फोड़े-फुंसियों से लेकर शुगर तक इन 4 समस्याओं में फायदेमंद है नीम का फूल, जानें सेवन के तरीके

Neem Flower Benefits: नीम का फूल भी कई बीमारियों को दूर करने में कारगर माना जाता है। आप भी अपनी समस्याओं के लिए नीम के फूलों का उपयोग कर सकते हैं।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: May 23, 2022Updated at: May 23, 2022
फोड़े-फुंसियों से लेकर शुगर तक इन 4 समस्याओं में फायदेमंद है नीम का फूल, जानें सेवन के तरीके

Neem Flower Benefits Ayurveda: आयुर्वेद में नीम के पेड़ को औषधीय गुणों से भरपूर बताया गया है। आयुर्वेद में नीम के पेड़ के सभी हिस्सों जैसे फलों, पत्तियों, छाल और फूलों का इस्तेमाल तरह-तरह के रोगों को दूर करने के लिए किया जाता है। आज हम आपको नीम के फूल के फायदों (Neem ke Phool ke Fayde) के बारे में बताने जा रहे हैं। 

नीम के फूल मीठे होते हैं, इनमें चमेली जैसी गंध होती है। आयुर्वेद में नमी के पत्तियों के साथ ही फूल को भी अहम स्थान दिया गया है। दरअसल, नीम में एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। इसके अलावा इसमें एंटीमाइक्रोबियल, एंटीपैरासिटिक और एंटीडायबिटिक गुण भी होते हैं। नीम के फूल त्वचा की समस्याओं दूर करने और शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने में मदद करते हैं। नीम के फूलों को कई समस्याओं के लिए प्रभावी माना गया है। तो चलिए आज के इस लेख में विस्तार से जानते हैं नीम के फूल से कौन-कौन से फायदे मिलते हैं।

नीम के फूल के फायदे (Neem Flower Benefits in Hindi)

नीम के फूल औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं। आयुर्वेद में नीम के फूलों का उपयोग त्वचा की समस्याओं, पित्त और डायबिटीज में अकसर किया जाता है। इसके अलावा नीम के फूल आंतों के लिए भी फायदेमंद होते हैं।

1. पित्त को शांत करे नीम के फूल

आयुर्वेद में नीम के फूलों का उपयोग पित्त को शांत करने के लिए किया जाता है। जब शरीर में पित्त बढ़ता है, तो नीम के फूलों का सेवन करना लाभकारी माना जाता है। नीम के फूल शरीर की गर्मी और पित्त के लक्षणों को कम करने में मदद करते हैं। शरीर में पित्त बढ़ने पर आप आयुर्वेदिक डॉक्टर की सलाह पर नीम के फूलों का पानी पी सकते हैं। या फिर नीम के फूल चबा भी सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें- अशोक का फूल दूर कर सकता है आपकी ये 5 समस्याएं, जानें इस्तेमाल का तरीका

skin

2. त्वचा की समस्याएं दूर करें नीम के फूल

नीम के फूलों में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं, ये त्वचा की समस्याओं को दूर करने में मदद करते हैं। इसके लिए आप नीम के फूलों को सुखाकर पाउडर बना लें। अब इस पाउडर को अपनी त्वचा पर लगाएं। इससे त्वचा की अशुद्धियों को ठीक करने में मदद मिलती है। आयुर्वेद में नीम के फूलों का इस्तेमाल सोरायसिस और एक्जिमा के इलाज के लिए भी किया जाता है। मानसून में होने वाले फोड़े-फुंसियों के इलाज में नीम के फूलों का इस्तेमाल किया जा सकता है। लेकिन अगर आपको कोई गंभीर त्वचा रोग है, तो एक्सपर्ट की सलाह पर ही इसका यूज करें।

3. डायबिटीज में फायदेमंद नीम के फूल

डायबिटीज रोगियों के लिए भी नीम के फूल फायदेमंद हो सकते हैं। नीम के फूलों में एंटीडायबिटीक गुण होते हैं। ऐसे में ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रण में रखने में मदद मिल सकती है। अगर आप डायबिटीज रोगी हैं, तो नीम के फूलों का पाउडर बना लें। इसके सेवन से आपको काफी लाभ मिलेगा। आयुर्वेद में शुगर लेवल को कम करने के लिए नीम के फूलों का उपयोग किया जाता है। लेकिन आपको बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन करने से बचना चाहिए।

4. कफ को नियंत्रित करे नीम के फूल

नीम के फूल पित्त के साथ ही कफ को भी कंट्रोल में रखने में मदद करते हैं। अगर आपका कफ बढ़ा हुआ है, तो आप डॉक्टर की सलाह पर नीम के फूलों का सेवन कर सकते हैं। इसमें मौजूद एंटीमाइक्रोबियल और एंटीऑक्सीडेंट् गुण होते हैं। जो तमाम समस्याओं को कम करने में मदद करते हैं।

इसे भी पढ़ें - अजवाइन के फूल के फायदे: इन 7 समस्याओं में अजवाइन के फूलों के इस्तेमाल से मिल सकता है फायदा

इसके अलावा नीम के फूलों में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं, जो त्वचा की सूजन को कम करने में मदद करते हैं। आप भी अपनी इन समस्याओं को दूर करने के लिए नीम के फूलों का उपयोग कर सकते हैं। लेकिन याद रखिए, ये फूल किसी भी बीमारी का संपूर्ण इलाज नहीं है। इसलिए कोई भी समस्या होने पर पहले डॉक्टर से जरूर कंसल्ट करें और सही इलाज करवाएं।

Disclaimer