घुटनों और जोड़ों से आती है कट-कट जैसी या हड्डियों के चटकने की आवाज? एक्सपर्ट से जानें इसका कारण और इलाज

अगर आपके घुटनों से उठते-बैठते समय कट-कट की आवाज आती है या हड्डियां चटकने जैसी आवाज सुनाई देती है तो सावधान हो जाएं। डॉक्टर से जानें इसका इलाज।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Feb 23, 2021
घुटनों और जोड़ों से आती है कट-कट जैसी या हड्डियों के चटकने की आवाज? एक्सपर्ट से जानें इसका कारण और इलाज

आपने देखा होगा कुछ लोगों को उठते या बैठते समय हड्डियों के चटकने की आवाज आती है। यह हड्डियों की कमजोरी की निशानी है। अक्सर लोगों के उठते या बैठते समय घुटने, एड़ी या फिर अन्य जोड़ों से चटकने की आवाज सुनाई देती है। हड्डियों के चटकने की इस स्थिति को मेडिकल की भाषा में क्रेपिटस (Crepitus) कहा जाता है। हालांकि अभी तक हुए शोध और अध्ययन यह बताते हैं कि कई बार घुटनों (Knee) या हड्डियों के रोग से पीड़ित लोगों में ये आवाजें समस्या की शुरुआत का संकेत हैं इसलिए इसे अनदेखा करना भारी पड़ सकता है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक कई बार यह आवाज हमारे जोड़ों के बाहर स्थित मांसपेशियों के लिगामेंट्स या टेंडन की रगड़ की वजह से भी होने लगती है। ऐसी स्थिति को नजरंदाज करना जोखिम भरा हो सकता है। हमने इस मुद्दे को लेकर फरीदाबाद स्थित फोर्टिस एस्कॉर्ट्स हॉस्पिटल के ओर्थोपेडिक्स एंड जॉइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी के डायरेक्टर डॉ हरीश घूटा से बातचीत की। आइए पढ़ते हैं इस मुद्दे पर उन्होंने क्या कहा।

knee noises causes and treatment

किन लोगों को होती है घुटनों से आवाज आने की समस्या?

डॉ. हरीश ने बताया कि यह समस्या ज्यादातर अधिक उम्र वाले लोगों को होती है। इस समस्या का मुख्य कारण घुटने का सरफेस चिकना होने की जगह खुरदुरा हो जाना है। इस समस्या को कार्टिलेज की बीमारी बोला जाता है। कार्टिलेज के किसी भी वजह से खुरदुरा होने पर घटनों से इस प्रकार की आवाज आनी शुरू होती है। हड्डियों के बीच की चिकनाई (Lubricant) के ख़त्म होने की वजह से इस प्रकार की आवाज सुनाई देती है। घुटनों और जोड़ों के बीच की चिकनाई ख़त्म हो जाने की वजह से ही गठिया जैसे रोग भी जन्म लेते हैं। घुटनों, जोड़ों या हड्डियों के चटकने की आवाज आने पर ऑस्टियोपोरोसिस की भी समस्या हो सकती है। यह बीमारी गठिया से ही जुड़ी हुई मानी जाती है। इस स्थिति को नजरअंदाज करने से जोड़ या घुटने क्षतिग्रस्त भी हो सकते हैं। इस बीमारी के अधिक समय तक बने रहने से चलने फिरने में भी तकलीफ शुरू होती है। डॉ. हरीश ने बताया कि घुटनों से जुड़ी बीमारियों का जन्म यहीं से होता है और इस स्थिति को नजरंदाज करने से घुटने की सर्जरी भी करनी पड़ सकती है।

इसे भी पढ़ें: ठंडी हवा चलने पर बढ़ जाता है घुटनों और जोड़ों में दर्द? आजमाएं Luke Coutinho के बताए ये 3 जबरदस्त नुस्खे

हड्डियों या घुटनों के चटकने का कारण (Causes of Knee Noises)

ज्यादातर लोगों में तो यह बीमारी अधिक उम्र के बाद ही देखने को मिलती है लेकिन कभी-कभी कम उम्र के लोगों को भी इस बीमारी से जूझना पड़ सकता है। इस समस्या की सबसे कॉमन वजह बढ़ती उम्र और वजन का अधिक होना होता है। कम उम्र के लोगों में यह समस्या अधिक वजन होने की वजह से भी होती है। वजन बढ़ने के साथ-साथ शरीर में कैल्शियम की कमी से भी हड्डियों में कमजोरी और घुटनों तथा जोड़ों के चटकने की आवाज आती है। जोड़ों की चिकनाई ख़त्म होने और वजन अनियंत्रित होने से यह समस्या कम उम्र के लोगों में भी देखने को मिलती है। इस समस्या को नजरअंदाज करने से ऑस्टियोआर्थराइटिस जैसे गंभीर समस्या भी जन्म ले सकती है।

घुटनों और हड्डियों की इस समस्या के कैसे बचें (How to Prevent Knee Noises)

इस समस्या से बचने के लिए सबसे महत्वपूर्ण होता है हमारे वजन का बीएमआई के अनुपात में होना। BMI का सही अनुपात होने पर इस समस्या के होने का ख़तरा कम हो जाता है। रोजाना व्यायाम, संतुलित खानपान और वजन को संतुलित रखने से इस समस्या से नही जूझना पड़ सकता है। इसके अलावा अपनी रोजाना की डाइट में कुछ कल्शियम युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल कर हड्डियों को मजबूत कर सकते हैं जिसके बाद इस समस्या के होने का ख़तरा कम हो जाता है। घुटने और जोड़ों में होने वाली चटकने की आवाज को अनदेखा करना गठिया जैसी बीमारी को जन्म दे सकता है। इस प्रकार की समस्या होने पर चिकित्सक से परामर्श जरूर करें। हड्डियों को मजबूत करने के लिए कैल्शियम की उच्च मात्रा वाली इन चीजों को अपने आहार में जरूर शामिल करें।

इसे भी पढ़ें: घुटनों और जोड़ो के दर्द से राहत पाने के लिए घर में तैयार करें ये खास लेप, मिलेगी राहत

tips for healthy knees and joints

  • दूध, पनीर और अन्य डेयरी फूड्स।
  • हरी पत्तेदार सब्जियां।
  • हरे साग जैसे पालक आदि।
  • रोटी
  • गुड़ और चने का सेवन
  • मेथी के दाने को पानी में भिगोकर सुबह शाम खाएं

इस तरह कुछ बातों का ध्यान रखकर, खानपान में थोड़े बदलाव करके और अपना वजन नियंत्रित करके आप घुटनों की इस समस्या को समय रहते दूर कर सकते हैं, जिससे आगे चलकर ये किसी गंभीर बीमारी का रूप न ले।

Read More Articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer