बेमौसम सब्जी खाने की करते हैं गलती तो सुधार लें आदत, इसी तरह इन 7 गलतियों का सेहत पर पड़ता है असर

अक्सर हमसे रोजमर्रा की जिंदगी में कुछ ऐसी गलतियां हो जाती हैं जिसका भुगतान हमारी सेहत क पर पड़ता है। जानते हैं कौन सी हम गलतियां..

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Nov 12, 2020Updated at: Nov 12, 2020
बेमौसम सब्जी खाने की करते हैं गलती तो सुधार लें आदत, इसी तरह इन 7 गलतियों का सेहत पर पड़ता है असर

अक्सर हम अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में कुछ ऐसी गलतियां कर देते हैं जिसकी वजह से हमारी सेहत के खराब होने की आशंका बढ़ जाती है। उदाहरण के तौर पर बेमौसम की सब्जियां नहीं खानी चाहिए। दरअसल इन सब्जियों को उगाने के लिए जिस केमिकल का इस्तेमाल होता है उससे हमारी सेहत पर बहुत बुरा असर पड़ता है। अगर लगातार इनका सेवन किया जाए तो कैंसर, डायबिटीज, हाई बीपी, हड्डियों और मांसपेशियों की कमजोरी और कुपोषण जैसी गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। स्वाद को ध्यान में रखते हुए लोग बेमौसम चीजों का सेवन करते है, बाद में उन्हें अनेक समस्याएं होती हैं। ऐसी ही 7 गलतियों के बारे में हम आपको आज इस लेख के माध्यम से बताएंगे, जिनके द्वारा सेहत खराब होने का डर बढ़ जाता है। पढ़ते हैं आगे.. 

health issues

बेमौसम सब्जियों पर वैज्ञानिकों द्वारा कई शोध सामने आए हैं, जिनके अनुसार यह सिद्ध हो चुका है कि बैमौसम फलों सब्जियों का सेवन करने से शरीर को ज्यादा पोषक तत्वों की पूर्ति नहीं हो पाती है।

फ्रिज में सब्जियों को काट कर रखना

आपने देखा होगा अक्सर महिलाएं सब्जियों को पहले से काट कर फ्रिज में रख देती हैं लेकिन ऐसा करना गलत है कटे फल और सब्जियों में बैक्टीरिया के पनपने का डर बढ़ जाता है इसलिए कोशिश करें कि जिस वक्त सब्जी बनाएं उससे 1 घंटे या आधे घंटे पहले ही सब्जियों को काटकर पानी में भिगो दें। इससे इनकी ताजगी बनी रहती है।

हाइब्रिड और देसी फल सब्जियों की पहचान

ध्यान दें कि हाइब्रिड फल और सब्जियां आकार में बड़ी होती है क्योंकि उन्हें उगाने के लिए लैब में तैयार बीज का प्रयोग किया जाता है। हाइब्रिड सब्जियों की एक पहचान उनकी चमक भी होती है वह जरूरत से ज्यादा चमकदार होती हैं। दूसरी तरफ अगर देसी फल और सब्जियों की बात की जाए तो उनका आकार छोटा होता है। वहीं देसी सब्जियों की रंगत में चमक नहीं होती लेकिन यह हाइब्रिड की तुलना में ज्यादा पौष्टिक होते हैं। इनका छिलका भी खुदरा हुआ होता है। इसेलिए देसी फल और सब्जियों का सेवन करना ही सेहत के लिए लाभदायक है।

इसे भी पढ़ें-Milk Benefits: किस उम्र में कितना दूध है जरूरी? टोंड या डबल टोंड दूध क्यों हैं बेहतर, न्यूट्रिशनिस्ट से जानें

कीटाणु और गंदगी को साफ करने के लिए

अगर आप किसी भी फल या सब्जी में कीटनाशक या गंदगी को साफ करना चाहती हैं तो उसे उसका इस्तेमाल करने से पहले थोड़ी देर पानी में डुबोकर रखें। ऐसा करने से ना केवल गंदगी साफ होगी बल्कि उसके अंदर कोई कीटाणु भी होंगे तो वह खुद ब खुद मर जाएंगे।

इन सब्जियों के छिलके उतारना नहीं भूले

जमीन के भीतर जो सब्जियां उगाई जाती है उन सब्जियों के नाम इस प्रकार हैं- आलू, अरबी, अदरक, गाजर, मूली आदि इन शब्दों की सफाई बेहद जरूरी है। चूंकि यह जमीन के भीतर उगाई जाती हैं इसीलिए इन में गंदगी ज्यादा पाई जाती है ऐसे में इनके छिलके उतारना बेहद जरूरी है। 

इसे भी पढ़ें- सर्दियों में अमरूद हो सकता है सेहत के लिए फायदेमंद, न्यूट्रिशनिस्ट से लें जानकारी

सब्जियों को पॉलिथीन बैग में ना रखें

कुछ लोगों की आदत होती है कि वे सब्जियों को पॉलिथीन बैग में ज्यादा मात्रा में भरकर फ्रिज में रख देते हैं लेकिन ऐसा करना भी नुकसानदेह होता है। इसीलिए सब्जी को पॉलीथिन की बजाय सूती थैले में भरकर रखें। ध्यान रखें कि पॉलीथिन के इस्तेमाल से सेहत और पर्यावरण दोनों को हानि पहुंचती है इसीलिए पॉलीथिन का इस्तेमाल ना करें।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer