रिश्‍तेदारों को खुशखबरी देने का सही समय है बारहवां हफ्ता

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 06, 2011
Quick Bites

  • पहले से अच्‍छा महसूस करती हैं आप बारहवें हफ्ते में।
  • अब शारीरिक बदलाव के दिखाई देने का समय आ गया है।
  • बच्‍चे के विकास में अब पहले के मुकाबले तेजी आएगी।
  • काफी कम रहता है दूसरी तिमाही में गर्भपात का जोखिम।

गर्भावस्था का बारहवां हफ्ता यानी आप दूसरी तिमाही में प्रवेश करने वाली है। अब आपको गर्भपात का जोखिम न के बराबर है। यदि आपने दोस्‍तों और रिश्‍तेदारों को यह खुशखबरी नहीं दी है तो अब आप उन्‍हें यह खबर दे सकती हैं।

Pregnancy Twelve Weeks

दूसरी तिमाही में प्रवेश करने पर महिलाएं राहत महसूस करती हैं। अब उन्‍हें जल्‍द ही मां बनने का अहसास मन ही मन खुशी देता है। इस समय कुछ महिलाओं का बेबी बंप दिखाई देने लगता है, जब‍िकि कुछ का दिखाई भी नहीं देता। यदि आपके अंदर कोई शारीरिक बदलाव नहीं हो रहा तो परेशानी होने की काई बात नहीं है। आंतरिक परिवर्तन लगातार जारी हैं। इस लेख के जरिए हम आपको देते हैं गर्भावस्‍था के बारहवें हफ्ते के बारे में जानकारी।

गर्भावस्था के बारहवें हफ्ते में

  • पहली तिमाही के मुकाबले आपको कम थकान महूसस होना और मितली भी कम आना। इस समय आप कोशिश करें कि तनाव न लें। इससे आपके ऊर्जा स्‍तर में वृद्घि होगी।
  • अब आप एरोबिक्स एक्‍सरसाइज को अपनी दिनचर्या में लागू कर सकती हैं। इसके लिए यह सही समय है।
  • अपनी दिनचर्या में हल्‍की एक्‍सरसाइज को शामिल करें, इससे आप व गर्भस्‍थ शिशु दोनों ही स्‍वस्‍थ रहेंगे।

 

बच्चे विकास

आपने दूसरी तिमाही में प्रवेश कर लिया है, अब बच्‍चे के विकास में तेजी आएगी। मस्तिष्क हार्मोन का उत्पादन शुरू करेगा और तंत्रिका कोशिकाएं भी जल्द बढ़ेंगी। गर्भ में पल रहा शिशु तरल पदार्थ को चूसना और आहार को निगलना शुरू कर देगा। सब कुछ सही रहने पर शिशु की लंबाई और आकार में परिवर्तन होता रहेगा।

बच्‍चे की मुठ्ठी ,खोलने और बंद करने की प्रक्रिया भी अब शुरू होने लगी है। समय समय पर बच्‍चे के होठ और भौंहे सिकुड़ने लगी हैं। आंखें और कान चेहने के अनुपात में विकसित होने शुरू हो गए हैं। हफ्तों और महीनों का समय बीतने के साथ शिशु की बनावट में और भी बदलाव आएगा।

 

आपके शरीर में परिवर्तन

गर्भावस्था के बारहवें सप्‍ताह के दौरान बच्चे की स्थिति में होने वाले परिवर्तन के कारण गर्भाश्‍य के आकार में भी परिवर्तन दिखाई देगा। अब मां का पेट पहले से बड़ा देना शुरू हो जाएगा। इसके साथ ही आपके वजन में दो से तीन पाउंड की वृद्धि हो जाएगी। त्वचा के रंग में भी कुछ परिवर्तन होगा। यदि आपकी त्वचा पर दाग हैं तो ये गर्भावस्था के दौरान और गहरे हो सकते हैं।

कुछ महिलाओं में पेट के केंद्र से एक गहरे रंग का रेशा दिखाई देना शुरू हो सकता है, यह शिशु के जन्म के बाद गायब भी हो सकता है। हर महिला के गर्भावस्‍था के दौरान अलग-अलग लक्षण होते हैं, इसलिए यदि आपके लक्षण किसी से भिन्‍न हैं तो चिंता की बा नहीं है। गर्भावस्था के बारहवें सप्‍ताह में आपको दिल में जलन भी अधिक हो सकती है। इसमें कमी लाने के लिए दिन भर थोड़ी-थोड़ी मात्रा में आहार लें।

चिकित्सक से ऐसे खाद्य पदार्थ के बारे में जानकारी करें, जिनके सेवन से दिल में जलन न हो। यह समय मोलर गर्भावस्था का हो सकता है। इस समय नाल ठीक से विकसित नहीं होती। आपको धब्बे या योनि से खून बहता दिखाई दे सकता है। इस तरह की परेशानी होने पर बिना किसी लापरवाही के चिकित्‍सक से परामर्श करें। इस तरह की परेशानी गर्भपात का कारण भी बन सकती है।

 

क्या उम्मीद की जाती है

दूसरी तिमाही में जाने पर गर्भपात का जोखिम काफी कम हो गया है। सुबह को होने वाली परेशानी, थकान और मितली जैसी दिक्‍कतें भी कम होंगी। आप आप पहले से अच्‍छा महसूस कर रही हैं। आपके हार्मोन बच्चे के विकास के साथ समायोजन कर रहे हैं और सब अच्छी तरह से चल रहा होना चाहिए। आपको त्वचा सूर्य के प्रकाश के प्रति अतिसंवेदनशील बनी महसूस हो सकती है।

इस समय त्वचा पर दाग या काले धब्बे बन सकते हैं। धूप में जाने से पहले सनस्क्रीन का इस्‍तेमाल फायदेमंद रहेगा। संतुलित आहार योजन को अपनी दिनचर्या का हिस्‍सा बनाएं रखें। जो महिलाएं पहले गर्भवती रह चुकी हैं, उनसे बात करें और उनके अनुभवों को जानने की कोशिश करें। अपने आैर बच्‍चे के स्‍वास्‍थ्‍य की निगरानी के लिए समय-समय पर चिकित्‍सक से मिलते रहें।

 

सुझाव / सलाह

आपने सफलता पूर्वक पहली तिमाही पूरी कर ली है। अब आपकी दूसरी तिमाही की शुरूआत हो चुकी है। पहले के मुकाबले आप शारीरिक व मानसिक रूप से बेहतर महसूस कर रही हैं। यदि आने वाले दिनों में आपका यात्रा करने का विचार बन रहा है तो उसके लिए यह समय बेहतर है। सुबह को होने वाली परेशानी से भी आपको राहत मिलेगी। दोस्‍तों और रिश्‍तेदारों से मिलने वाली बधाईयां आपकी खुशी को दोगुना कर देंगी।

अन्य महिलाओं की गर्भावस्था के दौरान की बातों को सुनकर उनसे अपने अनुभवों की तुलना न करें। जरूरी नहीं कि हर महिला की गर्भावस्‍था के दौरान का अनुभव एक जैसा ही हो। यदि इस सबके बाद आपके मन में अगर कोई प्रश्‍न है तो चिकित्सक से परामर्श करना अच्‍छा रहेगा।

Loading...
Is it Helpful Article?YES219 Votes 70751 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
I have read the Privacy Policy and the Terms and Conditions. I provide my consent for my data to be processed for the purposes as described and receive communications for service related information.
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK