैं

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Aug 18, 2021 13:19 IST
सुनने की क्षमता बढ़ानी है और लंबी उम्र तक कान रखने हैं स्वस्थ, तो अपनाएं ये 7 टिप्स

ज‍िन लोगों को ठीक तरह से सुनाई नहीं देता उनके शारीर‍िक और मानस‍िक स्‍वास्‍थ्‍य पर भी इसका असर पड़ता है, ऐसे लोग बाक‍ियों से म‍िलना बंद करके खुद को अलग कर लेते हैं पर ऐसे लोगों को मदद की जरूरत होती है। अगर सही समय पर इलाज या बचाव के ट‍िप्‍स अपनाएं जाएं तो आप अपने सुनने की क्षमता को खोने से बचा सकते हैं। सुनने की क्षमता कम होने की समस्‍या ज्‍यादातर 60 पार के बाद होती है। उम्र बढ़ने के साथ सुनने की क्षमता कम होने लगती है, अगर आप कुछ आसान ट‍िप्‍स को फॉलो करें तो सुनने की क्षमता को बेहतर कर सकते हैं जैसे हेल्‍दी डाइट लेना, समय-समय पर कानों का चेकअप करवाना, ब्‍लड प्रेशर कंट्रोल करना, हार्ट डि‍सीज से बचना, धूम्रपान का सेवन अवॉइड करना आद‍ि। इस लेख में हम सुनने की क्षमता बढ़ाने के 7 आसान तरीकों के बारे में बात करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।

sound test

(image source:rackcdn.com)

सुनने की क्षमता कम होने के क्‍या लक्षण हैं? (Symptoms of hearing loss)

  • सुनने की क्षमता कम होने के कई लक्षण हैं जिनसे आप पता लगा सकते हैं क‍ि आपके कान स्‍वस्‍थ हैं या नहीं, उसके ल‍िए इन लक्षणों पर गौर करें-
  • अगर आपके सुनने की क्षमता कम हो रही है तो आपको रोजाना की बातचीत सुनने में परेशानी आ सकती है।
  • आप बार-बार दूसरों से बातों को र‍िपीट करने के ल‍िए कह सकते हैं।
  • तेज आवाज पर गाने सुनना या टीवी देखना भी सुनने की क्षमता कम होने के लक्षण हैं।
  • ज्‍यादा शोर वाली जगह पर परेशानी होना या कानों में घन्‍ट‍ियां बजना आद‍ि।

इसे भी पढ़ें- कान से निकलता है पीला पानी? जानें इस समस्या का कारण और इलाज

सुनने की क्षमता बढ़ाने के उपाय (How to increase hearing ability) 

1. दिल की सेहत पर ध्‍यान दें (Make heart healthy to improve hearing ability)

ज‍िन लोगों को कार्ड‍ियोवैस्‍कुलर ड‍िसीज होती हैं उनके सुनने की क्षमता भी कम होने लगती है क्‍योंक‍ि द‍िल से जुड़ी बीमार‍ियों के कारण ब्‍लड सर्कुलेशन पर असर पड़ता है ज‍िसके चलते कानों पर भी इसका असर होता है। सर्कुलेटरी समस्‍याओं के कारण इनर ईयर प्रभावित होता है, ब्‍लड सप्‍लाई कम होने से सुनने की क्षमता भी कम हो सकती है इसल‍िए आपको द‍िल से जुड़ी बीमार‍ियों से बचने के उपाय अपनाने चाहि‍ए।

2. डायब‍िटीज कंट्रोल करें (Control diabetes to improve hearing ability)

diabetes and ears

(image source:medical.net)

ज‍िन लोगों को डायब‍िटीज होती है उनके सुनने की क्षमता कम होने की आशंका ज्‍यादा रहती है। अगर आपके शरीर में ब्‍लड शुगर लेवल बढ़ा हुआ है तो इनर ईयर के अंदर मौजूद ब्‍लड वैसल्‍स को नुकसान हो सकता है ज‍िससे सुनने की क्षमता कम हो सकती है क्‍योंक‍ि इनर ईयर हमारे ब्रेन तक साउंड को पहुंचाने का काम करते हैं, अगर उन्‍हें नुकसान होगा तो आप ठीक ढंग से सुन नहीं पाएंगे इसल‍िए अपने ब्‍लड शुगर लेवल कंट्रोल रखें।

3. ब्‍लड प्रेशर कंट्रोल करें (Control blood pressure to improve hearing ability)

