Doctor Verified

मुंह के छालों के लिए बेस्ट आयुर्वेदिक नुस्खा है बहेड़ा, जानें इसके उपयोग का सही तरीका

बहेड़ा एक आयुर्वेद‍िक औषधी है ज‍िसका इस्‍तेमाल अल्‍सर जैसी समस्‍या को दूर करने के ल‍िए क‍िया जाता है, जानते हैं इस्‍तेमाल का तरीका

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Mar 28, 2022Updated at: Mar 28, 2022
मुंह के छालों के लिए बेस्ट आयुर्वेदिक नुस्खा है बहेड़ा, जानें इसके उपयोग का सही तरीका

अक्‍सर आपको मुंह के छालों की समस्‍या हो जाती होगी। मुंह में छालों की समस्‍या को दूर करने के ल‍िए आप बहेड़ा का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। बहेड़ा की बात करें तो ये पूरे भारत में पाया जाता है, मुख्‍य रूप से ये मैदानी और पहाड़ी क्षेत्र में पाए जाने वाला पेड़ है। इस लेख में हम अल्‍सर की समस्‍या को दूर करने के ल‍िए बहेड़ा को इस्‍तेमाल करने का तरीका जानेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की। 

baheda herb

image source: amazon.com

बहेड़ा क्या है? (What is baheda in hindi)

बहेड़ा को आप त्र‍िफला का एक ह‍िस्‍सा कह सकते हैं। गर्मी का मौसम आते ही इसकी टहनी पर फूल ख‍िलते हैं। वसंत के पहले तक इसमें फल पक जाते हैं। बहेड़ा के फल का इस्‍तेमाल आप मुंह के छाले, सूजन, दर्द आद‍ि समस्‍या को दूर करने के ल‍िए कर सकते हैं। मुंह के छाले ठीक करने के ल‍िए बहेड़ा को फायदेमंद माना जाता है, आप इसे कई तरह से इस्‍तेमाल कर सकते हैं जैसे-  

1. बहेड़ा की छाल का इस्‍तेमाल (Use of bahega bark)

बहेड़ा की छाल बहुत उपयोगी मानी जाती है। बहेड़ा की छाल का इस्‍तेमाल करने के ल‍िए आप बहेड़ा की छाल को पीसकर चूर्ण बना लें और उसे गरम पानी में डालकर उबालें, धीरे-धीरे पानी गाढ़ा होने लगेगा। अब इसे घूंट भरकर प‍िएं इससे आपको आराम म‍िलेगा और अल्‍सर जल्‍दी ठीक हो जाएंगे। बहेड़ा के चूर्ण में आप घी म‍िलाएं और उसे छाले पर लगाएं इससे भी आराम म‍िलेगा और छाले ठीक हो जाएंगे।     

इसे भी पढ़ें- महुआ का फल खाने से सेहत को मिलते हैं ये 4 फायदे, जानें क्या है इसे खाने का बेस्ट तरीका

2. बहेड़ा के फूल का इस्‍तेमाल (Use of baheda flower)

आप बहेड़ा के फूल से भी अल्‍सर जैसी समस्‍या को दूर कर सकते हैं। आप बहेड़ा के फूल और पत्‍तों को सुखा लें और म‍िक्‍सी में पीस लें अब जो चूर्ण तैयार होगा उसमें गुड़ म‍िला लें और आपको इस चूर्ण को सुबह-शाम इस्‍तेमाल करना है। इससे अल्‍सर की समस्‍या या कफ की समस्‍या दूर होगी। बहेड़ा के फूल को इस्‍तेमाल करने का एक और तरीका है। बहेड़ा के फल को भूनकर आप पाउडर बना लें और उसमें एक चम्‍मच शहद म‍िलाएं और उसे छालों पर लगाएं तो दर्द और सूजन से राहत म‍िलेगी।      

3. बहेड़ा के बीज का इस्‍तेमाल (Use of baheda seed)

baheda use

image source: redmiresdentalcare

बहेड़ा के सूखे फलों के बीज का इस्‍तेमाल आप अल्‍सर की समस्‍या को दूर करने के ल‍िए कर सकते हैं। आप बहेड़ा के बीज को पीस लें और अल्‍सर पर लगाएं इससे अल्‍सर के दर्द और आसपास के ह‍िस्‍से में नजर आ रही सूजन से राहत म‍िलेगी। बहेड़ा के छ‍िलके को चूसने से खांसी में आराम म‍िलता है, अगर आपके मुंह में छाले हो गए हैं तो आप दूध में बहेड़ा डालकर उसे पकाएं और पी लें इससे खांसी भी ठीक हो जाएगी और अल्‍स्‍र की समस्‍या भी दूर होगी।  

इसे भी पढ़ें- अशोक के पेड़ की छाल से दूर होती हैं ये 6 समस्याएं, आयुर्वेदाचार्य से जानें कैसे करें इस्तेमाल 

4. बहेड़ा की छाल का पेस्‍ट (Baheda bark paste)

आप बहेड़ा की छाल का पेस्‍ट बनाकर उसे मुंह के अल्‍सर पर लगाएं तो भी वो ठीक होने लगेगा और सूजन कम होगी। सही मात्रा की बात करें तो आप एक द‍िन में बहेड़ा को 5 से 7 ग्राम ही इस्‍तेमाल कर सकते हैं। बहेड़ा की छाल को पीसकर आप उसमें शहद म‍िलाकर पेस्‍ट तैयार करें और उस पेस्‍ट को भी आप मुंह के छाले ठीक करने के ल‍िए इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

मुंह के छाले ठीक करने के ल‍िए बहेड़ा के फल का इस्‍तेमाल सबसे अच्‍छा तरीका है ज‍िससे आप कम समय में ही छाले की समस्‍या से न‍िजात पा सकेंगे। आप डॉक्‍टर की सलाह के बगैर इसका ज्‍यादा इस्‍तेमाल न करें। अगर आप अध‍िक मात्रा में बहेड़ा का सेवन कर लेंगे तो आपको उल्‍टी या दस्‍त की समस्‍या हो सकती है।

main image source: flowersofindia, mainlinehealth

Disclaimer