Expert

क्या चीनी की तरह फलों की मिठास भी आपकी सेहत को नुकसान पहुंचाती है और वजन बढ़ाती है? जानें एक्सपर्ट से

चीनी में मौजूद शुगर तो सेहत के लिए नुकसानदायक होता है, लेकिन क्या फलों में मौजूद शुगर हेल्दी होता है? और क्या फलों के सेवन से भी वजन बढ़ता है? 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Jun 23, 2022Updated at: Jun 23, 2022
क्या चीनी की तरह फलों की मिठास भी आपकी सेहत को नुकसान पहुंचाती है और वजन बढ़ाती है? जानें एक्सपर्ट से

बचपन से हमें हमारी दादी-नानी खूब सारे फल और सब्जियों का सेवन करने को कहती थीं। फलों के सेवन से आप हेल्दी और स्वस्थ रह सकते हैं। इनमें कई तरह के विटामिन्स, एंटीऑक्सीडेंट्स और मिनरल्स पाए जाते हैं। ये आपको वजन कम करने, स्किन की समस्याओं को दूर करने और इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में मदद कर सकते हैं। फलों के सेवन से कई बीमारियों के लक्षणों को कम करने में भी मदद मिल सकती है। फलों को नैचुरल फास्ट फूड भी कह सकते हैं। अगर आपके पास समय की कमी है, तो आप ऑफिस या बच्चों के स्कूल में साबुत फल पैक करके दे सकते है। इससे उनकी सेहत अच्छी रहती है और दिमाग को भी फ्रेश रखने में मदद मिलती है। हालांकि फलों की मिठास को लेकर कई बार ये सवाल किया जाता रहा है कि फलों की मिठास अन्य प्रोडक्ट्स में मौजूद शुगर की मात्रा से अधिक होती है। इस कारण कई लोग फलों के सेवन से परहेज करते हैं कि कहीं इससे उनका शुगर लेवल न बढ़ जाए और साथ ही उन्हें इससे अपना वजन बढ़ने का भी डर रहता है। इस बात का पता लगाने के लिए हमने बात की गुड़गांव के डाइट क्लीनिक और डॉक्टर हब क्लीनिक की डायटीशियन अर्चना बत्रा से। 

फलों की मिठास के फायदे

1. नैचुरल मिठास 

फलों में नैचुरल मिठास पाई जाती है। इनमें फ्रुक्टोज और ग्लूकोज पाया जाता है, जो आपके शरीर के लिए फायदेमंद होता है। साथ ही यह शरीर में शुगर के लेवल को नहीं बढ़ाता है। वहीं चीनी और अन्य केमिकल्स मिले हुए प्रोडक्ट्स में शुगर की मात्रा ज्यादा होती है, जो आपके हेल्थ को नुकसान पहुंचा सकती है। चीनी में मौजूद फ्रक्टोस आपके मेटाबॉलिक रेट को कम कर सकता है। इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से ब्लड शुगर बढ़ने का खतरा रहता है और आप डायबिटीज जैसी समस्याओं के शिकार हो सकते हैं। 

fruits-sweetness

2. फाइबर से भरपूर फल

फलों में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। साथ ही में इसमें पानी की मात्रा भी होती है, जो पचने में काफी समय लेता है और यह आपके लिवर पर ज्यादा इफेक्ट नहीं डालता है। साथ ही इससे पेट लंबे समय तक भरा रहता है और आपको वजन कम करने में भी मदद मिलती है। वहीं अगर आप चीनी का सेवन करते हैं, तो इसमें मौजूद हाई फ्रक्टोस का पाचन करना थोड़ा मुश्किल होता है। इससे शरीर में इंसुलिन का बैलेंस भी खराब हो सकता है। 

3. एंटीऑक्सीडेंट्स और विटामिन्स का सोर्स 

आपको पता है कि हमारे शरीर के लिए  एंटीऑक्सीडेंट्स और विटामिन्स बहुत जरूरी होते हैं। ज्यादातर फलों में विटामिन सी, पोटेशियम और फोलेट आदि होते हैं। इसके सेवन से शरीर का कोलेस्ट्रोल लेवल और हाई ब्लड प्रेशर भी नियंत्रित रह सकता है। इसमें  पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स फ्री रेडिकल्स से लड़ने में मदद  करते हैं और आपकी स्किन ग्लोइंग नजर आती है। आप अपनी डाइट में सेब, संतरा, अंगूर, केला और चीकू आदि फलों को शामिल कर सकते हैं। 

इसे भी पढें- इन फलों को कभी न खाएं एक साथ, एक्सपर्ट से जानें कैसे सेहत पर पड़ सकता है बुरा असर

4. ग्लाइसेमिक इंडेक्स 

किसी भी फूड में को खाने से पहले  हमें उसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स जरूर चेक करना चाहिए  कि उसमें शुगर कंटेंट कितना है। ऐसे में आपको बता दें कि फलों का ग्लाइसेमिक इंडेक्स  रेडी टू ईट खाद्य पदार्थों की तुलना में कम होता है। इससे आपके शरीर का शुगर लेवल नहीं बढ़ता है। साथ ही डायबिटीज के रोगियों के लिए भी ये फल फायदेमंद होते हैं। आप अपने डॉक्टर की सलाह पर आप इसका सेवन कर सकते हैं। 

fruits-sweetness

5. पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद

फलों के सेवन से आपका पाचन तंत्र भी अच्छा रहता है। इसमें मौजूद घुलनशील फाइबर भोजन के पाचन में मदद कर सकता है और आपकी भूख को कम कर सकता है। इसके अलावा फलों के सेवन से अपच, गैस और एसिडिटी जैसी  दिक्कतें भी नहीं होती है। 

सावधानियां

वैसे तो फलों के सेवन के कोई नुकसान नहीं है लेकिन अगर आपको डायबिटीज या किसी खास तरह की समस्या है, तो फलों के सेवन से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें ताकि सेहत को किसी तरह से नुकसान न हो।

(All Image Credit- Freepik.com)

Disclaimer