Expert

6 महीने से बड़े बच्चों को जरूर खिलाएं ये 7 अनाज, बेहतर होगा शारीरिक-मानसिक विकास

Super Grains For Kids In Hindi: बच्चों को सेहतमंद रखने और उनके बेहतर विकास के लिए उनके आहार में अनाज शामिल करना बहुत जरूरी है, यहां जानें 5 अनाज।

 
Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Jun 07, 2022Updated at: Jun 07, 2022
6 महीने से बड़े बच्चों को जरूर खिलाएं ये 7 अनाज, बेहतर होगा शारीरिक-मानसिक विकास

जब बच्चा छोटा होता है तो उसे सिर्फ स्तनपान कराने की सलाह दी जाती है। लेकिन जब बच्चा 6 महीने का हो जाता है तो फिर उसे ठोस पदार्थ खिलाना शुरू किया जाता है। लेकिन छोटे बच्चों के खानपान का बहुत खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। क्योंकि यह उनके स्वास्थ्य और बेहतर विकास के लिए बहुत जरूरी होता है। बच्चों के आहार में रंग बिरंगे फल और सब्जियां होना बहुत जरूरी है। क्योंकि ये उन्‍हें जरूरी पोषण प्रदान करते हैं। साथ ही बच्चों को अनाज खिलाना भी बहुत जरूरी होता है। बेहतर विकास के लिए बच्चों को अनाज खिलाना भी बहुत जरूरी है। लेकिन अक्सर पेरेंट्स इस बात को लेकर काफी असमंजस में रहते हैं कि बच्चों को कौन से अनाज खिलाना सुरक्षित है? या उन्हें कौन से अनाज खिलाना ज्यादा फायदेमंद है। चिंता न करें, इसमें आपकी मदद करने के लिए हम यहां हैं। इस लेख में हम चाइल्ड न्यूट्रिशनिस्ट और डायटीशियन रमिता कौर से जानेंगे 7 ऐसे अनाज जिन्हें आपको बच्चे की डाइट (Super Grains to Add Kids Diet In Hindi) में शामिल जरूर करना चाहिए।

Super Grain For Kids In Hindi

बच्चों को सेहतमंद रखने के लिए जरूरी खिलाएं ये 7 अनाज (Super Grains to Add Kids Diet Benefits In Hindi)

1. रागी<

बच्चों को रागी खिलाने से उनमें मोटापे का कम जोखिम होता है। साथ ही यह बच्चों के लिवर को भी स्वस्थ रखता है और कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल रखता है। रागी में आयरन की अच्छी मात्रा होती है, जिससे यह शरीर में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है और बच्चों को एनीमिया के जोखिम से बचाता है।

2. बाजरा

बाजरा में फाइबर की अच्छी मात्रा होती है जो बच्चों के पाचन को मजबूत बनाता है और पाचन संबंधी परेशानियों से दूर रखता है। साथ ही यह बच्चों को हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। साथ ही खून की कमी को दूर करता है।

इसे भी पढें: बच्चे के लिए शैंपू खरीदते समय इन 5 बातों का रखें खास ध्यान, नहीं होगा बालों को नुकसान

3. ज्वार

ज्वार फाइबर और प्रोटीन का अच्छा स्रोत है। यह बच्चे के पाचन और हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए बहुत फायदेमंद है। साथ ही ज्वार मैग्नीशियम का भी अच्छा स्रोत है, शरीर में कैल्शियम के अवशोषण के लिए बहुत जरूरी है।

4. कंगनी (Foxtail Millet)

कंगनी या फॉक्सटेल मिलेट बच्चों के लिए बहुत अच्छा होता है। यह पचने में बहुत आसान होता है और बच्चों के शारीरिक विकास में मददगार है। बच्चों को फॉक्सटेल खिलाने से पेट दर्द की समस्या भी दूर होती है। यह डायरिया से भी बचाता है।

5. समा के चावल

ज्वार की तरह समा के चावल में भी प्रोटीन और फाइबर अच्छी मात्रा में मौजूद होता है। साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट भी मौजूद होते हैं। यह पेट के लिए बहुत फायदेमंद है और इम्यूनिटी को मजबूत बनाने में मदद करता है। साथ ही यह ग्लूटेन फ्री होता है।

6.कोदो मिलेट

यह शरीर के कई महत्वपूर्ण अंगों जैसे हृदय, लिवर, किडनी आदि को स्वस्थ रखने में मदद करता है। यह पोषक तत्वों से भरपूर होता है जिससे न सिर्फ आपके बच्चे को पर्याप्त पोषण मिलता है, बल्कि कई गंभीर बीमारियां भी दूर रहती हैं। यह हड्डियों को मजबूत बनाने और बेहतर विकास में मदद करता है।

इसे भी पढें: क्या शिशुओं को काजू, बादाम, पिस्ता, अखरोट जैसे नट्स खिलाना सुरक्षित है? जानें एक्सपर्ट की राय

7. लिटिल मिलेट (Little Millet)

यह प्रोटीन ,फाइबर और आयरन जैसे जरूरी पोषक तत्वों का बेहतरीन स्रोत है। यह बच्चों में खून की कमी को दूर करने में मदद करता है। साथ ही पेट संबंधी समस्याओं से बचाता है। बच्चे के बेहतर विकास में बहुत सहायक है।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer

Tags