खुद को मोटिवेट कराने के 12 तरीके, जानें मनोवैज्ञानिक से

खुद को मोटिवेटिड रखना बहुत जरूरी है। मोटिवेटिड रखकर ही आप खुद के लक्ष्यों को जल्द पा सकते हैं। दिन की शुरुआत का विशेष ख्याल रखना चाहिए।

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiPublished at: Jul 27, 2021Updated at: Jul 27, 2021
खुद को मोटिवेट कराने के 12 तरीके, जानें मनोवैज्ञानिक से

आयरिश नाटककार जॉर्ज बर्नार्ड शॉ ने कहा था कि हम खेलना इसलिए बंद नहीं करते क्योंकि हम बूढ़े हो जाते हैं, हम खेलना छोड़ देते हैं इसलिए हम बूढ़े हो जाते हैं।’’ कहने का मतलब है कि अगर आपको खुद को साल के 12 महीने, 24 घंटे मोटिवेट रखना है तो हमेशा खेलना जरूरी है। खुद को बूढ़ा होने से बचाएं। हमेशा खुद को मोटिवेट करके आप वे सारे लक्ष्य हासिल कर सकते हैं, जो आपने अपने लिए तय किए हैं। टीएमएस माइंफुल जीके 2 में क्लीनिकल साइकॉलोजिस्ट डॉ. प्रज्ञा मलिक का कहना है कि कोविड के दौरान लोग हताशा, निराशा, किसी को खोने का गम, नौकरी का चले जाना, मरने का डर, बाहर निकलने का डर जैसे इमोशन से गुजरे हैं तो कुछ गुजर भी रहे हैं। ऐसे में खुद को मोटिवेट करना बहुत जरूरी है। अगर ऐसे वक्त में खुद को मोटिवेट नहीं किया तो खुद की हेल्थ भी खराब हो सकती है। आप खुद को हमेशा मोटिवेट कैसे रख सकते हैं, इसके कुछ जरूरी टिप्स मनोवैज्ञानिक प्रज्ञा मलिक ने दिए हैं। 

Inside2_motivation

मोटिवेशन के प्रकार

मनोवैज्ञानिक प्रज्ञा मलिक का कहना है कि इंटरनल और एक्सटरनल दो तरह की मोटिवेशन होती है। ये दोनों एक दूसरे पर निर्भर करती हैं। एक्सटरनल मोटिवेशन इंटरनल मोटिवेशन को जगाती है। इन दोनों ही तरह के मोटिवेशन की जरूरत आपको होती है। 

खुद को हमेशा मोटिवेट रखने के टिप्स

1. व्यायाम

डॉ. प्रज्ञा मलिक का कहना है कि जब रोजाना एक्सरसाइज और वॉक करते हैं इससे हमें एक्सटरनल मोटिवेशन मिलता है। एक्सरसाइज करने से शरीर को ऊर्जा मिलती है। साथ ही पूरे दिन काम करने के लिए एनर्जी मिलती है। इस एनर्जी के साथ-साथ पूरे दिन आपका मूड भी खुश रहता है। आपकी प्रोडक्टिविटी बढ़ती है। आप एक बेहतर इंसान बनने की ओर होते हैं। 

Inside1_motivation

2. टू डू लिस्ट

पूरे दिन आपको क्या करना है। क्या नहीं करना है। कौन सा काम बहुत जरूरी है, उसे सबसे पहले रखना आदि, प्राथमिकताएं हो सकती हैं, जिन्हें आप अपनी टू डू लिस्ट में लिख सकते हैं। ऐसी सूची बनाने के आप हर काम को अच्छी तरह से कर पाते हैं। आप अपने लक्ष्य तक आसानी से पहुंच पाते हैं। बहुत कन्फ्यूज नहीं होते। ये टू डू लिस्ट आपके लिए केवल टू डू लिस्ट नहीं है बल्कि आपके करियर, आपकी सफलता की लिस्ट है।

3. माइंडफुल टेक्निक 

आपने अपने लिए जो लक्ष्य तय किए हैं, उन्हें आप कैसे पा सकते हैं, उनकी तैयारी करना, इससे आप खुद को हमेशा मोटिवेट फील करेंगे। हमेशा अपने लक्ष्य के बारे में सोचेंगे। इस तरह की टेक्नीक अपनाने से आप हर फैसले को ठीक तर से ले पाएंगे। इस तरह आप मोटिवेटिड और कॉन्फीडेंट फील करेंगे। 

4. रचनात्मक बनें

रचनात्मकता आपको हमेशा मोटिवेटिड रखती है। हमेशा कुछ नया करना, नया सीखना आपको क्रिएटिव रखता है। आप जिसमें भी बैस्ट हैं, उसे सर्वश्रेष्ठ कैसे बना सकते हैं। इसके बारे में सोचें। उदाहरण के लिए अगर आपको खाना बनाना पसंद है तो खाने में कुछ नया ट्राय कर सकते हैं। या आपको पढ़ना पसंद है तो आप कुछ नई तरह की किताबें पढ़ सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : Morning Motivation: अपनी सुबह को पॉजिटिव और एर्नेजेटिक बनाने के लिए अपनाएं ये मॉर्निंग मोटिवेशन हैक्‍स

