प्लास्टिक की बोतल में पानी पीने से सेहत को होते हैं कई नुकसान, डॉक्टर से जानें इनके बारे में

आजकल लोग आसानी होने के कारण प्लास्टिक की बोतल का इस्तेमाल करते हैं। प्लास्टिक के केमिकल्स सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasPublished at: Sep 16, 2022Updated at: Sep 16, 2022
प्लास्टिक की बोतल में पानी पीने से सेहत को होते हैं कई नुकसान, डॉक्टर से जानें इनके बारे में

प्लास्टिक ने हमारी जिंदगी पर इतना असर डाला है कि आज की दुनिया प्लास्टिक के बगैर सोची भी नहीं जा सकती। मनुष्य प्लास्टिक पर इस तरह निर्भर है कि वह पानी पीने की बोतल से लेकर लंच बॉक्स तथा अपनी जरूरत की तमाम चीजें प्लास्टिक की ही इस्तेमाल कर रहा है। कुछ लोग तो इसके दुष्प्रभाव से परिचित हैं परंतु कई लोग ऐसे हैं, जो इसके दुष्प्रभाव के बारे में कुछ भी नहीं जानते। वे नहीं जानते की प्लास्टिक का उपयोग मनुष्य के शरीर के लिए कितना हानिकारक साबित हो सकता है। इससे निकलने वाले रसायन शरीर को किस हद तक हानि पहुंचा सकते हैं और इससे प्रकृति के साथ-साथ मनुष्य के शरीर को भी कितना नुकसान पहुंचता है।

Plastic-water-bottle

प्लास्टिक की बोतल में पानी पीने के नुकसान

कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी की बनता है वजह

प्लास्टिक का प्रयोग करने की वजह से इसमें पाए जाने वाले रसायन से सीधा शरीर का संपर्क होता है। इससे अनेक बीमारियों से शरीर घिर जाता है। प्लास्टिक में पाए जाने वाले रसायन जैसे सीसा, कैडमियम और पारा शरीर में कैंसर, विकलांगता, इम्यून सिस्टम में गड़बड़ी जैसे गंभीर रोग उत्पन्न करते हैं और इससे बच्चों का विकास भी प्रभावित होता है।

हाइपोथायरायडिज्म का कारण

बीपीए यानी कि बिस्फेनॉल थायराइड हार्मोन रिसेप्टर की मात्रा कम करता है। जिससे हाइपोथायरायडिज्म जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है। प्लास्टिक अन्य तरह से भी हमारे शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है। एक शोध के अनुसार प्लास्टिक की बोतल में ईडीसी, यानी की एंडोक्राइन डिस्सेंटिंग केमिकल जैसा बहुत ही खतरनाक और नुकसान देय रसायन पाया जाता है। जो कि इंसानी हार्मोनल सिस्टम को धीरे धीरे परंतु सीधे तरीके से नुकसान पहुंचाता है।

ओवरी से संबंधित बीमारियां

प्लास्टिक में मौजूद केमिकल्स की वजह से महिलाओं में भी ओवरी से संबंधित बीमारियां, ब्रेस्ट कैंसर, कोलन कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर जैसी समस्याएं उत्पन्न होती हैं।

अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन का कहना है कि जब प्लास्टिक गर्म होता है तो उसमें से 50 से 60 तरह के अलग-अलग रसायन बाहर निकालते हैं और यह शरीर के लिए अत्यंत घातक साबित होते हैं। दमा, पलमोनरी कैंसर, फेफड़ों का कैंसर, जहरीली गैस में सांस लेने के कारण उत्पन्न होता है। इससे तंत्रिका तंत्र और मस्तिष्क को भी नुकसान पहुंचता है। गुर्दे की बीमारी भी इसी कारण होती है।

 

 

Disclaimer