मुश्किल में डाल सकता है जरूरत से ज्यादा व्यायाम, जानें ओवर एक्सरसाइज के दुष्परिणाम

ओवर एक्सरसाइज से मांसपेशियों में दर्द, थकान, कमर दर्द आदि समस्याएं हो जाती हैं। जरूरत से ज्यादा वर्कआउट करने से शरीर रिस्पॉन्ड नहीं करता। वहीं, उचित फायदा भी नहीं मिल पाता है। जाने अंजाने अगर आप भी ज्यादा एक्सरसाइज कर रहे हैं तो ये लेख आपके लिए है

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Dec 04, 2018
मुश्किल में डाल सकता है जरूरत से ज्यादा व्यायाम, जानें ओवर एक्सरसाइज के दुष्परिणाम

नियमित एक्सरसाइज शारीरिक वजन को कम करने और उसे निरोग व मजबूत रखने में सहायक होती है, लेकिन जब यही एक्सरसाइज ओवर हो जाए तो काफी नुकसान पहुंचा सकती है। ओवर एक्सरसाइज से मांसपेशियों में दर्द, थकान, कमर दर्द आदि समस्याएं हो जाती हैं। जरूरत से ज्यादा वर्कआउट करने से शरीर रिस्पॉन्ड नहीं करता। वहीं, उचित फायदा भी नहीं मिल पाता है। जाने अंजाने अगर आप भी ज्यादा एक्सरसाइज कर रहे हैं तो ये लेख आपके लिए है।  

 

ओवर एक्सरसाइज क्या है

ओवर एक्सरसाइज को कम्पलसिव एक्सरसाइज भी कहा जाता है। जब तक आप अपने शरीर की जरूरत के अनुसार एक्सरसाइज कर रहे हैं तो आप अपने आपको तरोताजा और फिट महसूस करेंगे, लेकिन जब यही एक्सरसाइज आप एक निश्चित स्तर से ऊपर ले जाते हैं तो आपको कई प्रकार के शारीरिक नुकसान होने की आशंका बन जाती है 

ओवर एक्सरसाइज के लक्षण

यदि आप ओवर एक्सरसाइज कर रहे हैं तो आपको खुद में कुछ विशेष प्रकार के लक्षण नजर आ सकते हैं, जैसे हमेशा थकान महसूस होना, मांसपेशियों में दर्द रहना, नींद न आना, सिरदर्द होना, चिड़चिड़ापन होना, तनाव होना, घुटनों को नुकसान पहुंचना, ज्यादा वजन कम करने से शरीर पर स्ट्रैच मार्क आ जाना तथा कमर में दर्द आदि।  

ओवर एक्सरसाइज के नुकसान 

ऑस्टियोऑर्थराइटिस: अगर आप जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज करते हैं तो आपके घुटनों को क्षति पहुंच सकती है। यही नहीं इससे ऑस्टियोऑर्थराइटिस की संभावना भी बढ़ती है। यूनीवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, सान फ्रांसिस्को’ (यूसीएसएफ) के विशेषज्ञ क्रिस्टोफ स्टेलिंग के अनुसार अत्यधिक शारीरिक सक्रियता वाले लोगों के घुटनों में असामान्यताएं विकसित होने का खतरा अधिक होता है और इस तरह इन लोगों में ऑस्टियोऑर्थराइटिस की समस्या भी पैदा हो सकती है।

मानसिक स्वास्थ्य: ओवर एक्सरसाइज से आपका मानसिक स्वास्थ्य जरूर बिगड़ सकता है। एक शोध के मुताबिक जरूरत से ज्यादा समय तक व्यायाम करने से मानसिक स्वास्थ्य बिगड़ सकता है, जिससे सोचने, समझने और राय बनाने की क्षमता घट जाती है। रिपोर्ट के अनुसार यह खासकर महिलाओं के लिए अधिक घातक होता है। ऐसी महिलाएं जो जल्दी स्लिम दिखने के लिए अधिक देर तक जिम में समय बिताती हैं उनका मानसिक संतुलन किसी भी उम्र में डगमगा सकता है और उनकी सोचने और समझने की शक्ति क्षीण हो सकती है। 

इसे भी पढ़ें: ट्रेडमिल में वर्कआउट करने से पहले इस बात का रखें ध्यान, कभी नहीं आएगी दिक्कत

ईटिंग डिसऑर्डर: ओवर एक्सरसाइज ईटिंग डिसऑर्डर का कारण बन सकता है। माना जाता है कि शारीरिक व्यायाम के बारे में महज सोचने भर से इन्सान ज्यादा खाना शुरू कर देता है। डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक जो लोग व्यायाम करने के बारे में पढ़ते या सोचते हैं, वह 50 फीसदी ज्यादा खाना शुरू कर देते हैं। ऐसा ‘सबकांशस रिवार्ड थ्योरी’ की वजह से होता है जिसके अनुसार व्यायाम के बाबत जब शारीरिक या मानसिक प्रयास किए जाते हैं तो लोग ज्यादा खाकर खुद को फायदा पहुंचाते हैं।

दिल के लिए हानिकारक: जरूरत से ज्यादा व्यायाम आपके दिल के लिए खतरनाक हो सकता है। प्लस वन पत्रिका में छपे एक अध्ययन के मुताबिक ज्यादा व्यायाम करने से कुछ लोगों में दिल को नुकसान पहुंचने की आशंका बढ़ जाती है। शारीरिक क्षमता से ज्यादा व्यायाम करने वाले लोगों में रक्तचाप के स्तर में भी बढ़ोत्तरी होती है जो हृदयाघात के खतरे को बढ़ाता है। 

इसे भी पढ़ें: कैसे पाएं 3डी शोल्डर्स? इस तरह दें अपने डेल्टाॅएड्स को ट्रेनिंग

क्या करें: खुद को स्वस्थ रखने के लिए रोजाना 600 कैलोरी यानी सप्ताह में 3000 कैलोरी बर्न करें। इसके लिए योग, एरोबिक एक्सरसाइज, रनिंग, साइकलिंग, कार्डियो, वेट ट्रेनिंग, फुल बॉडी सर्किट ट्रेनिंग आदि को अपनाएं। इस प्रकार की एक्सरसाइज हर दिन अलग-अलग करीब सप्ताह के पांच या छह दिन रोजाना 30 से 45 मिनट तक करनी चाहिए। ध्यान रखें, हर सप्ताह यदि 3000 से ज्यादा कैलोरी घटायी गयी तो आपको कई प्रकार की शारीरिक बीमारियां हो सकती हैं, साथ ही वर्कआउट के बाद सही मात्रा में पानी पीएं, ताकि आप डिहाइड्रेशन के प्रभाव में न आ सकें।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Diet & Nutrition In Hindi 

Disclaimer