Nasal Congestion: 'बंद नाक' होने पर बरतें जरूरी सावधानी, जानें इसके कारण और बचाव

बंद नाक के पीछे अनेक कारण हो सकते हैं। ऐसे में इन कारणों को जानने के साथ-साथ बंद नाक के लक्षण और उपचारों को जानें। 

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Mar 17, 2021
Nasal Congestion: 'बंद नाक' होने पर बरतें जरूरी सावधानी, जानें इसके कारण और बचाव

जब नाक में जमाव या नाक किसी द्रव से भरी हुई होती है तो इस स्थिति को नाक बंद होना कहते हैं। यह कोई स्वास्थ्य समस्या नहीं है पर हां यह किसी समस्या का लक्षण हो सकता है, जैसे कि साइनस। इसके अलावा सर्दी जुकाम भी नाक बंद होने के पीछे कारण बन सकते हैं। ऐसे में लोग घरेलू उपचार की मदद से रुकी हुई नाक को खोलने की कोशिश करते हैं। लेकिन कभी-कभी स्थिति गंभीर हो सकती है। बता दें कि आज का हमारा लेख बंद नाक के लक्षण, कारण और इलाज पर है। आज हम आपको बताएंगे कि किन कारणों के चलते बंद नाक जैसी समस्या हो सकती है। साथ ही लक्षण और उपचार भी जानेंगे। पढ़ते हैं आगे...

बंद नाक के कारण (nasal congestion causes)

बता दें कि जब नाक के अंदर कोई द्रव भर जाता है या सूजन आ जाती है तब नाक बंद हो जाती है। अगर उदहारण की बात करें तो सर्दी जुकाम आदि के कारण नाक बंद हो जाते हैं। ये समस्याएं नाक से से जुड़ी है जो जल्दी ठीक भी हो जाती हैं। लेकिन अगर नाक एक हफ्ते तक ठीक ना हो तो हो सकता है कि आपको स्वास्थ्य समस्या है। ऐसे में इसके पीछे निम्न कारण नजर आ सकते हैं-

1 - नाक में कैंसर यानी नाक के मार्ग में ट्यूमर का बनना

2 - किसी रासायनिक पदार्थ के संपर्क में आ जाना

3 - एलर्जी के कारण

4 - साइनस संक्रमण जो कि लंबे समय तक है उसके कारण

5 - नाक की बीच की दीवार पर टेढ़ा हो जाने के कारण

इस प्रकार की समस्या गर्भावस्था के दौरान भी हो सकती है। ऐसे में यह पहली तिमाही के अंत में लक्षण नजर आते हैं। चूंकि हार्मोन उतार-चढ़ाव के कारण नाक बंद हो जाती है यह बदलाव नाक की झिल्ली को प्रभावित कर नाक में सूखापन, सूजन या खून बहने जैसी समस्या को पैदा कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- अगर आपको इन 4 में से कोई भी रोग है तो भूलकर भी न करें तरबूज का सेवन

नाक बंद के लक्षण (nasal congestion symptoms)

बता दें कि नाक बंद होने के निम्न लक्षण नजर आते हैं। 

1 - बहती हुई या रुकी हुई नाक

2 - साइनस में दर्द के कारण

3 - नाक में सूखापन

4 - सांस लेने में दिक्कत

5 - नाक के आसपास लालिमा

6 - नाक के आसपास सूजन आ जाना

कई बार नाक बंद होने पर घरेलू उपाय काम नहीं आते ऐसे में अगर स्थिति ज्यादा दर्दनाक है तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। क्योंकि ऐसी स्थिति में मेडिकल उपचार की जरूरत होती है। अगर 10 दिन तक नाक बंद रहे तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। इसके अलावा तीन या अधिक दिन तक तेज बुखार होने पर डॉक्टर को दिखाएं। अगर हरे रंग का नाक से द्रव निकले तब भी डॉक्टर से सलाह जरूर करें।

इसे भी पढ़ें- Gingivitis: मसूड़ों में सूजन आने पर हो सकते हैं ये 10 कारण, जानें लक्षण और बचाव

नाक बंद होने के घरेलू उपचार

1 - भाप माध्यम से नाक को साफ करें। सबसे पहले एक बड़े बर्तन में पानी भरें और उसे गर्म करें। गर्म करने पर जब भाप निकलनी शुरू हो जाए तो तौलिये से सिर को ढक लें और गहरी सांस लेना शुरू करें। इस बात का ध्यान रखें कि भाप तौलिए से बाहर ना जा पाए। इसके अलावा कुछ सुगंधित तेलों का भी प्रयोग कर सकते हैं जैसे अजवाइन, पुदीना आदि  से नाक साफ करें।

2 - अदरक से नाक साफ कर सकते हैं क्योंकि इसके अंदर सूजनरोधी गुण पाए जाते हैं जो बलगम से भरे नाक को साफ कर सकते हैं। आप अदरक का प्रयोग हर्बल चाय के रूप में कर सकते हैं। ये नाक साफ करने में बेहद उपयोगी है। इस के टुकड़े को पानी में उबालें और तौलिये को डिबोकर चेहरे पर लगाएं।

3 - गर्म सूप से भी नाक को खोला जा सकता है। रोजाना तीन से चार कप लहसुन और अदरक से बना हुआ सूप पीएं। इसके अलावा नॉन वेजिटेरियन सूप की भी मदद ले सकते हैं।

वैसे तो नाक बंद की समस्या को दूर करने के लिए घरेलू उपाय का उपयोग कर सकते हैं। लेकिन अगर समस्या ज्यादा बढ़ जाए तो डॉक्टर को दिखाने में देरी ना करें। हो सकता है कि यह किसी गंभीर बीमारी के लक्षण हों। ऐसे में सतर्क रहें।

Read More Articles on Other Diseases in hindi

Disclaimer