विटामिन डी की कमी से पुरूषों में प्रोस्टेट कैंसर का खतरा

विटामिन D, हमारी सेहत के लिए बहुत जरूरी होता है। इसकी कमी से बहुत सी बिमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है। एक शोध के मुताबिक पुरूषों में विटामिन डी की कमी प्रोस्टेट कैंसर के खतरे को भी बढ़ावा देती है।

Aditi Singh
कैंसरWritten by: Aditi Singh Published at: Mar 08, 2016
विटामिन डी की कमी से पुरूषों में प्रोस्टेट कैंसर का खतरा

विटामिन डी हमारी सेहत के लिए बहुत जरूरी होता है। आहारों के अलावा इसे सूरज की रोशनी से भरपूर मात्रा में पाया जा सकता है। विटामिन डी हड्डियों के लिए बहुत आवश्यक होता है।विटामिन डी हमारे शरीर को कई रोगों से निजात दिलाने में मदद करता है जैसे हृदय रोग, और बैक्टीरियल या वायरल संक्रमण आदि। विटामिन डी हमारी इम्युन सिस्टम को मजबूत बनाने में मदद करने के साथ- साथ मांसपेशियों को मजबूत, दांत, और हड्डियों के निर्माण के लिए महत्वपूर्ण है हाल ही में शोध के अनुसार विटामिन डी की कमी से पुरुषों में प्रोस्टेट कैंसर की गंभीरता का अनुमान लगाया जा सकता है।

  • अमेरिका की फ्रीनबर्ग स्कूल ऑफ मेडसिन से इस अध्ययन के मुख्य लेखक एडम मुर्फी ने बताया, "विटामिन डी की कमी एक बायोमार्कर के रूप में प्रोस्टेट कैंसर की भविष्यवाणी कर सकती है।
  • मुरफी के अनुसार विटामिन डी हड्डियों और अन्य बीमारियों की गंभीरता के लिए एक बायोमार्कर है, इसलिए सभी पुरुषों को अपने विटामिन डी के स्तर की जांच समय-समय पर कराती रहनी चाहिए।
  • जरूरी नहीं है कि विटामिन डी प्रॉस्टेट कैंसर को जड़ से ही मिटा देता है, मगर बचाव जरूर करता है। यह लो-ग्रेड प्रॉस्टेट कैंसर को बैलिस्टिक होने से रोकता है।
  • एक व्यक्ति को सर्जरी के जरिए प्रॉस्टेट ग्रंथि के सभी अवयव निकलवाने से पहले, बायोप्सी के बाद 60 तक इंतजार करना चाहिए, ताकि बयोप्सी के कारण हुआ सूजन कम हो सके। अगर इन 60 दिनों की अवधि के दौरान इन लोगों को विटामिन डी की खुराकें दी जाएं, तो प्रॉस्टेट कैंसर पर इसका असर पड़ेगा।


विटामिन डी की कमी से चिकित्सकों को वह जानकारी प्राप्त होगी, जिससे वह विचार कर सकते हैं कि इस रोग से पीड़ित मरीज के प्रोस्टेट को हटा देना चाहिए या फिर दवाओं से कंट्रोल करना चाहिए।


Image Source : Getty

Read More Article on Cancer in Hindi

Disclaimer