रात में पनीर खाने से पहले अपनी बॉडी टाइप के बारे में जानें

कई लोगों का मानना है कि रात में पनीर के सेवन से बचना चाहिए। क्‍या सच में ऐसा है? आइए इस बारे में ग्रेटर कैलाश में स्थित स्‍माइल स्‍टूडियो की डायटिशियन कविता देवगन से जानें।

Pooja Sinha
स्वस्थ आहारWritten by: Pooja SinhaPublished at: Jul 06, 2017
रात में पनीर खाने से पहले अपनी बॉडी टाइप के बारे में जानें

पनीर सभी को बहुत पसंद होता है, विशेषकर बच्‍चों की यह पहली पसंद होता है। शाही पनीर, कढ़ाई पनीर, पालक पनीर और मटर पनीर को देखकर तो बच्‍चों का मन ललचाने लगता है। इसके अलावा  पनीर के पकौड़े, पनीर के पराठे, पनीर टिक्‍का और पनीर सैंडविच आदि के सामने आते ही बच्‍चे इस पर टूट पड़ते हैं। निसंदेह पनीर स्‍वाद के साथ-साथ सेहत के लिए भी बहुत अच्‍छा होता है। इससे उन्हें एक ऐसा पौष्टिक आहार मिलता है, जो कैल्शियम जैसे मिनरल तथा कई विटामिन से भरपूर होता है। साथ ही पनीर प्रोटीन और फैट एक ही मात्रा में शामिल होते हैं। इसलिए रोजाना के आहार में इन्‍हें शामिल करना चाहिए। लेकिन कई लोगों का मानना है कि रात में इसके सेवन से बचना चाहिए। क्‍या सच में ऐसा है? आइए इस बारे में ग्रेटर कैलाश में स्थित स्‍माइल स्‍टूडियो की डायटिशियन कविता देवगन से जानें

paneer in hindi

इसे भी पढ़ें : पनीर खाने के स्वास्थ्य लाभ के बारे में जानें

पनीर के फायदे

हड्डियों और दांत की मजबूती के लिए कैल्शियम जरुरी होता है। पनीर में कैल्शियम तथा फास्फोरस भरपूर मात्रा में होते है। ये दोनों हड्डी की मजबूती के लिए सबसे ज्यादा जरूरी होते है। इनकी जरुरत शरीर को हमेशा होती है। बच्चों को उनकी बढ़ती हुई हड्डियों के लिए यह आवश्यक है तो बड़ों को हड्डियों की मजबूती बने रहने के लिए। वजन कम करने के लिए ज्यादा प्रोटीन तथा कम कैलोरी वाला भोजन लेना चाहिए। इसके लिए पनीर बहुत उपयुक्त होता है। क्योंकि इसमें प्रोटीन अधिक और कैलोरी कम होती है। प्रोटीन के कारण ज्यादा भूख नहीं लगती इससे भी वजन कम होता है। प्रोटीन को पचने में कार्बोहाईड्रेट से अधिक वक्त लगता है। इसलिए प्रोटीन युक्त आहार लेने से जल्दी भूख नहीं लगती। पेट ज्यादा देर तक भरा हुआ महसूस होता है। ऐसे में ज्यादा खाना खाने से बच जाते है। यह वजन को कंट्रोल में रखने में सहायक बनता है।

 

रात में पनीर खाएं या ना खाएं

कई लोगों को रात में पनीर खाने से वॉटर रिटेंशन की समस्‍या हो जाती है, लेकिन कविता देवगन का कहना है कि रात में पनीर का सेवन करने से पहले अपनी बॉडी टाइप के बारे में जानना बेहद जरूरी है। फिर भी अगर आपका मन रात में कुछ चटपटी पनीर रेसिपी खाने का कर रहा हो तो उसमें पनीर और मौसमी सब्जियां दोनों को बराबर मात्रा में मिलाकर स्‍टर फ्राई करें। इसके बाद इसका सेवन करें। क्‍योंकि पनीर में सोडियम की मात्रा काफी अधिक पाई जाती है, जो सब्जियों में मौजूद पोटैशियम के साथ मिलकर हाई फाइबर डाइट में बदल जाती है।

इसे भी पढ़ें : रेस्टोरेंट स्‍टाइल में पंजाबी पालक पनीर की रेसिपी



इसके अलावा पनीर को घर में बनाने का प्रयास करें क्‍योंकि बाजार के पनीर में सोडियम की मात्रा काफी पाई जाती है जो व्‍यक्ति को वॉटर रिटेंशन की समस्‍या दे सकती है। कविता का यह भी कहना है कि रात में पनीर का सेवन करना चाहिए या नहीं! ऐसा कोई नियम नहीं है। हां, रात में सोने से तीन घंटे पहले भोजन कर लेना आपके लिए बेस्‍ट ऑप्‍शन है। साथ ही रात के भोजन में जितना कम कार्बोहाइड्रेट हो उतना बेहतर है।

इस तरह से आप खुद की बॉडी टाइप को जानने के बाद बेझिझक पनीर रेसिपी का मजा रात में भी ले सकते हैं।  


ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप


Image Source : Shutterstock.com

Read More Articles on Healthy Eating in Hindi

Disclaimer