क्या दस्त (डायरिया) और उल्टी में दही खाना चाहिए? एक्सपर्ट से जानें इसके फायदे और सावधानियां

डायरिया की समस्या में दही का सेवन करना आपके लक्षणों को कम करने के लिए लाभदायक हो सकता है। इससे पेट दर्द और उल्टी में आराम मिल सकता है। 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Apr 04, 2022Updated at: Apr 04, 2022
क्या दस्त (डायरिया) और उल्टी में दही खाना चाहिए? एक्सपर्ट से जानें इसके फायदे और सावधानियां

पेट खराब होना और लगातार बाथरूम जाना आपके लिए परेशानी भरा हो सकता है। डायरिया या दस्त के दौरान आपको बार-बार पेट दर्द, ऐंठन और मतली जैसी अन्य असहज लक्षण भी हो सकते हैं। अक्सर दस्त की समस्या होने पर खाने के तुरंत बाद या थोड़ी देर बाद आपको दस्त या उल्टी जैसा अनुभव हो सकता है। इससे आप पूरा दिन परेशान रहते हैं और कुछ खाने-पीने में भी आपको परेशानी होती है। लेकिन दही के सेवन से आप दस्त और उल्टी के लक्षणों को कम कर सकते हैं। यह स्थिति को और अधिक खराब होने से बचा सकता है। यह आपके लिए और अधिक फायदेमंद हो सकती है। अगर आपको लैक्टोज इंटॉलरेंस की समस्या है, तो आप दही का सेवन आसानी से कर सकते हैं। 

डायरिया में दही के फायदे

दही आपके दस्त, पेट दर्द और मतली को कम कर सकता है। दही में दस्त और अन्य गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल (जीआई) से संबंधित दिक्कतों को दूर करने की क्षमता होती है। दूसरी ओर दही में लाभकारी बैक्टीरिया (प्रोबायोटिक्स) पाए जाते हैं, जो दस्त के लक्षणों को कम करने में मदद करते हैं, जीवित प्रोबायोटिक्स आपके दस्त की परेशानी में लाभदायक साबित हो सकता है। 

Diarrhea-curd

Image Credit- Medical News Today

प्रोबायोटिक्स के फायदे 

दही दूध के जीवाणु किण्वन की प्रक्रिया के माध्यम से बनाया जाता है। दूध में मौजूद बैक्टीरिया लैक्टोज को लैक्टिक एसिड में बदलने में मदद करता है। यह दही को गाढ़ा करने में मदद करता है। यह आंत के लिए बेहद लाभकारी होता है। यह शरीर को ठंडा रखने के साथ हाइड्रेट रखने में भी मदद करता है। प्रोबायोटिक्स बैक्टीरिया तीव्र दस्त को कम करने में मदद कर सकते हैं, साथ ही क्लोस्ट्रीडियम डिफिसाइल से जुड़े दस्त को कम कर सकता है। 

इसे भी पढ़ें- बार-बार दस्‍त का लगना पेट में संक्रमण होने के हैं संकेत, एक्‍सपर्ट से जानें कारण, लक्षण और उपचार

किन चीजों का सेवन न करें 

दस्त की समस्या में ऐसे योगर्ट के सेवन से बचें, जिनमें चीनी की मात्रा अधिक हो क्योंकि बहुत अधिक चीनी आपके दस्त के लक्षणों को और खराब कर सकती है। दही खरीदते समय इस बात का ध्यान रखें कि उसमें प्रति 10 ग्राम चीनी की मात्रा कम हो। इसके अलावा अगर आपको लैक्टोज इंटॉलरेंस की दिक्कत है और आपको प्रोबायोटिक्स दही के सेवन करने से नुकसान हो रहा हो, तो तुरंत इसका सेवन बंद कर दें क्योंकि यह आपके दस्त की समस्या और अधिक बदतर बना सकता है। 

Diarrhea-curd

Image Credit- Nrdc

दस्त होने पर इन बातों का रखें ध्यान

1. डायरिया की समस्या होने पर खुद को हाइड्रेट रखना बेहद जरूरी होता है। वरना बार-बार बाथरूम जाने के कारण आपको डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। अगर आपके शरीर से इलेक्ट्रोलाइट्स की अधिक मात्रा निकल रही है, तो आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आप उतनी ही मात्रा में इलेक्ट्रोलाइट्स का सेवन करें। इसके लिए आप शोरबा, कम चीनी वाले ड्रिंक या किसी अन्य एनर्जी ड्रिंक का सेवन कर सकते हैं। 

2. कई लोग अधिक दस्त होने पर आहार की मात्रा कम कर देते हैं ताकि अधिक बार बाथरूम जाने की जरूरत न पड़े लेकिन इससे आपको नुकसान हो सकता है। इसलिए आपने खाने की मात्रा को नियमित रखने की कोशिश करें ताकि शरीर को पर्याप्त मात्रा में एनर्जी मिल सके। 

3. लैक्टोज युक्त पदार्थ का सेवन करने से बचें। अगर आपको समस्या हो, तो इस बात का खास ख्याल रखें। 

4. इसके अलावा साफ पानी पीने की कोशिश करें और अपने आसपास सफाई रखें। 

5. साथ ही अपनी पर्सनल हाइजीन को लेकर सतर्क रहें और घर का बना खाना खाने की कोशिश करें। 

6. तैलीय पदार्थों के सेवन से बचें वरना इससे आपकी दिक्कत और बढ़ सकती है। 

7. कैफीनयुक्त पेय पदार्थों का सेवन न करें। 

Main Image Credit- Eating Well

Disclaimer