कैंसर से सेक्स जीवन पर असर

कैंसर जैसी बीमारी होने पर व्यक्ति के मन में डर भी बैठ जाता है और कैंसर का स्वास्‍थ्‍य के साथ-साथ सेक्स लाइफ पर भी नेगेटिव इफेक्ट पड़ता है। आइए जानें कैसे कैंसर सेक्स जीवन को प्रभावित करता है।

अनुराधा गोयल
सभीWritten by: अनुराधा गोयलPublished at: Aug 09, 2011Updated at: May 19, 2016
कैंसर से सेक्स जीवन पर असर

कैंसर जैसी बीमारी के लिए बहुत से कारण माने गये हैं और इन कारणों में सबसे बड़ा कारण है धूम्रपाना। धूमपान के सेवन से न सिर्फ स्वास्‍थ्‍य को अधिक खतरा होता है बल्कि यौन जीवन पर भी नकारात्मक असर पड़ता है। कैंसर जैसी बीमारी होने पर व्यक्ति के मन में डर भी बैठ जाता है और कैंसर का स्वास्‍थ्‍य के साथ-साथ सेक्स लाइफ पर भी नेगेटिव इफेक्ट पड़ता है। आइए जानें कैसे कैंसर सेक्स जीवन को प्रभावित करता है।


कैंसर का प्रभाव

  • कैंसर के प्रभाव से व्यक्ति को हर समय थकान की शिकायत रहती है। नजीतन उसकी सेक्स में भी रूचि कम हो जाती है।
  • कैंसर रोगी व्यक्ति यदि शारीरिक रूप से स्वस्थ महसूस नहीं कर पा रहा हो वह सेक्स करने में भी सहज महसूस नहीं करेगा।
  • कैंसर रोगी हमेशा चिड़चिड़ापन ही महसूस करता है,जिससे वह किसी भी चीज से जल्दी ही परेशान हो जाता है।
  • कैंसर से जान का जोखिम भी लगातार बना रहता है ऐसे में कैंसर का मरीज़ सेक्स के बारे में वह सोच भी नहीं पाता।
  • कैंसर से होने वाली शारीरिक परेशानियां भी कुछ कम नहीं हैं और इसलिए यह बीमारी व्यक्ति की सोच को नकारात्मक बना देता है साथ ही इससे व्यक्ति का आत्मविश्वास भी कम होने लगता है। ऐसे में सेक्स को लेकर भी कैंसर के मरीज़ के मन में तरह-तरह के भ्रम होने लगते हैं कि क्या वह अपने पार्टनर को संतुष्ट कर पाएगा। क्या वह सेक्स करने में संपन्न है इत्यादि।
  • कई बार कैंसर पीडि़त को यह भी भय सताने लगता है कि उसकी बीमारी का असर उसके साथी पर न पड़ जाए या फिर उसके साथी को किसी तरह का इंफेक्शन न हो जाए जिससे कैंसर पीडि़त व्यक्ति सेक्स करने से दूर भागने लगता है।
  • कुछ स्थितियों में डॉक्टर भी कैंसर पीडि़त व्यक्ति को कई बार बहुत संभल कर रहने की सलाह देते हैं और कैंसर अधिक बढ़ने पर सेक्स न करने की सलाह भी देते हैं।

 

कैंसर के कारण

कैंसर होने के कई कारण है। कई बार कैंसर किसी ठोस वजहों से, कई बार अनजाने में ही होता है,तो कभी कैंसर होने के कारणों में आधुनिक जीवन शैली, ध्रूमपान, नशा और अल्कोहल इत्यादि शामिल है।



कहते हैं कोई भी काम मुश्किल नहीं होता, जरूरी है उसके लिए थोड़े से प्रयास करना। कैंसर भी कोई लाइलाज बीमारी नहीं है। जरूरी है व्यक्ति को अपनी इच्छा शक्ति को मजबूत करना। कुछ से कैंसर ऐसे होते हैं जिन्हें आप अपने लाइफ स्टाइल में बदलाव लाकर भी दूर कर सकते हैं साथ ही डॉक्टर की मदद ले सकते हैं। ध्रूमपान, नशे और अल्कोहल इत्यादि से होने वाले कैंसर ऐसे ही है, धूम्रपान छोड़कर जिनकी संभावना को कम किया जा सकता है।

 

 

Image Source - Getty Images

Read More Articles On Cancer In Hindi.

Disclaimer