दिल की सेहत को नुकसान पहुंचाती हैं ये चीजें, जानें बचाव के लिए क्या करें

आपका दिल बहुत नाजुक अंग है। कई गलत आदतें और समस्याएं इसे नुकसान पहुंचा सकती हैं। जानें इनसे कैसे बचाव करें।

Monika Agarwal
हृदय स्‍वास्‍थ्‍यWritten by: Monika AgarwalPublished at: Apr 29, 2022Updated at: Apr 29, 2022
दिल की सेहत को नुकसान पहुंचाती हैं ये चीजें, जानें बचाव के लिए क्या करें

दिल की बीमारियां सबसे घातक बीमारियों में से एक मानी जाती हैं। मैक्स हॉस्पिटल के कार्डियक साइंसेस डिपार्टमेंट के चेयरमैन डॉ बलबीर सिंह के मुताबिक अक्सर देखा गया है कि भारत में महिलाएं अपनी सेहत के प्रति कम गंभीर होती हैं। ज्यादातर महिलाएं दिल संबंधित रोगों के शुरुआती लक्षणों को नजरंदाज कर देती हैं क्योंकि वे बहुत सामान्य होते हैं जैसे- थकान, सांस फूलना, सीने में हल्का दर्द आदि। आजकल महिलाओं में मृत्यु दर बढ़ने का एक बड़ा कारण दिल की बीमारियां भी हैं। इसलिए आपको अपने दिल की सेहत को काफी गंभीरता से लेना चाहिए। आप अपनी लाइफस्टाइल में बदलाव करने जैसे ऐसे बहुत से कदम उठा सकती हैं जिनके कारण आपका दिल स्वस्थ रह सके । आइए जानते हैं दिल की सेहत को ठीक करने के लिए आप क्या क्या कर सकती हैं।

धूम्रपान है नुकसानदायक

धूम्रपान करने से आपके दिल को नुकसान पहुंचता है फिर चाहे आप कभी-कभार ही धूम्रपान क्यों न करते हों। स्मोकिंग करना सिर्फ आपके दिल के लिए ही नहीं बल्कि आपके फेफड़ों और दिमाग के लिए भी हानिकारक है। अगर आपको धूम्रपान करने की आदत लग गई है तो इसे तुरंत छोड़ने का प्रयास करें। फिर चाहे इसके लिए डॉक्टर के पास जाना हो या खुद पर नियंत्रण रखना हो, तभी आप स्वस्थ और सेहतमंद जिंदगी जी पाएंगे।

देर तक बैठे रहना है नुकसानदायक

अगर बहुत लंबे समय तक एक ही जगह पर बैठी रहती हैं तो इससे भी आपके दिल पर गहरा असर पड़ता है और बीमारियों का खतरा बढ़ता है। बैठे रहने से ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर दोनों ही बढ़ते हैं। बैठने पर हमारे पैरों की मसल्स ज्यादा सिकुड़ नहीं पातीं और इस कारण ब्लड में फैटी एसिड्स को ब्रेक करने का काम नहीं कर पातीं। इस कारण ब्लड शुगर बढ़ जाता है।

heart related issues

इंफ्लेमेशन के कारण हार्ट रिस्क

इंफ्लेमेशन को सूजन कहते हैं। वैसे तो शरीर में सूजन को सही नहीं माना जाता है, लेकिन सूजन हमारे शरीर का चोट या ट्रॉमा आदि से प्राकृतिक रूप से रिकवर होने का एक तरीका है। इसलिए सूजन होना बुरा नहीं है। लेकिन अगर क्रोनिक इंफ्लेमेशन से जूझ रहे हैं तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं है। इससे दिल की बीमारियों का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। इंफ्लेमेशन से रूमेटॉयड अर्थराइटिस और मोटापा जैसी बीमारियों का रिस्क भी बढ़ता है। इसे कम करने के लिए एक्सरसाइज जरूर करें।

दिल को स्वस्थ रखने के लिए क्या करें

आइए जानते हैं आप अपने दिल को कैसे स्वस्थ रख सकते हैं। दिल को स्वस्थ रखने के लिए लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव जरूरी हैं।

स्ट्रेस ज्यादा न लें

मानसिक रूप से ज्यादा तनाव से घिरे रहना भी आपकी दिल की सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है। ज्यादा स्ट्रेस लेने से ब्लड प्रेशर और इंफ्लेमेशन बढ़ता है। जो दोनों ही हृदय रोगों के रिस्क फैक्टर हैं। स्ट्रेस को कम करने के लिए योग और मेडिटेशन का सहारा लें। अगर फिर भी मदद नहीं मिलती है तो थेरेपी ट्राई कर सकते हैं।

हेल्दी ईटिंग प्लान  

अगर आप उन सब चीजों को अपनी डाइट में शामिल करती हैं जो आपके दिल के लिए लाभदायक है तो इससे भी आपका दिल स्वस्थ रह सकता है। इसके लिए आपको प्रोसेस्ड फूड को डाइट से कम कर देना चाहिए, नमक भी सीमित मात्रा में ही खाएं, सिंपल कार्ब्स को कम कर दें, ज्यादा से ज्यादा फल और सब्जियों को अपनी डाइट में शामिल करें और सैचुरेटेड फैट का सेवन भी सीमित कर दें।

कार्डियो और स्ट्रेंथ ट्रेनिंग 

एक्सरसाइज को एक बहुत बढ़िया हार्ट बूस्टर माना जाता है। इससे आपका ब्लड प्रेशर सामान्य रहता है, स्ट्रेस लेवल बैलेंस रहता है। आपकी मसल्स भी ब्लड तक पर्याप्त ऑक्सीजन पहुंचा पाती हैं। इसलिए रोजाना कार्डियो या स्ट्रेंथ ट्रेनिंग जैसी एक्सरसाइज जरूर करें।

अपने वजन, ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर को नियंत्रित रखना आपके दिल के लिए ही नहीं बल्कि पूरे स्वास्थ के लिए लाभदायक है। इसके अलावा आपको अपने परिवार जनों की हार्ट हेल्थ की हिस्ट्री पता होनी चाहिए क्योंकि कई बार कई रोग जेनेटिक भी होते हैं।

Disclaimer