आपको ब्‍लड प्रेशर कंट्रोल करने के तरीके या उपायों पर गौर करना चाह‍िए तभी आप सुनने की क्षमता को बेहतर कर सकते हैं। हाई बीपी के कारण शरीर के कई अंगों पर बुरा असर पड़ता है। बीपी कंट्रोल कैसे करें? बीपी कंट्रोल करने के ल‍िए वजन कंट्रोल करें, रोजाना कम से कम आधे घंटे कसरत करें, साबुत अनाज, फल, सब्‍ज‍ियां, लो-फैट फूड्स, मैग्‍न‍िश‍ियम, कैल्‍श‍ियम, पोटैश‍ियम युक्‍त भोजन का सेवन करें।

4. हेल्‍दी डाइट लें (Take healthy diet to improve hearing ability)

food for ears

(image source:cloudfront) 

अगर आप सुनने की क्षमता को बेहतर करना चाहते हैं तो हेल्‍दी डाइट का सेवन करें, अपनी डाइट में व‍िटाम‍िन और म‍िनरल एड करें। आपको ज्‍यादा से ज्‍यादा फल और सब्‍ज‍ियों को अपनी डाइट में शाम‍िल करना चाह‍िए। कान के सुनने की क्षमता को बेहतर करने के लि‍ए आपको सेब के स‍िरके का इस्‍तेमाल करना चाह‍िए। सेब के स‍िरके में मैग्‍न‍िश‍ियम और ज‍िंक की अच्‍छी मात्रा होती है उससे कानों के सुनने की क्षमता तेज होती है, आपको हर द‍िन एक ग‍िलास गरम गुनगुने पानी में सेब का स‍िरका और शहद डालकर द‍िन में दो बार पीना चाहि‍ए।

5. धूम्रपान का सेवन न करें (Avoid smoking to improve hearing ability)

धूम्रपान के नुकसान कई होते हैं पर इससे आपके सुनने की क्षमता भी प्रभावित होती है। जो लोग धूम्रपान का सेवन करते हैं उनके सुनने की क्षमता, धूम्रपान न कर पाने वाले लोगों के मुकाबले कम होती है। आपको धूम्रपान करने से पूरी तरह से बचना चाह‍िए। स्‍मोक‍िंग करने से ऑड‍िट्री नर्व डैमेज होती है जो कानों से द‍िमाग तक स‍िग्‍नल भेजती है और ज‍िसकी मदद से आपका द‍िमाग आवाजों को सुन पाता है, इसल‍िए स्‍मोक‍िंग आज ही छोड़ें। 

इसे भी पढ़ें- कानों को रखना चाहते हैं स्वस्थ तो इन 4 योग का करें अभ्यास

6. हि‍यर‍िंग टेस्‍ट करवाएं (Go for hearing test to improve hearing ability)

hearing test

(image source:hearingexpertwirral)

आपको हीयरिंग टेस्‍ट लेना चाह‍िए। अगर आपको हेडफोन से गाने सुनने की बुरी लत है तो भी आपके सुनने की क्षमता कम हो सकती है, इसके लि‍ए आपको कानों की जांच करवानी चाहि‍ए। अब (oae) और (bera) जैसे टेस्‍ट की मदद से भी कानों के सुनने की क्षमता की जांज की जाती है। ये टेस्‍ट बेहद आसान होता है और आप कभी भी ईएनटी स्‍पेशल‍िस्‍ट के पास जाकर कानों का टेस्‍ट करवा सकते हैं, आपको साल में कम से कम दो बार कानों की जांच करवानी चाह‍िए।

7. एक्‍यूप्रेशन ट्राय करें (Try acupressure to improve hearing ability)

कानों के सुनने की क्षमता को बढ़ाने के लि‍ए आपको एक्‍यूप्रेशर तकनीक का लाभ उठाना चाह‍िए। आपको कान के ऊपरी भाग को दो उंगल‍ियों की मदद से मोड़ना है और इस प्रक्र‍िया को कम से कम द‍िन में 40 बार र‍िपीट करना है। सुनने की क्षमता को बढ़ाने के ल‍िए आप (LI 4) या हेगू प्रेशर प्‍वॉइंट पर भी प्रेशर दे सकते हैं, ये बिन्‍दु आपकी उंगली और अंगूठे के बीच पाया जाता है। इस प्रेशर प्‍वॉइंट से शरीर की कई अन्‍य समस्‍याएं भी दूर होती हैं। आंखों के बीच जो जगह होती है ज‍िसे हम तीसरी आंख या (EX HN 3) के नाम से भी जानते हैं, आप वहां भी प्रेशर देकर कानों की हेल्‍थ बेहतर कर सकते हैं। 

क‍िसी भी तरह का कन्‍फ्यूजन होने पर अपने डॉक्‍टर की सलाह जरूर लें और अपने स्‍वास्‍थ्‍य का ध्‍यान रखें।

(main image source:rackcdn.com)

Read more on Miscellaneous in Hindi 

Disclaimer