कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल रखने के लिए डाइट में शामिल करें ये 6 पोषक तत्व, हृदय रोगों का खतरा होगा कम

Nutrients for High Cholesterol Level: खराब कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल में रखने के लिए आप कुछ खास पोषक तत्वों को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। 

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: May 14, 2022Updated at: May 14, 2022
कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल रखने के लिए डाइट में शामिल करें ये 6 पोषक तत्व, हृदय रोगों का खतरा होगा कम

Nutrients for High Cholesterol Level: कोलेस्ट्रॉल शरीर में पाया जाने वाला एक तरह का फैट है। यह शरीर निर्मित करता है, भोजन में भी कोलेस्ट्रॉल पाया जाता है। शरीर को ठीक से काम करने के लिए कुछ मात्रा में कोलेस्ट्रॉल की जरूरत होती है, लेकिन कोलेस्ट्रॉल का अधिक स्तर धमनियों को नुकसान पहुंचा सकता है। अधिक कोलेस्ट्रॉल हृदय रोग के जोखिम को भी बढ़ाता है। कोलेस्ट्रॉल का उपयोग सेल की दीवारों का निर्माण करने, हार्मोन का उत्पादन करने के लिए किया जाता है। कोलेस्ट्रॉल रक्त में लिपोप्रोटीन द्वारा ले जाया जाता है। लिपोप्रोटीन के मुख्य प्रकार एचडीएल और एलडीएल हैं। 

एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को 'अच्छा' कोलेस्ट्रॉल के रूप में जाना जाता है। एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को 'खराब' कोलेस्ट्रॉल के रूप में जाना जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि एलडीएल आपकी धमनियों में कोलेस्ट्रॉल छोड़ता है। ऐसे में हृदय को स्वस्थ रखने के लिए एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कंट्रोल में रखना जरूरी होता है। इसके लिए आपको अपनी जीवनशैली, खान-पान में कुछ जरूरी बदलाव करने होते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे पोषक तत्वों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल में रखने में मदद करते हैं। हृदय रोग के जोखिम को भी कम करते हैं।

1. फाइबर

कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण में रखने के लिए फाइबर एक जरूरी पोषक तत्व होता है। प्रतिदिन 20-35 ग्राम फाइबर लेने की सलाह दी जाती है। फाइबर पाचन के साथ ही हृदय स्वास्थ्य के लिए भी जरूरी होता है। फाइबर हृदय रोग के जोखिम को भी कम करने में मदद कर सकता है। ओट्स, जई, जई का चोकर, साबुत अनाज, फल और सब्जियां फाइबर के अच्छे सोर्स होते हैं। 

इसे भी पढ़ें - कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से परेशान हैं? 7 दिनों के इस डाइट प्लान से घटाएं अपना कोलेस्ट्रॉल

2. लो कैलोरी फूड्स

मोटापा हृदय रोग और बढ़ते कोलेस्ट्रॉल स्तर का कारण बनता है। कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल में रखने के लिए वजन को नियंत्रण में रखना बहुत जरूरी होता है। इसके लिए आप लो कैलोरी फूड्स का सेवन कर सकते हैं। लो कैलोरी वाली सब्जियों में घुलनशील फाइबर भी होता है। ओट्स, सूप, चिया सीड्स, ग्रीक योगर्ट लो लो कैलोरी फूड्स माने जाते हैं।

3. फोर्टिफाइड स्टेरोल्स और स्टैनोल फूड्स

पौधों से निकाले गए स्टेरोल और स्टैनोल भोजन से कोलेस्ट्रॉल को अवशोषित करके शरीर की क्षमता को बढ़ाते हैं। एक दिन में 2 ग्राम प्लांट स्टेरोल या स्टैनोल लेने से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल में रखा जा सकता है।

4. प्रोटीन

प्रोटीन हृदय स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। प्रोटीन युक्त टोफू और सोया दूध कोलेस्ट्रॉल को कम करने कारगर माना जाता है। एक दिन में 25 ग्राम सोया प्रोटीन का सेवन एलडीएल को कम करने में मदद कर सकता है।

5. ओमेगा 3 फैटी एसिड

ओमेगा 3 फैटी एसिड खराब कोलेस्ट्रॉल स्तर को कम करने में फायदेमंद माना जाता है। ओमेगा 3 रक्तप्रवाह में ट्राइग्लिसराइड्स को कम करता है, असामान्य हृदय ताल को रोकने में मदद करके हृदय को स्वस्थ बनाए रखता है। सप्ताह में दो या तीन बार मछली खाने से खराब कोलेस्ट्रॉल को कम किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें - काजू भिगोकर खाने के फायदे : कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने में मददगार है भीगे हुए काजू, जानें इसे खाने के अन्य फायदे

6. मैग्नीशियम

मैग्नीशियम हृदय स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। एवोकाडो, बादाम, अंजीर, पालक और पॉपकॉर्न में मैग्नीशियम अच्छी मात्रा में होता है। इसे खाने से कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रण में रखा जा सकता है। हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने के लिए आपको मैग्नीशियम को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए।

हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल हार्ट अटैक, हार्ट फेलियर जैसी घातक बीमारियों का कारण बन सकता है। कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए आपको इन सभी पोषक तत्वों में अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए। वही हाई कोलेस्ट्रॉल युक्त भोजन से परहेज करना चाहिए। इससे आपका हृदय हमेशा स्वस्थ रहेगा, आप हमेशा स्वस्थ रहेगा। 

Disclaimer