Doctor Verified

प्रेग्नेंसी में हड्डियों के दर्द और कमजोरी से बचाव के लिए अपनाएं ये 5 टिप्स, शिशु को भी मिलेगा फायदा

प्रेग्नेंसी के दौरान हड्ड‍ियों को दर्द और कमजोरी से बचाने के लि‍ए आप इन आसान ट‍िप्‍स को फॉलो कर सकती हैं

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Dec 29, 2021 12:13 IST
प्रेग्नेंसी में हड्डियों के दर्द और कमजोरी से बचाव के लिए अपनाएं ये 5 टिप्स, शिशु को भी मिलेगा फायदा

प्रेग्नेंसी के दौरान हड्ड‍ियों का खास ख्‍याल रखने की जरूरत होती है नहीं तो हड्ड‍ियों में दर्द और कमजोरी की समस्‍या हो सकती है। प्रेग्नेंसी और ब्रेस्‍टफीड‍िंग के दौरान, मह‍िलाओं के शरीर की बनावट में फर्क आता है ज‍िससे हड्ड‍ियों पर इसका असर पड़ता है। मां के गर्भ में पल रहे बच्‍चे की हड्ड‍ियों के व‍िकास के ल‍िए उसे मां के शरीर से ही कैल्‍शियम म‍िलता है। अगर मां के शरीर में ही कैल्‍श‍ियम की कमी होगी या हड्ड‍ियां कमजोर होंगी तो श‍िशु पर इसका बुरा असर देखने को म‍िल सकता है। ब्रेस्‍टफीड‍िंग करवाने वाली मह‍िलाएं अपने बोन मांस का 3 से 5 प्रत‍िशत लूस करती हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान बोन्‍स हेल्‍थ से जुड़े तरीके हम इस लेख में आगे जानेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के झलकारीबाई अस्‍पताल की गाइनोकॉलोज‍िस्‍ट डॉ दीपा शर्मा से बात की।

pregnancy and exercise

image source:babycenter

1. प्रेग्नेंसी में एक्‍सरसाइज से हड्ड‍ियों को रखें मजबूत (Exercise)

प्रेग्नेंसी में बोन्‍स को मजबूत रखने के ल‍िए एक्‍सरसाइज करना जरूरी है। प्रेग्नेंसी के दौरान की जाने वाली एक्‍सरसाइज की बात करें तो आप वॉक‍िंग, सीढ़ी चढ़ना, डांस करना आद‍ि एक्‍ट‍िव‍िटी चुन सकते हैं। बोन्‍स मजबूत करने के अलावा प्रेग्नेंसी में एक्‍सरसाइज करने से एनर्जी बढ़ती है, मूड ठीक होता है, पॉश्‍चर मेनटेन होता है, नींद अच्‍छी आती है, बॉडी शेप ठीक होता है, मसल्‍स टोन्‍ड होती हैं, उन्‍हें मजबूती म‍िलती है आद‍ि। आप प्रेग्नेंसी में एक्‍सरसाइज करेंगी तो न स‍िर्फ मां बल्‍क‍ि होने वाले बच्‍चे की सेहत भी अच्‍छी रहेगी।

इसे भी पढ़ें- मिसकैरेज के बाद दोबारा मां बनने का सोच रही हैं तो इन 5 बातों पर जरूर दें ध्यान, एक्‍सपर्ट से जानें जरूरी सलाह

2. प्रेग्नेंसी के दौरान कैल्‍श‍ियम का सेवन क्‍यों जरूरी है? (Calcium)

कैल्‍श‍ियम की जरूरत प्रेग्नेंसी की हर स्‍टेज में होती है। मां और होने वाले बच्‍चे के ल‍िए बैलेंस्‍ड डाइट के साथ कैल्‍श‍ियम, एक्‍सरसाइज और हेल्‍दी लाइफस्‍टाइल जरूरी होता है। कैल्‍श‍ियम का महत्‍व प्रेग्नेंसी के दौरान बढ़ जाता है क्‍योंक‍ि ब्रेस्‍टफीड‍िंग और प्रेग्नेंसी के दौरान आपके शरीर को इसकी जरूरत होती है। अगर आप पर्याप्‍त मात्रा में कैल्‍श‍ियम का सेवन नहीं करेंगी तो ऑस्‍ट‍िपोरोस‍िस की समस्‍या हो सकती है इसके साथ ही गर्भस्‍थ श‍िशु का वजन बढ़ने के साथ, होने वाली मां की हड्ड‍ियों में दर्द भी बढ़ सकता है इसल‍िए आपके ल‍िए जरूरी है क‍ि आप पर्याप्‍त मात्रा में कैल्‍श‍ियम का सेवन करें।

