सर्दियों में होने वाली एक्जिमा को ठीक करने के लिए 5 प्राकृतिक उपचार

कहीं आप भी ठंडे मौसम की एक्जिमा से परेशान तो नहीं? यहां आप पढ़िए कुछ घरेलू उपचार और पाइए राहत

Monika Agarwal
घरेलू नुस्‍खWritten by: Monika AgarwalPublished at: Oct 28, 2020Updated at: Oct 28, 2020
सर्दियों में होने वाली एक्जिमा को ठीक करने के लिए 5 प्राकृतिक उपचार

सर्दियों में बदलते तापमान और शुष्क हवा के कारण कई लोगों को  एक्जिमा की परेशानी से दो चार होना पड़ता  है। अक्सर, देखा गया है कि ठंडे मौसम के कारण शरीर के जो हिस्से बिना ढके रहते हैं, उन पर सूजन , खुश्की या एक्जिमा की समस्या हो जाती है। खासकर की हाथ और चेहरे की त्वचा पर ।

कुछ घरेलू उपचारों की मदद से सर्दियों में होने वाली एक्जिमा से बचा जा सकता है और इनके किसी भी प्रकार के हानिकारक प्रभाव नहीं होते। यह आप की स्किन को मॉइश्चराइज तो करेंगे ही, साथ में उसे सूजन या संक्रमण से भी बचाएंगे। 

एलोवेरा जेल 

यह जेल एलो पौधे की पत्तियों से मिलता है। इसका प्रयोग बहुत प्रकार की स्किन संबंधी परेशानियों को ठीक करने के लिए किया जाता है, जिनमें से एक है एक्जिमा। दरअसल एलोवेरा एंटी बैक्टीरियल और एंटी एलर्जिक गुणों से भरपूर होता है। उसके यह गुण त्वचा के संक्रमण की रोकथाम जैसे कि सूखी, फटी त्वचा आदि का उपचार कर सकते हैं। मॉइस्चराइज़र की तरह ही एलोवेरा उत्पादों का उपयोग कर सकते हैं। 

एप्पल साइडर विनेगर 

बहुत से अध्ययनों का कहना है कि एप्पल साइडर विनेगर से आप के एक्जिमा में राहत मिलेगी। परंतु इसका कोई भी प्रमाण नहीं है। और इसके एसिडिक गुण स्किन के कुछ टिश्यू को डेमेज भी कर सकते हैं। लेकिन यह कुछ तरीकों से स्किन को लाभ भी पहुंचाता है जैसे इसके एसिडिक गुण स्किन को बैलेंस करते हैं। एप्पल साइडर विनेगर उन बैक्टीरिया से भी लड़ते हैं जिनसे एक्जिमा होता है। इसे प्रयोग करने से पहले डाइल्यूट कर लें। एक कप गर्म पानी में एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर डाले। रूई पर इस सॉल्यूशन को लगाएं। इसके बाद अपनी स्किन पर लगाएं। 

इसे भी पढ़ें: ठंड में पैरों और नसों की ऐंठन को दूर करने के लिए अपनाएं ये 4 घरेलू नुस्खे, जानें क्या है तरीका

ब्लीच का प्रयोग करना 

हालांकि ब्लीच से एक्जिमा में राहत मिलती है क्योंकि ब्लीच में एंटी बैक्टेरियल व एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं। इसे प्रयोग करने के लिए केवल 4-5 परसेंट प्लेन ब्लीच का ही प्रयोग करें। अपने पूरे बाथ टब में या बाल्टी में आधा कप ब्लीच मिला लें। इसे अच्छे से एक दूसरे में घोल लें। 7-8 मिनट के लिए ऐसे ही रहने दें। अब इस गर्म पानी को आराम आराम से अपने शरीर पर लाएं और सावधानी पूर्वक नहाए। 

रोजाना नहाना 

नहाना एक्जिमा में बहुत आवश्यक होता है। कई बार इस दौरान नहाने से कुछ लोगों कि स्किन और अधिक ड्राई हो जाती है परन्तु इस स्थिति से बचने के लिए आप को कुछ सावधानियां बरतनी होंगी। जैसे आप को एक दिन में केवल एक बार ही नहाना होगा। नहाते समय हल्के गर्म पानी का प्रयोग करें। स्क्रबिंग न करें। 8-12 मिनट के लिए ही नहाएं। नहाने के तुरंत बाद 5 मिनट के अंदर हाथ और शरीर पर माइश्चराइजर का प्रयोग करें। इस तरह से हाथ व शरीर में नमी बनी रहेगी।

इसे भी पढ़ें: सीने की जलन और बदहजमी से हैं परेशान? इन 5 बातों का रखें ध्यान

शहद का प्रयोग

शहद को एक प्राकृतिक एंटीबैक्टीरियल एनाल्जेसिक और एंटी एलर्जी गुणों से भरपूर तत्व माना जाता है। प्राचीन समय में इसका प्रयोग घाव को भरने के लिए किया जाता था। चोद बताते हैं कि शहद प्रतिरक्षा प्रणाली के कार्य को बढ़ाने में भी मदद कर सकता है। जिसका अर्थ है कि यह शरीर को संक्रमण से लड़ने में मदद करता है।अत: शहद विभिन्न प्रकार की त्वचा की बीमारियों के इलाज के लिए उपयोगी है, जिसमें जलन और एक्जिमा भी शामिल हैं। यदि शहद को सीधे एग्जिमा वाले हिस्से में लगाया जाए, तो संक्रमण को रोकने में सहायक है।

 

Read more articles on Home-Remedies in Hindi

 

Disclaimer