बैक्टीरियल और वायरल इंफेक्शन को दूर करे नीम का काढ़ा, इस तरह बनाएं और करें सेवन

नीम की छाल का काढ़ा पीने से शरीर की कई परेशानी दूर कर सकता है। इससे आपको काफी लाभ हो सकता है। 

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jun 13, 2022Updated at: Jun 13, 2022
बैक्टीरियल और वायरल इंफेक्शन को दूर करे नीम का काढ़ा, इस तरह बनाएं और करें सेवन

Neem Bark Kadha : नीम स्वास्थ्य के लिए काफी हेल्दी माना जाता है। इसमें कई ऐसे गुण पाए जाते हैं, जो बैक्टीरियल और संक्रमण की परेशानी को दूर करने में असरदार हो सकते हैं। साथ ही यह इम्यून पावर को बूस्ट कर सकते हैं। इसके अलावा नीम के इस्तेमाल से शरीर को कई फायदे हो सकते हैं। लेकिन क्या आपने कभी नीम के छाल का काढ़ा पिया है? जी हां, नीम की तरह इसके पेड़ का छाल भी स्वास्थ्य के लिए काफी हेल्दी माना जाता है। इसके इस्तेमाल से आप शरीर की कई परेशानियों को दूर कर सकते हैं। नियमित रूप से नीम के पेड़ की छाल का काढ़ा पीने से इम्यून पावर बूस्ट होता है। साथ ही यह कई बैक्टीरियल समस्याओं को दूर कर सकता है। इसके अलावा नीम के पेड़ की छाल का काढ़ा कई स्वास्थ्य संबंधी परेशानी को दूर कर सकता है। आइए जानते हैं इसके फायदे और तैयार करने का सही तरीका क्या है? 

नीम की छाल का काढ़ा पीने के फायदे (Neem Bark Kadha Health Benefits)

बैक्टीरियल समस्याओं को करे दूर

नीम की छाल का काढ़ा पीने से बैक्टीरियल समस्याएं दूर हो सकती है। दरअसल, नीम की पत्तियों की तरह इसके छाल में भी एंटी-बैक्टीरियल गुण पाया जाता है, जो बैक्टीरियल समस्याओं को दूर कर सकता है। यह नियमित रूप से अगर आप इसके छाल का काढ़ा पीते हैं, तो आपको फंगल, संक्रमण और बैक्टीरियल समस्याएं नहीं होंगी। 

इसे भी पढ़ें - फोड़े-फुंसियों से लेकर शुगर तक इन 4 समस्याओं में फायदेमंद है नीम का फूल, जानें सेवन के तरीके

पाचन करे दुरुस्त

नीम की छाल का काढ़ा पाचन शक्ति को मजबूत करता है। यह कब्ज, गैस, एसिडिटी, अपच इत्यादि को दूर करने में असरदार है। अगर आप पाचन तंत्र को मजबूत बनाए रखना चाहते हैं, तो नीम के पेड़ की छाल का काढ़ा पिएं। यह काफी प्रभावी हो सकता है। 

गले की खराश करे दूर

नीम की छाल के काढ़े में थोड़ी सी दालचीनी पाउडर या फिर काली मिर्च पाउडर को मिलाकर पीने से यह गले की खऱाश को दूर करता है। इससे गले में  संक्रमण की परेशानी भी नहीं होती है। 

मोटापा करे कंट्रोल

नीम की छाल का काढ़ा पीने से मोटापा कंट्रोल होता है। यह आपके मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करता है। इससे शरीर में तेजी से कैलोरी बर्न होती है, जो वजन को कंट्रोल कर सकती है। साथ ही बेली फैट को कम कर सकता है। 

फीवर में है रामबाण

फीवर होने पर नीम की छाल का काढ़ा पीने से आपको काफी लाभ होगा। इस काढ़े को ठंड करके पीने से शरीर का तापमान कंट्रोल होता है। साथ ही यह फ्लू जैसी परेशानी को दूर कर सकता है। 

स्किन की परेशानी करे दूर

नीम की छाल का काढ़ा पीने से स्किन संबंधी परेशानी दूर होती है। यह स्किन पर चमक ला सकता है। साथ ही स्किन के दाग-धब्बों को भी दूर कर सकता है।  

कैसे तैयार करें नीम की छाल का काढ़ा (Neem Bark Kadha Recipe)

नीम की छाल का काढ़ा तैयार करने के लिए एक बर्तन में 3 गिलास पानी डाल लें। इसके बाद इसमें करीब 10 ग्राम नीम की छाल को डालकर पानी को उबालें। जब पानी आधा रह जाए, तो इसे आंच से उतार लें। इस पानी को आप चाय की तरह पिएं। इससे शरीर का वजन कंट्रोल होता है। साथ ही यह शरीर की कई परेशानी को दूर कर सकता है। 

इसे भी पढ़ें -गर्मियों में रोजाना लगाएं नीम के पत्तों से बनी आयुर्वेदिक फेस क्रीम, जानें फायदे और इस्तेमाल का तरीका

नीम की छाल का काढ़ा पीने से शरीर को कई फायदे हो सकते हैं। हालांकि, ध्यान रखें कि अगर आपको नीम से पहले किसी तरह की परेशानी है, तो एक्सपर्ट की सलाह पर ही नीम की छाल का काढ़ा पिएं।

Disclaimer

Tags