Expert

हार्मोन्स को बैलेंस रखना है, तो खाएं ये 5 ग्लूटेन फ्री अनाज

Gluten Free Grains in Hindi: शरीर में हार्मोन्स के संतुलन और पेट को स्वस्थ रखने के लिए अनाज का सेवन बहुत जरूरी है, जानें 5 ग्लूटेन फ्री अनाज।

 
Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Jun 03, 2022Updated at: Jun 03, 2022
हार्मोन्स को बैलेंस रखना है, तो खाएं ये 5 ग्लूटेन फ्री अनाज

शरीर में हार्मोन्स के संतुलन के लिए आपके पेट का स्वस्थ होना बहुत जरूरी है। अपने पेट को स्वस्थ रखने के लिए सही फूड्स का सेवन करना बहुत जरूरी है। लेकिन कुछ फूड्स सभी लोगों के लिए फायदेमंद नहीं होते हैं जैसे अनाज। कुछ अनाज में ग्लूटेन (एक तरह का प्रोटीन) होता है, जिसे सभी लोगों के लिए पचा पाना मुश्किल होता है। कई लोगों को ग्लूटेन से एलर्जी भी होती है, अगर वे इसका सेवन करते हैं तो उन्हें एलर्जी और वजन बढ़ने के साथ ही कई अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं। अब सवाल यह है कि ऐसे में उनके पास क्या विकल्प है? चिंता न करें इसमें आपकी मदद करने के लिए हम यहां हैं।

डायटीशियन मनप्रीत की माने तो हमारे पास अनाज के कई ऐसे विकल्प भी हैं जो ग्लूटेन फ्री होते हैं। इन अनाज का सेवन कोई भी कर सकता है। शरीर में हार्मोन्स के संतुलन और पेट को स्वस्थ रखने के लिए आप इन ग्लूटेन फ्री अनाज को डाइट में शामिल कर सकते हैं। इस लेख में हम आपको गट हेल्थ को बेहतर बनाने के लिए 5 ग्लूटेन फ्री अनाज के बारे में बता रहे हैं।

हार्मोन्स को संतुलित रखने और स्वस्थ पेट के लिए  खाएं 5 ग्लूटेन फ्री अनाज (Gluten free grains for balanced hormones gut health in hindi)

1. समक राइस (Barnyard Millet)

यह पाचन को बेहतर बनाने के लिए बहुत फायदेमंद है। यह ब्लोटिंग, पेट में गैस और कब्ज जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। शरीर में ब्लड शुगर लेवल को रेगुलेट रखता है और गट हेल्थ को बेहतर बनाता है। आप पेट को स्वस्थ रखने के लिए समक राइस और हरी मूंग दाल का सेवन कर सकते हैं।

Gluten Free Grains

2. ज्वार (Sorghum Millet)

यह सिर्फ आपके पाचन के लिए ही नहीं, बल्कि हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए भी बहुत फायदेमंद है। साथ ही ज्वार के सेवन से इंसुलिन संवेदनशीलता में भी सुधार होता है। आप ब्रेकफास्ट में ज्वार का डोसा बनाकर खा सकते हैं और इसके साथ पुदीने की चटनी का सेवन भी कर सकते हैं। यह मीठा खाने की क्रेविंग को रोकने में मदद करता है।

इसे भी पढें: 

3. पेरबोइल्ड राइस या आधे पके चावल (Parboiled Rice)

ये विटामिन बी से भरपूर होते हैं। जिससे यह शरीर में हार्मोन्स को बैलेंस करने में मदद करते हैं। आपके पेट को स्वस्थ रखता है और आंत के माइक्रोबायोटा को बढ़ाता है। आप दोपहर में पेरबोइल्ड राइस का पुलाव बनाकर खा सकते हैं और इसके साथ में चुकंदर का रायता सर्व कर सकते हैं। यह आपको लंबे समय तक पेट भरा हुआ महसूस कराएगा।

4. ओट्स (Oats)

ओट्स घुलनशील फाइबर का बेहतरीन स्रोत है। यह आपके पेट के लिए बहुत फायदेमंद है और तृप्ति को बढ़ावा देता है। यह आंत के बैक्टीरिया को पोषण प्रदान करने और उन्हें बहाल करने में मदद करता है। आप चिया पुडिंग में ओट्स मिलाकर सेवन कर सकते हैं या सिर्फ ओट्स बनाकर भी खा सकते हैं।

इसे भी पढें: मौसम बदलने पर बच्चे पड़ते हैं ज्यादा बीमार, इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए खिलाएं ये 5 फूड्स

5. रागी (Finger Millet)

यह मल त्याग की प्रक्रिया को बेहतर बनाती है और कब्ज की समस्या से छुटकारा दिलाती है। साथ ही रागी आयरन का बेहतरीन स्रोत है, जिससे यह थकान की समस्या में सुधार करती है। आप फर्मेंटेड रागी डोसा का सेवन कर सकते हैं। साथ ही रात में बेहतर नींद के लिए आप आप इसके साथ में मौसमी सब्जियों का सेवन भी कर सकते हैं।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer