कोरोना के डर से बार-बार आ रहा है पसीना और हो रही है घबराहट, तो इन टिप्स से मिलेगी मदद

कोरोना की दूसरी लहर में लोगों की मानसिक हालत बिगड़ने लगी है, ऐसे में पैनिक में न आएं और यहां बताई गई गतिविधियां करें।   

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiPublished at: May 04, 2021Updated at: May 04, 2021
कोरोना के डर से बार-बार आ रहा है पसीना और हो रही है घबराहट, तो इन टिप्स से मिलेगी मदद

कोरोना की दूसरी लहर ने लोगों को जितना शारीरिक रूप से परेशान किया है उससे कहीं ज्यादा मानसिक रूप से। मेडिकल सुविधाओं की कमी के चलते लोगों में नाउम्मीदी की भावनाएं आ गई हैं। जो कोविड पॉजिटिव हैं, उन्हें कोविड के गंभीर होने का डर है और जो कोविड पॉजिटिव नहीं है वह घर बैठे कोविड के डर से दिक्कत में है। बहुत से ऐसे भी मामले में आए कि किसी की कोविड रिपोर्ट भी नहीं आ पाई थी वो कोरोना के डर में ही मर गया। आजकल हर तरफ से कोविड से मौत की खबरों ने लोगों को पैनिक में डाल दिया है। यही वजह है कि अचानक घबराहट, पसीना आना, बेचैनी होना जैसी परेशानियां लोगों को हो रही हैं। इन परेशानियों से बाहर कैसे निकलें (How to deal with corona's panic condition), इसके बारे में हमने बात की मनोवैज्ञानिक तन्वी पारीक से। तन्वी अभी उत्तरी नगर निगम दिल्ली और पीसफुल माइंड फाउंडेशन के कॉलेबरेशन से सिविक सेन्टर में स्थापित 'फ्री स्ट्रेस मैनेजमेंट एंड कॉउंसलिंग सेन्टर' में  बतौर इंटर्न मनोवैज्ञानिक अपनी सेवाएं दे रही हैं। तन्वी ने बताया कि वर्तमान स्थिति पैनिक वाली है, पर आप जितना पैनिक लेंगे उतना आपकी परेशानियां बढ़ेंगी। उन्होंने कोरोना के पैनिक से बचने के लिए कुछ टिप्स दिए हैं। जो आपके बहुत काम आ सकते हैं। 

inside1_Coronapanictips

चिंता, तनाव या पैनिक को कम करने वाली एक्टिविटी

मनोवैज्ञानिक तन्वी ने बताया कि हमारे पास ऐसे बहुत से मरीज आते हैं जो पैनिक में होते हैं। इनमें कोरोना योद्धा भी तनाव झेल रहे हैं। जिन्हें रोजाना कोविड मरीजों की मदद करने के लिए बाहर जाना पड़ता है, ऐसे लोगों की भी वे काउंसलिंग करती हैं। यहां उन्होंने तुरंत पैनिक से बचने के लिए निम्न उपाय अपनाए हैं।

  • - गहरी सांसें लें
  • -अनुलोम विलोम करें
  • - सीधे खड़े हो जाएं
  • -लिखें ( लिखकर शांति मिले तो कुछ भी लिखो जो मन में हो)
  • - कुछ अच्छा सा तुरंत खाएं
  • -पानी पिएं
  • -गैजेट्स से थोड़ी देर दूर रहें
  • -कुछ ऐसा काम करो, जिससे प्यार हो और खुशी मिलती हो
  • -खुली हवा में कुछ देर घूमो (बाहर निकलकर नहीं, अपने ही घर में)
  • - गाने सुनें
  • -किसी से बात करें जो आपको पॉजिटिव एनर्जी दे सकता हो
  • - कुछ देर अपने दिमाग को आराम दें, आंखें बंद करके लेटे रहो

इसे भी पढ़ें : रक्त में ऑक्सीजन की कमी के पीछे कारण हो सकता है मानसिक स्ट्रेस, जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट

inside2_Mentalillnessduringcovid

5-5-5 नियम :

1. चारों तरफ देखो, 5 चीजें क्या दिख रही हैं,  उनकी दिमाग सूची बनाओ

2. 5 आवाजों की दिमाग मे list बनाओ जो सुनाई दे रही हों

3.  अपने शरीर के 5 part हिलाओ (जैसे कलाई घुमाओ, पैरों का मूवमेन्ट आदि )

इसे भी पढ़ें : मानसिक बीमारियों से जूझ रहे युवाओं के लिए कितना जरूरी है कोरोना वैक्सीन लगवाना? जानें मनोचिकित्सक से

4-7-8 नियम :

  • 4 सेकेंड सांस लो
  • 7 सेकेंड सांस रोको 
  • 8 सेकेंड सांस छोड़ो

( 4-7-8 रूल नींद न आए तो भी मददगार)

रोजाना किसी फिक्स टाइम पर सुबह-शाम करें ये एक्टिविटी

  • -15 min अपना फेवरेट काम करो जिसमें गैजेट का कम से कम उपयोग हो और मतलब थोड़ा फिजिकल एक्टिविटी हो या ऐसा काम जिसमें आप पूरी तरह खो जाओ
  • -फिर 10 min भ्रामरी, अनुलोम विलोम
  • -फिर 2-5 min आंखें बंद करके बैठो
  • अन्य गतिविधियां
  • -न्यूज़ कम देखें।
  • -अकेले न रहें।
  • -खाना समय पर खाते रहें।
  • -शरीर में पानी की कमी न होने दें।
  • -नॉर्मल बुखार हो तो बेसिक दवाइयां लेकर घर में ही ट्रीटमेंट लेते रहें, पैनिक होकर हॉस्पिटल न भागें।

कोरोना में पैनिक से बचने के लिए ऊपर बताई गई गतिविधियों पर अमल करके आप अपनी मानसिक हालत को ठीक कर सकते हैं। इस वक्त ज्यादा पैनिक में न आएं। खुद को मोटिवेट करते रहें। 

Read More Articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer