बॉडी टाइप के अनुसार कैसे घटाएं वजन? न्यूट्रीशनिस्ट से जानें आपकी बॉडी के अनुसार आपके लिए सही वेट लॉस डाइट

हर किसी का बॉडी टाइप अलग होता है। अगर उन्हें वजन घटाना है तो उन्हें अपनी बॉडी टाइप के अनुसार अपनी डाइट करनी पड़ेगी। तभी फायदा मिलेगा।

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiPublished at: Jul 05, 2021Updated at: Jul 05, 2021
बॉडी टाइप के अनुसार कैसे घटाएं वजन? न्यूट्रीशनिस्ट से जानें आपकी बॉडी के अनुसार आपके लिए सही वेट लॉस डाइट

हम सभी की बॉडी अलग तरह की होती है। यही वजह है कि हम जो खाते हैं उसका असर हर बॉडी में अलग तरह से दिखाई देता है। हर बॉडी में मोटापा शरीर के अलग-अलग हिस्सों में अलग तरह से बढ़ता है। किसी का बैली फैट ज्यादा बढ़ता है तो किसी का हिप, या बाजू का मोटापा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आप अपने बॉडी टाइप के अनुसार अपना वजन कम कर सकते हैं। नमामी लाइफ में न्यूट्रीशनिस्ट डॉ. शैली तोमर का कहना है कि हर बॉडी टाइप का मोटापा कम करन के लिए अलग डाइट को फॉलो करना पड़ता है। तब मोटापा कम होता है। फिर उसे नियंत्रण में रखने के लिए भी डाइट को फॉलो करना पड़ता है। 

Inside2_weightlosstips

कोरोना से पहले लोग थोड़ी बहुत एक्सरसाइज करते थे, तो वजन नियंत्रण करने के नियमों को भी फॉलो कर पाते थे, लेकिन कोरोना ने मोटापा की समस्या को और बढ़ा दिया है। घरों तक सिमटा जीवन कोरोना के अलावा अन्य बीमारियों का कारण बन गया है। कोरोना की तरह मोटापा भी एक महामारी है। यह मोटापा मधुमेह, अनिद्रा, हृदय रोग आदि का जनक भी है। आज के इस लेख में डॉ. शैली तोमर से जानेंगे कि किस बॉडी टाइप के व्यक्ति को किस तरह की डाइट लेनी चाहिए जिससे उनका मोटापा कम हो या जिनका वजन कम है, वे कैसी डाइट लें, जिससे वजन बढ़ जाए।

क्या है बॉडी टाइप?

न्यूट्रीशनिस्ट शैली तोमर का कहना है कि हम सभी अलग बॉडी शेप और आकार में आते हैं, लेकिन जब बात बॉडी टाइप की होती है तब यह 3 प्रकार के होते हैं। 1. पतला शरीर (ectomorph), 2. गोल-मटोल (endomorph) और  मध्यम (mesomorph)। तो आइए जानते हैं इन बॉडी टाइप के बारे में विस्तार से।

पतला शरीर (Ectomorph)

इस प्रकार के बॉडी टाइप पतले और लंबे होते हैं। इन लोगों के लंबे हाथ और पैर होते हैं। ऐसे लोगों में जल्दी वजन बढ़ता नहीं है और कम मांसपेशी द्रव्यमान ( low muscle mass) होता है। इनमें बॉडी फैट कम होता है। इनकी शारीरिक संरचना पतली होती है और इनकी हड्डियां भी पतली होती हैं। ये दिखने में कमजोर होते हैं और और तनाव में रहते हैं। इन लोगों की स्किन ड्राइहोती है और बाल झड़ने की समस्या होती है। 

inside12_Ladyfingerduringpregnancy

गोलू-मोलू टाइप बॉडी (Endomorph)

ये लोग दिखने में गोलू-मोलू टाइप होते हें। इनमें बॉडी फैट ज्यादा होता है। ये लोग जल्दी वजन गेन करते हैं और इनकी बॉडी चौड़ी होती है व इनके कंधे चौड़े होते हैं। इनकी हड्डियां भारी होती हैं। इनकी हाइट कम होती है। इन लोगों को वजन कम करने में दिक्कत होती है। इन लोगों का मेटाबॉलिज्म स्लो होता है और ऐसे लोगों में थायरॉयड इशुज, कब्ज, हाई कोलेस्ट्रोल या मधुमेह की समस्याएं होती हैं। अगर ऐसे लोग ज्यादा वजन गेन करते हैं तो पेड़ू पर सबसे ज्यादा दिखता है। इसे एपल बॉडी शेप कहते हैं। अगर जांघों या हिप्स पर ज्यादा वजन बढ़ता है तो पियर शेप्ड बॉडी टाइप कहते हैं। 

मध्यम (Mesomorph) बॉडी टाइप

मध्यम बॉडी टाइप के लोग एक्टोमोर्फ और एंडोमोर्फ दोनों के बीच में होते हैं। इन्हें मध्यम बॉडी टाइप कहा जाता है। ये लोग न ज्यादा मोटे होते हैं और न ज्यादा पतले। इनका सिमेंट्रीकल बॉडी प्रोफाइल होता है। ऐसे लोगों के कंधे चौड़े होते हैं और कमर पतली। ऐसे लोगों का वजन कहीं ज्यादा कम और कहीं कम नहीं होता है। सब जगह बराबर होता है। ऐसे लोगों का वजन जल्दी बढ़ता भी है और घटता भी है। 

न्यूट्रीशनिस्ट शैली तोमर का कहना है कि इसी तरह का बॉडी टाइप के प्रकार आयुर्वेद में भी किए गए हैं। वात, पित्त और कफ। जिन लोगों में वात होता है वे कमजोर होते हैं और वजन जल्दी गेन नहीं करते हैं। कफ वाले लोग जल्दी वजन गेन कर लेते हैं। साथ ही इनकी हाइट कम होती है। पित्त वाले लोग बैलेंस बॉडी टाइप हो 

इसे भी पढ़ें : लंबे समय तक वजन कंट्रोल रखना है, तो Rujuta Diwekar से जानें वेट लॉस के सबसे जरूरी नियम

बॉडी टाइप के अनुसार डाइट

पतले लोगों के के लिए डाइट (Diet for Ectomorph)

  • ऐसे लोग जल्दी वजन ग्रहण नहीं करते हैं क्योंकि इनका मेटाबॉलिज्म तेज होता है। इसलिए इन लोगों को कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन का अच्छा इनटेक करना पड़ता है। 
  • ऐसे लोगों को कभी भी डाइट स्किप नहीं करनी चाहिए। 
  • एक्टोमोर्फ बॉडी टाइप वाले लोग कार्बोहाइड्रेट में रागी, गेहूं, ज्वार, बाजरा, ओट्स, चौलाई आदि ले सकते हैं। 
  • हर मील के बाद प्रोटीन जैसे दाल, चना आदि लेना चाहिए। इन्हें ब्रेकफास्ट में भी ले सकते हैं। लंच में दाल और पनीर जैसे प्रोटीन ले सकते हैं।
  • ऐसे लोगों को अच्छी मात्रा में वसा जैसे घी, बादाम, अखरोट, पिस्ता आदि खाना चाहिए। 

सावधानी

जिन लोगों का शरीर पतला होता है उन्हें ज्यादा भारी एक्सरसाइज नहीं करनी चाहिए। ऐसे लोग रनिंग और जंपिंग जैसी एक्सरसाइज कर सकते हैं। ऐसे लोग मांसपेशियों में वजन बढ़ाने के लिए वेट लिफ्टिंग आदि कर सकते हैं।

Inside3_weightlosstips

इसे भी पढ़ें : मानसून में वजन घटाना चाहते हैं या बढ़ते वजन को कंट्रोल करना चाहते हैं तो डाइट में करें ये 5 बदलाव

मोटे शरीर के लिए डाइट (Diet for Endomorph)

  • जिन लोगों का शरीर मोटा होता है उन्हें फाइबर अधिक मात्रा में लेना चाहिए। क्योंकि इन लोगों को कब्ज की परेशानी अधिक होती है। 
  • ये लोग फल, सब्जियां जैसे सूप, सलाद, स्मूदिज आदि ले सकते हैं। 
  • एंडोमोर्फ लोग जल्दी वजन गेन करते हैं। इसलिए ऐसे लोगों को कार्बोहाइड्रेट्स की मात्रा बैलेंस तरीके से लेनी चाहिए। मोटे टाइप के लोग अगर दिन में तीन रोटी खाते हैं तो उसको 2 ही खानी चाहिए। डिनर में हल्का खाना खाना है। अगर हो सके तो हफ्ते में 2-3 बार सूप ले सकते हैं। 
  • ऐसे लोगों को फैटी फूड्स खाने से बचना चाहिए क्योंकि कोलेस्ट्रोल बढ़ने का खतरा रहता है। इन लोगों को ऑइली फूड्स को अवोइड करना है। 
  • ऐसे लोगों के लिए हाई इंटेंसिटी इंटरवल ट्रेनिंग जैसी एक्सरसाइज फायदेमंद हैं। 
  • मोटे लोगों को हर्बल फैट कटिंग चाय जैसे तुलसी अदरक की चाय, जीरा-मेथी की चाय आदि की सेवन दिन में 1-2 बार करना चाहिए। इससे उन्हें फायदा मिलेगा। 
  • Inside1_weightlosstips

मध्यम बॉडी टाइप के लिए डाइट (Diet for Mesomorph)

  • जिन लोगों की बॉडी न ज्यादा मोटी है और न ज्यादा पतली है उन्हें बैलेंस मील लेनी चाहिए। कार्बोहाइड्रेट और प्रोटान बराबर मात्रा में लेना चाहिए। इन लोगों को गेहूं, ज्वार, बाजरा, रागी, ओट्स, दाल, चना, राजमा आदि समान मात्रा में खाना चाहिए। 
  • ऐसे लोग जल्दी ही वजन को बढ़ा लेते हैं और जल्दी ही घटा लेते हैं, इसलिए इन्हें अपने शरीर के अनुसार भोजन करना चाहिए। 
  • दही, पनीर, दूध या नॉन वेज जैसे अंडा, मछली आदि मध्यम शरीर के टाइप के लोगों के लिए फायदेमंद होती है। 
  • ज्यादा नमक या ज्यादा खट्टे खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • ऐसे लोगों को कार्डियो एक्सरसाइज व योग आदि कर सकते हैं। 

हर किसी का बॉडी टाइप अलग होता है। अगर उन्हें वजन घटाना है तो उन्हें अपनी बॉडी टाइप के अनुसार अपनी डाइट करनी पड़ेगी। ताकि हर बॉडी टाइप को उसकी जरूरत के अनुसार डाइट मि सके। 

Read More Articles On Weight Management in Hindi

Disclaimer