बच्चों को खिलाएं ये 4 सुपर फूड्स, शारीरिक विकास के लिए मिलेंगे जरूरी पोषक तत्व

बच्चों को अच्छे शारीरिक मानसिक विकास के लिए कई पोषक तत्वों की जरूरत पड़ती है, जो उन्हें कुछ खास सुपर फूड्स से मिल सकते हैं। जानें इनके बारे में।

Monika Agarwal
स्वस्थ आहारWritten by: Monika AgarwalPublished at: May 16, 2022Updated at: May 16, 2022
बच्चों को खिलाएं ये 4 सुपर फूड्स, शारीरिक विकास के लिए मिलेंगे जरूरी पोषक तत्व

अगर आपका बच्चा रोज नूडल्स, चिप्स, बर्गर पिज्जा खाता है तो आप भी उसकी इन आदतों को जरूर सुधारना चाहते होंगे। ये सारे फूड्स बच्चे की हेल्थ पर बुरा असर डाल सकते हैं। दरअसल बच्चों के अच्छे शारीरिक विकास के लिए उन्हें पौष्टिक चीजों का सेवन करना चाहिए। लेकिन कौन से फूड्स उनकी सेहत के लिए अच्छे हैं, इस बात पर अक्सर बहुत से पेरेंट्स कन्फ्यूज हो रहते हैं या भटक जाते हैं।

मदरहुड हॉस्पिटल में सीनियर कंसल्टेंट एंड पीडियाट्रिशन डॉक्टर अमित गुप्ता बताते हैं कि अगर सुपर फूड्स की बात करें तो ऐसा कोई खाद्य पदार्थ नहीं है जो सबको सूट करे और सारे लाभ प्रदान कर सके। हालांकि फल, सब्जियां और अनाज जैसी कई ऐसी चीजें हैं जो शरीर की जरूरतों को पूरा कर सकती हैं और बच्चों को हेल्दी रहने में मदद कर सकती हैं। बस पेरेंट्स को इसकी सही जानकारी होना जरूरी है। आइए जानते हैं कौन सी चीजें ऐसी होती हैं जो बच्चों को पोषण प्रदान करने में मदद करती हैं।

superfoods for kids

1. अंडे खिलाएं

अंडों में काफी ज्यादा मात्रा में प्रोटीन और अन्य पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं। एग व्हाइट और अंडे की जर्दी विटामिन डी का रिच स्रोत हैं, जो बच्चों के संपूर्ण विकास के लिए आवश्यक तत्व है। अंडे बच्चे को भरपेट रहने में भी मदद करते हैं और इससे उन्हें भूख भी कई समय तक महसूस नहीं होती। इससे बच्चे के ओवरऑल विकास में भी काफी मदद मिलती है।

इसे भी पढ़ें- अपने 1 साल से बड़े बच्चों को जरूर खिलाएं ये 5 सुपरफूड्स, समुचित विकास के लिए मिलेंगे सभी जरूरी न्यूट्रिएंट्स

2. दूध और ड्राई फूट्स

बहुत से बच्चों को दूध पीना पसंद नहीं होता है या बहुत से बच्चे लैक्टोज इंटोलेरेंट होते हैं। जबकि दूध और अन्य डेयरी उत्पाद कैल्शियम के अच्छे स्रोत माने जाते हैं। इसलिए अगर बच्चे इन्हें खाना पसंद नहीं करते हैं तो कैल्शियम के अन्य स्रोतों को बढ़ावा दें। ओट्स मिल्क, नट मिल्क, दही आदि भी दूध के अन्य विकल्प हैं जो कैल्शियम से भरपूर होते हैं। बादाम जैसे नट्स में भी कैल्शियम की अच्छी खासी मात्रा पाई जाती है। 30 ग्राम बादाम बच्चों को कैल्शियम की रोजाना की 5% मात्रा प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं।

milk is superfood for kids

3. विटामिन बी वाले फूड्स

विटामिन बी से युक्त खाद्य पदार्थ भी बच्चों के डाइट में जरूर शामिल करें। बच्चों की मानसिक वृद्धि और शारीरिक विकास में यह विटामिन एक मुख्य भूमिका निभाता है, इसलिए इसके महत्व को किसी भी तरह से नजर अंदाज नहीं करना चाहिए। यह विटामिन 8 तरह के विटामिन्स का समूह है जैसे विटामिन बी 1 और बी 2 आदि। यह विटामिन रेड ब्लड सेल्स और हेल्दी मसल्स बनाने में मदद करते हैं। इस विटामिन की मात्रा पूरी करने के लिए आपको बच्चों को सब्जियां खिलानी चाहिए जैसे हरी और पत्तेदार सब्जियां, आलू, नट्स और पोल्ट्री आदि।

इसे भी पढ़ें- अपने सिंपल फूड्स को इन 5 ट्रिक्स के जरिए बनाएं सुपरफूड्स, कई गुना बढ़ जाएंगे फायदे

4. स्नैक्स के रूप में दें फल 

बच्चों के शरीर में खाना जल्दी से पच जाता है और इसलिए ही उनकी एनर्जी हमेशा हाई रहती है। इसका मतलब है उन्हें हमेशा बीच-बीच में और एनर्जी की जरूरत पड़ती है और इसके लिए आप उन्हें स्नैक्स के रूप में फल दे सकते हैं। स्नैक्स ही बच्चों की आदत बिगाड़ते हैं क्योंकि मां बाप स्नैक के रूप में उन्हें बाहर का खाना या प्रोसेस्ड फूड दे देते हैं, जो बिल्कुल भी हेल्दी नहीं होता। आप स्नैकिंग को हेल्दी बनाने के लिए कुछ पौष्टिक फलों का प्रयोग कर सकते हैं। सेब, केला, बैरीज, नाशपाती जैसे फल उन्हें खिलाएं।

इसके अलावा अगर आपका बच्चा नॉन वेज खाना पसंद करता है तो, कभी कभार अपने बच्चों को मछली जैसा सी फूड भी दे सकते हैं। बच्चों का हेल्दी फूड भी बड़ों के मुकाबले कोई ज्यादा अलग नहीं है लेकिन आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वह असल में इन सब चीजों का सेवन कर रहा है और उसका विकास हो रहा है। हालांकि आप हफ्ते में एक बार उन्हें उनका मन पसंद खाना भी खिला सकते हैं ताकि उन्हें भी पूरी तरह संतुष्टि महसूस हो सके।

Disclaimer