5. समय पर नींद और आराम

डॉ. प्रज्ञा मलिक का कहना है कि आप रोजाना जिस समय पर सोते हैं, उसी समय पर सोएं। अपनी नींद को डिस्टर्ब न करें। नींद को परेशान करने से आपका अपना बॉडी क्लॉक बदलता है। रात में नींद पूरी नहीं आएगी तो आप दिन भर मोटिवेटिड फील नहीं करेंगे। आलसी और थके हुए महसूस करेंगे। मोटिवेशन के लिए आराम भी जरूरी है। जब आपके पास एनर्जी होगी तब आप मोटिवेटिड भी होंगे। नींद आपको मोटिवेड करती है।

Inside6_motivation

6. धैर्य रखें

1 क्लिक पर सारी दुनिया आपकी नजरों के सामने होती है, ऐसी क्लिक वाली पीढ़ी में धैर्य नाम की चीज मुश्किल से मिलती है। लेकिन जिसमें धैर्य होता है वह सफलता खुद के साथ अन्याय किए बिना प्राप्त करता है। आपका जो लक्ष्य है, उसे पाने के लिए धीरे-धीरे प्रयास करें। धैर्य न खोएं। उसके लिए कोशिशें करते रहें। हो सकता है परिणाम सामने दिखने में देर हो जाए पर आपकी मेहनत कभी खराब नहीं होगी। 

7. संगीत सुनें

खुद को 24 घंटे मोटिवेटिड फील कराने के लिए संगीत का सहारा लें। जब भी आपको लगे कि आपको कोई समझ नहीं रहा है। या आप खुद से परेशान हों, तो अपना Me time  निकालें। संगीत सुनें। अपने पसंद के काम करें। 

Inside4_motivation

8. दिन की शुरुआत पानी के साथ

बड़े-बुजुर्गों का कहना है कि दिन की शुरूआत पानी पीकर करनी चाहिए। इसके पीछे वजह यह है कि पानी पीने से हमारे भावनात्मक गुणक (Emotional quotient ) पर काम होता है। इमोशनली हम मेच्योर होते हैं। इसलिए दिन की शुरूआत पानी पीकर करें। ताकि आप दिन भर मोटिवेटिड रहें। अगर आपका मूड अच्छा नहीं है तो आप कॉफी पी सकते हैं। खुद को बूस्ट करने के लिए ये पेय पदार्थ बहुत कारगर साबित होते हैं। गर्म पानी से न नहाएं। ठंडे या रूम टेंपरेचर पर नहाएं। सही खाना खाएं।

Inside5_motivation 

9. खुद को इनाम दें

ऐसा बहुत कम होता है कि हम खुद को प्रेज करें। खुद को इनाम दें। खुद से प्यार करें। इसके बदले में हम दूसरों से ईर्ष्या करते हैं। ऐसे में खुद भी खुश नहीं रहते। लेकिन अगर आपको खुश रहना है तो खुद ईनाम दें। अगर आपने 1 महीना बिना छुट्टी किए काम किया है तो खुद को कुछ गिफ्ट दें। गिफ्ट के नाम पर कहीं विकैंड पर बाहर घूमने भी जा सकते हैं।  

इसे भी पढ़ें : रोज सुबह उठकर करें ये 6 काम, दिनभर रहेंगे खुश, एनर्जी से भरे और पॉजिटिव

10. कंफर्ट जोन से बाहर निकलें

डॉ. प्रज्ञा मलिक का कहना है कि खुद को कंफर्ट जोन से बाहर निकालना और आना दोनों होना चाहिए। पर खुद को कंफर्ट जोन में न रखें। कंफर्ट जोन रहने से आप आलसी हो जाते हैं। जिस वजह से आप मोटिवेटिड फील नहीं कर पाते।

11. ज्ञान लें

खुद को मोटिवेटिड फील कराने के लिए ज्ञान लेता रहना चाहिए। नई किताबें, कहानियां पढ़ते रहना चाहिए। पढ़ने से ज्ञान का स्रोत खुलता है। पढ़ने से नई चीजें समझ आती हैं। अपने काम की डेडलाइन बनाएं। ताकि आप अपने काम सही समय पर पूरे कर सकें।

Inside8_motivation

12. हमेशा अच्छाई देखें

किसी भी खराब परिस्थिति में अच्छाई को देखें। दूसरों को ब्लेम करने से चीजें और खराब हो जाती हैं। इसलिए खुद को सकारात्मक रखें। खुद के साथ जबरदस्ती भी न करें। अपने लक्ष्यों को रियलिस्टिक रखें। सही समय पर शुरुआत करें। 

खुद को मोटिवेटिड रखना बहुत जरूरी है। मोटिवेटिड रखकर ही आप खुद के लक्ष्यों को जल्द पा सकते हैं। दिन की शुरुआत का विशेष ख्याल रखना चाहिए।

Read More Articles on mind-body in hindi

Disclaimer