पेरेंट्स अपने बच्चों का कॉन्फिडेंस बढ़ाने के लिए अपनाएं ये 3 तरीके

अगर माता-पिता शुरुआत से इन 3 टिप्स को अपनाएं तो अपने बच्चों का कॉन्फिडेंस बूस्ट कर सकते हैं, जिससे वो जीवन में सफल हो।

Monika Agarwal
परवरिश के तरीकेWritten by: Monika AgarwalPublished at: Aug 27, 2022Updated at: Aug 27, 2022
पेरेंट्स अपने बच्चों का कॉन्फिडेंस बढ़ाने के लिए अपनाएं ये 3 तरीके

सभी माता-पिता चाहते हैं कि उनके बच्चे खूब उन्नति करें और हर क्षेत्र में कॉन्फिडेंट रहें। यही कारण है कि आज के टाइम में पेरेंट्स बच्चों को उनके शुरुआती समय में ही बहुत कुछ सिखाने लग जाते हैं। लेकिन चीजें सिखाने के साथ-साथ पेरेंट्स को बच्चों का कॉन्फिडेंस बढ़ाने के अन्य तरीकों पर भी ध्यान देना चाहिए। कई बार देखा जाता है कि बच्चे अपने शुरुआती बचपन में तो कॉन्फिडेंट रह सकते हैं, लेकिन धीरे-धीरे कॉम्पटीशन और अन्य कारणों से उनमें कॉन्फिडेंस की कमी होने लगती है। इसीलिए पेरेंट्स को यह ध्यान रखना चाहिए कि वह अपने बच्चों में कॉन्फिडेंस की कमी न होने दें और शुरुआत से ही बच्चों में कॉन्फिडेंस बढ़ाने पर जोर दें। इसके लिए कुछ ऐसे तरीकों का इस्तेमाल करें, जो बच्चों के कॉन्फिडेंस को बढ़ाएं। आइए जानते हैं इसके कुछ आसान तरीके।

बच्चों की तारीफ करें

जब भी बच्चा कोई अच्छी एक्टिविटी करे, तो उसकी तारीफ करें। यदि उनकी तारीफ करेंगे तो वह दोबारा अच्छी एक्टिविटी करने की कोशिश करेगा, जिससे उनका कॉन्फिडेंस बढ़ेगा। इससे बच्चों को अपने ऊपर विश्वास होने लगता है और कॉन्फिडेंस बूस्ट होता है। आप उनका कॉन्फिडेंस बढ़ाने के लिए कुछ वाक्य भी कह सकते हैं- 

  • मुझे तुम पर गर्व है
  • तुम सब कुछ कर सकते हो
  • तुम बहुत स्ट्राॉन्ग हो
  • तुमने यह कर दिखाया
boost confidence in kids

बच्चों से प्यार करें

आप अपने बच्चों के लिए टाइम जरूर निकालें और उनसे प्यार से बात करें। आपके गलत टोन और भाषा से बच्चा नर्वस फील कर सकता है। उनसे ज्यादा से ज्यादा बात करें और उनके सवालों के जवाब दें। उनकी बातें रुचि के साथ सुनें। इससे बच्चे हमेशा कॉन्फिडेंट रहेंगे। आप इन वाक्यों का प्रयोग भी कर सकते हैं- 

  • चाहे कुछ भी हो हम आपसे बहुत प्यार करते हैं
  • चलो साथ में कोशिश करते हैं 
  • मैं तुम्हारी मदद के लिए हमेशा हूं 

बच्चों को निगेटिव सोच से दूर रखें

बच्चे अपने आसपास के माहौल से ही सीखते हैं। इसलिए बच्चों को निगेटिव माहौल से दूर रखें और उनके सामने निगेटिव शब्दों का इस्तेमाल न करें। तुमसे नहीं हो पाएगा, तुम गिर जाओगे, तुम्हें चोट लग जाएगी- ऐसे वाक्यांशों का प्रयोग ना करें इससे आपके बच्चे पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। आप ऐसे वाक्यों का प्रयोग कर सकते हैं-

  • मेरे साथ-साथ बोलो कि तुम यह कर सकते हो 
  • पूरी कोशिश करो 
  • कोशिश करने वाले की हार नहीं होती
  • अपना बेस्ट दो 

बच्चों के कॉन्फिडेंस को बढ़ाने के लिए आप इन तरीकों का प्रयोग कर सकते हैं। इससे आपके बच्चे में सीखने की इच्छा बढ़ेगी। जो उसके आने वाले भविष्य के लिए बेहतर हो सकती है।

Disclaimer