बच्चों का गुस्सा शांत करने के लिए अपनाएं ये 5 टिप्स

Child Care tips: कोरोना और लॉकडाउन के बाद ज्यादातर बच्चों में गुस्सा और चिड़चिड़ापन देखा जा रहा है। ऐसे में माता-पिता को उनका ध्यान रखने की जरूरत है।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasPublished at: Jul 08, 2022Updated at: Jul 08, 2022
बच्चों का गुस्सा शांत करने के  लिए अपनाएं ये 5 टिप्स

How To Calm Down An Angry Child : बड़ों के मुकाबले बच्चे ज्यादा भावुक होते हैं। बच्चे छोटी सी बात पर गुस्सा हो जाते हैं और छोटी सी ही बात पर नाराजगी जताने लगते हैं। बच्चों के साथ ये सब इसलिए होता है क्योंकि वो अपने इमोशन्स को छुपाना नहीं जानते हैं और तुरंत दिल की बात जुबान पर आ जाती है। बच्चे तो मन के सच्चे होते हैं, लेकिन कोरोना महामारी और लॉकडाउन के बाद ज्यादातर बच्चों में छोटी-छोटी बातों करने की आदत देखी जा रही है। अगर आप भी बच्चे के गुस्सा करने की आदत से परेशान हैं तो हम आपको बताने जा रहे हैं उसे शांत करने के कुछ खास टिप्स

कलरिंग और बुक

जब बच्चे नाराज होते हैं, तो जल्दी किसी की बात नहीं सुनते हैं। इस स्थिति में बच्चों को बेहतर महसूस करवाने के लिए कलरिंग बुक दें। कलर करने से बच्चे का दिमाग शांत करने में मदद मिलती है। आप चाहे तो बच्चे को किताब पढ़कर भी सुना सकते हैं। ऐसा करने से बच्चे का दिमाग डिस्‍ट्रैक्‍ट होगा और वो अच्छा फील करेगा।

मीठा खाने को दें

अगर आपका बच्चा ज्यादा गुस्सा करता है, तो उसे शांत करने के लिए कुछ मीठा खाने के लिए दें। आप चाहे तो उसे उसकी फेवरेट कैंडी दे सकते हैं। एक रिसर्च के मुताबिक शर्करा गुस्सा कंट्रोल करने में मदद करती है। अमेरिका की ओहियो स्टेट विश्वविद्यालय की स्टडी के मुताबिक एक निश्चित मात्रा में मीठे का सेवन करने से दिमाग शांत रहता है।

Tips to control anger in children in hindi

गले लगाएं और सॉरी बोलना सिखाएं

जैसा कि हम पहले भी कह चुके हैं कि बच्चों का मन बहुत ही ज्यादा नाजुक होता है। गुस्से में अगर बच्चे को गले से लगा लिया जाए तो उनके इमोशन बदल जाते हैं और वे बेहतर महसूस करते हैं। बच्चे को गले लगाने से वो न सिर्फ बातों को अच्छे से सुनते हैं बल्कि मानते भी हैं। अगर आपका बच्चा गुस्से में चीजों को फेंकता है या कई बड़ी गलती करता है तो  उसे सॉरी बोलना सिखाएं। यही नहीं उसे बताएं कि गलती के बाद सॉरी बोलना बहुत जरूरी होता है। ऐसा करने से बच्चे का गुस्सा कंट्रोल करने में मदद मिलती है।

इसे भी पढ़ेंः पिज्जा-बर्गर जैसे जंक फूड्स खराब करते हैं बच्चों के दांत, डॉक्टर से जानें बच्चों के लिए ओरल हेल्थ टिप्स

फीलिंग्स को एक्सप्रेस करना सिखाएं

जब बच्चे अपने मन की बात को बड़ों के सामने सही तरीके से नहीं रख पाते हैं, तो उनको ज्यादा गुस्सा आता है। ऐसे में बच्चों को फीलिंग्स को एक्सप्रेस करना जरूर सिखाएं। बच्चा अपने मन की बात बेझिझक आपके सामने रख सके, इसके लिए घर के माहौल को थोड़ा कूल बनाने की कोशिश करें। कई बार माता-पिता बच्चे के साथ कुछ ज्यादा ही सख्ती से पेश आते हैं। इस स्थिति में बच्चे का गुस्सा और ज्यादा बढ़ जाता है इसलिए बच्चे के मन की बात को समझना आपके लिए भी जरूरी है।

Tips to control anger in children in hindi

बच्चों को गुस्से के नुकसान के बारे में बताएं

अगर आपका बच्चा ज्यादा ही गुस्सा करता है और कई बार चीजों को फेंकता भी है, तो गुस्से से होने वाले नुकसान के बारे में उसे समझाएं। बच्चों को बताएं कि गुस्से में खिलौने और बाकी चीजों को फेंकने से वो टूट जाएगा और दोबारा उसे नहीं मिलेगी। बच्चों को गुस्सा कंट्रोल करने की आदत डालें। बच्चे को बताएं कि अगर उन्हें ज्यादा गुस्सा आता है तो गहरी सांस लें, पानी पिएं या 10 तक गिनें, ताकि मन शांत रहे।

Disclaimer