3. हड्ड‍ियों को मजबूत रखने के ल‍िए प्रेग्नेंसी में कैल्‍श‍ियम की क‍ितनी मात्रा लें? (Quantity of calcium)

calcium and pregnancy

image source:babycenter

प्रेग्नेंसी में गर्भवती मह‍िलाओं को 1 हजार एमजी कैल्‍श‍ियम लेना चाह‍िए। इसके साथ ही बोन्‍स हेल्‍थ को बनाए रखने के ल‍िए डॉक्‍टर आपको व‍िटाम‍िन और म‍िनरल सप्‍लीमेंट भी दे सकते हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान अगर आप कैल्‍श‍ियम र‍िच फूड्स का सेवन करेंगी तो हड्ड‍ियों को मजबूती म‍िलेगी और बच्‍चे व मां की सेहत तंदुरुस्‍त रहेगी। कैल्‍श‍ियम र‍िच फूड्स की बात करें तो आप लो फैट डेयरी प्रोडक्‍ट्स में दही, म‍िल्‍क, चीज़ को अपनी डाइट में शाम‍िल कर सकते हैं। न्‍यूट्रिशनल फूड्स की बात करें तो आप टोफू, बादाम, कॉर्न खा सकते हैं वहीं संतरे के जूस, स‍िर‍ियल, ब्रेड में भी कैल्‍श‍ियम होता है इसके अलावा आपको हरी सब्‍ज‍ियां जैसे ब्रोकली, पालक, मोरंगा पत्‍त‍ियों का सेवन करना चाह‍िए। 

4. प्रेग्नेंसी के दौरान व‍िटामि‍न डी की जरूरत (Vitamin D)

हड्ड‍ियों को मजबूत रखने के ल‍िए आप व‍िटाम‍िन डी र‍िच फूड्स का सेवन करें। धूप सेंककर भी आपके शरीर को व‍िटामि‍न डी म‍िल सकता है। अगर आप पहले से आयरन सप्‍लीमेंट ले रही हैं तो उसके साथ व‍िटाम‍िन डी सप्‍लीमेंट लेने से बचें। व‍िटाम‍िन डी सप्‍लीमेंट से कब्‍ज की समस्‍या भी हो सकती है। आप सुबह के समय सर्द‍ियों की धूप का आनंद लें तो आपके शरीर को व‍िटाम‍िन डी की पूर्ति हो जाएगी।

इसे भी पढ़ें- पीर‍ियड्स से पहले सफेद पानी (व्हाइट डिस्चार्ज) होने के क्या कारण हो सकते हैं? व‍िशेषज्ञ से जानें उपचार 

5. प्रेग्नेंसी के दौरान माल‍िश करें (Massage)

हड्ड‍ियों को मजबूत रखने के ल‍िए आप तेल से हाथ-पैरों की माल‍िश कर सकती हैं। जैसे-जैसे ड‍िलीवरी का समय नज़दीक आता है, आपके जोड़े या मांसपेश‍ियों में दर्द बढ़ सकता है ज‍िससे बचने के ल‍िए आपको माल‍िश करवानी चाह‍िए। इसके साळा ही ध्‍यान रखें क‍ि आप करवट लेकर सोएं और पैरों के बीच तक‍िया लगा होना चाह‍िए, इससे आप हड्ड‍ियों में होने वाले दर्द से बच सकते हैं।

प्रेग्नेंसी के दौरान बहुत ज्‍यादा मीठा खाने से बचें, इससे आपका ज्‍यादा वजन बढ़ सकता है जो क‍ि आपकी हड्ड‍ियों के ल‍िए नुकसानदायक होता है, हेल्‍दी प्रेग्नेंसी बरकरार रखने के ल‍िए हेल्‍दी डाइट लें और डॉक्‍टर की सलाह पर एक्‍सरसाइज को रोजाना करें।

main image source:babycenter

Disclaimer