तुलसी के बीज (सब्जा सीड्स) के अधिक सेवन से हो सकती हैं ये 5 परेशानियां

तुलसी की बीज का अधिक सेवन करने से ब्लड क्लॉटिंग, कब्ज, अपच जैसी परेशानी हो सकती है। आइए विस्तार से जानते हैं इसके बारे में-

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jul 07, 2022Updated at: Jul 07, 2022
तुलसी के बीज (सब्जा सीड्स) के अधिक सेवन से हो सकती हैं ये 5 परेशानियां

Tulsi Seeds Side Effects : तुलसी के बीज यानी सब्जा सीड्स स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होते हैं।  ये ओमेगा-3 फैटी एसिड का समृद्ध स्त्रोत  होते हैं, जो कई तरह की समस्याओं को दूर करने में असरदार हो सकता है। लेकिन अगर आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करते हैं, तो यह आपके शरीर को नुकसान भी पहुंचा सकता है। खासतौर पर गर्भावस्था में इसका नुकसान हो सकता है। आज हम इस लेख में तुलसी के बीज के सेवन  से होने वाले नुकसान के बारे में जानेंगे।

तुलसी के बीजों से सेहत को होने वाले नुकसान - Side Effects of Tulsi Seeds

तुलसी के बीज का अधिक मात्रा में सेवन करने से शरीर को कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं। इससे आपको अपच, ब्लड क्लॉटिंग और कैंसर होने का जोखिम बढ़ सकता है। आइए जानते हैं तुलसी के बीज से शरीर को होने वाले नुकसान क्या हैं?

इसे भी पढ़ें - तेज सिरदर्द कम करने में मदद कर सकती है तुलसी, इन तरीकों से करें इस्तेमाल

गर्भवावस्था में है नुकसानदेह

तुलसी के बीजों का अधिक सेवन करने से गर्भवती महिलाओं को नुकसान हो सकता है। दरअसल, तुलसी के बीज का सेवन करने से शरीर में हार्मोन का स्तर प्रभावित होता है। खासतौर पर इससे शरीर में गर्भावस्था में एस्ट्रोजन नामक हार्मोन प्रभावित होता है। यह महिलाओं के शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है।  गर्भावस्था में इस तरह की स्थिति भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकती हैं।

थायराइड की परेशानी

तुलसी के बीज का सेवन करने से थायराइड हार्मोन प्रभावित हो सकता है। इसलिए अगर आपको थायराइड की परेशानी है, तो एक्सपर्ट या डॉक्टर की सलाह पर ही तुलसी के बीजों का सेवन करें। 

अपच की परेशानी

तुलसी के बीजों में फाइबर की अधिकता होती है। फाइबर गट हेल्थ के लिए काफी अच्छा होता है, लेकिन इसकी अधिकता आपकी पाचन शक्ति को बिगाड़ सकती है। अगर आप अधिक मात्रा में तुलसी के बीजों का सेवन करते हैं, तो आपको पाचन, ब्लोटिंग, कब्ज जैसी परेशानी हो सकती है। 

ब्लड क्लॉटिंग की परेशानी

तुलसी के बीज में विटामिन के की मात्रा काफी ज्यादा होती है। यह हमारे शरीर में ब्लड क्लॉटिंग के  खतरे को बढ़ा सकता है। क्योंकि विटामिन के युक्त आहार के सेवन से ब्लड को गाढ़ा किया जा सकता है। ऐसे में इसकी अधिकता ब्लड क्लॉटिंग के खतरे को बढ़ा  सकती है। इसके अलावा इसके बीज का सेवन खून को पतला करने वाली दवाओं के साथ किया जाए, तो इससे इलाज में परेशानी हो सकती है।

कैंसर का खतरा

तुलसी की बीज का लंबे समय तक सेवन करने से लिवर कैंसर होने का खतरा रहता है। दरअसल, तुलसी के बीज में एस्ट्रागोल नामक केमिकल होता है, जो लिवर की परेशानी बढ़ाने का कारण हो सकता है। ऐसे में यह लिवर के सेल्स को डैमेज भी कर सकता है, जिससे लिवर कैंसर होने की संभावना होती है। 

तुलसी  के बीज स्वास्थ्य के लिए काफी हेल्दी  होते हैं। इसके सेवन से नुकसान होने की संभावना काफी कम है। हालांकि, अधिक मात्रा में इससे नुकसान होने की संभावना होती है। अगर आप किसी तरह की बीमारी से जूझ रहे हैं, तो डॉक्टर की सलाह पर ही तुलसी के बीजों का सेवन करें।

Reference Links

https://ods.od.nih.gov/factsheets/VitaminK-HealthProfessional/

https://www.cc.nih.gov/sites/nihinternet/files/internet-files/ccc/patient_education/drug_nutrient/coumadin1.pdf

https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/30202317/

 

Disclaimer