गर्भावस्‍था में सामान्‍य प्रसव के लिए कुछ महत्‍वपूर्ण टिप्‍स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 02, 2013
Quick Bites

  • तीन महीने पहले फोलिक एसिड की गोलियों का सेवन कीजिए।  
  • ब्‍लड, थॉयराइड, हेपेटाइटिस और मधुमेह आदि की जांच करायें।
  • डायट चार्ट में प्रोटीन, आयरन और कैल्शियम को शामिल करें।
  • अपनी दिनचर्या में व्‍यायाम को शमिल करें और खूब पानी पियें।

बदली हुई जीवनशैली के कारण सामान्‍य प्रसव होना आज के जमाने में असंभव सा लगता है, लेकिन यदि आप गर्भावस्‍था की प्‍लानिंग के समय कुछ बातों का ध्‍यान रखें तो यह असंभव आपके लिए संभव बन सकता है। इसके लिए जरूरत है सही खानपान और सही देखभाल की।

गर्भधारण से पूर्व इसकी तैयारी कीजिए, चिकित्‍सक से संपर्क करके जरूरी जांच कराइए। गर्भधारण से तीन महीने पहले फोलिक एसिड की गोलियों का सेवन करना शुरू कर दीजिए। यदि आप स्‍वस्‍थ रहेंगी तो आपका होने वाला बच्‍चा भी स्‍वस्‍थ रहेगा। गर्भधारण से पहले और गर्भधारण के बाद नियमित व्‍यायाम करने से सामान्‍य प्रसव की संभावना बढ़ जाती है। हम आपको सामान्‍य प्रसव के लिए कुछ जरूरी टिप्‍स दे रहे हैं।

Normal Delivery in Hindi

जरूरी जांच करायें

गर्भधारण से पूर्व सभी जांच कराना बहुत जरूरी हो जाता है। यदि आपको कोई बीमारी है तो उसका असर आपके होने वाले बच्‍चे पर पड़ता है, इसके अलावा गर्भपात के लिए भी ये कारक जिम्‍मेदार हो सकते हैं। यदि आप स्‍वस्‍थ रहती हैं तो सामान्‍य प्रसव होना कोई बड़ी बात नहीं है। इसलिए गर्भधारण से पूर्व पैप स्मीयर, टीएसएच (थायरॉयड जांच), पीसीटी, ऑव्यूलेशन टेस्ट (मासिक चक्र के तीसरे दिन होने वाला टेस्ट), हेपेटाइटिस ए व बी आदि की जांच अवश्‍य करायें।

स्‍वास्‍थ्‍य पर ध्‍यान दें

प्रसव के दौरान असहनीय दर्द होता है, खासकर सामान्‍य प्रसव के दौरान। इसके लिए आपको पहले से तैयारी करना बहुत जरूरी है। इसलिए अपने स्‍वास्‍थ्‍य पर पहले से ध्‍यान दीजिए, यदि आप कमजोर हैं और आप के अंदर खून की कमी है तो आपके लिए यह कदम बहुत मुश्‍किल होगा। इसलिए गर्भावस्‍था की तैयारी के साथ ही अपने स्‍वास्‍थ्‍य पर ध्‍यान देना शुरू कर दीजिए।

स्‍वस्‍थ खानपान

गर्भावस्‍था के दौरान ही नहीं अपितु सामान्‍य दिनों में भी पोषणयुक्‍त खाने से आप खुद को फिट रख सकती हैं। लेकिन गर्भवती होने के बाद अतिरिक्‍त देखभाल की जरूरत होती है। इसलिए अपने डायट चार्ट में सभी जरूरी पोषक तत्‍वों को शामिल कीजिए। हेल्‍दी खाने से आपके अंदर ऊर्जा बनी रहती है। प्रेग्‍नेंसी में आयरन और कैल्‍शियम की बहुत जरुरत पड़ती है इसलिए जितना भी हो सके अपने आहार में इसे जरुर शामिल करें। सामान्य प्रसव में यदि 200 से 300 एमएल खून जाता है तो तो सिजेरियन में यह इसकी तुलना में दो से तीन गुना अधिक होता है।

नियमित व्‍यायाम करें

गर्भावस्‍था की तैयारी के साथ ही अपनी दिनचर्या में व्‍यायाम को शामिल कीजिए। अगर आप शुरु से ही रोजाना व्‍यायाम करती आ रहीं हैं तो सामान्‍य प्रसव की संभावना बढ़ जायेगी। नियमित व्‍यायाम करने से आपकी मांसपेशियां मजबूत हो जाती हैं। जो कि सामान्‍य प्रसव के दौरान आपके बच्‍चे को पुश करने के दौरान दर्द को सहने के योग्‍य बनायेगा। इसके लिए रोज सुबह जॉगिंग या वॉक करना बहुत जरूरी है। गर्भावस्‍था के तीसरे ट्राइमेस्‍टर में व्‍यायाम करना संभव न हो तो हो सके तो टहलें जरूर।

Pregnancy in Hindi

खूब पानी पिएं

आपको यह पता होगा कि शिशु एक तरल पदार्थ से भरी हुई झोली में रह कर बड़ा होता है। इसको हम एमनियोटिक फ्ल्‍यूड कहते हैं, जिससे बच्‍चे को ऊर्जा मिलती है। इसलिए गर्भधारण के बाद आपको 8 से 10 ग्‍लास पानी पीना बहुत जरुरी है। अधिक पानी पीने से सामान्‍य प्रसव की संभावना को बढ़ाया जा सकता है।

इन सबके अलावा जरूरी है भरपूर आराम। तनाव और अवसाद से दूर रहने के लिए सकारात्‍क सोचें। यदि किसी भी प्रकार की समस्‍या हो तो खुद से ईलाज करने की बजाय चिकित्‍सक से सलाह लें।

 

Image Source - Getty Images

Read More Articles On Normal Delivery In Hindi

Loading...
Is it Helpful Article?YES174 Votes 19322 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK