World AIDS Day 2021: क्या हैं एचआईवी एड्स के शुरुआती संकेत? जानें महिलाओं और पुरुषों में इसके लक्षण

एड्स एक गंभीर बीमारी है। यह एचआईवी वायरस की वजह से होता है। एड्स होने पर महिलाओं-पुरुषों में कुछ शुरुआती लक्षण देखने को मिलते हैं। जानें इनके बारे में

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Dec 01, 2021Updated at: Dec 01, 2021
 World AIDS Day 2021: क्या हैं एचआईवी एड्स के शुरुआती संकेत? जानें महिलाओं और पुरुषों में इसके लक्षण

एचआईवी एड्स (HIV aids) क्या है? क्या एचआईवी पुरुषों और महिलाओं दोनों को प्रभावित करता है? महिलाओं और पुरुषों में एचआईवी एड्स के लक्षण (HIV aids symptoms in male and female) क्या है? एचआईवी एक ऐसी बीमारी है, जो महिलाओं और पुरुषों को समान रूप से प्रभावित करती है। एड्स यानी एक्वायर्ड इम्यूनो डेफिशिएंसी सिंड्रोम (AIDS) एचआईवी यानी ह्यूमन इम्यूनो डेफिशिएंसी (HIV) वायरस की वजह से फैलता है। इसका मतलब यह है कि एचआईवी वायरस एड्स जैसी गंभीर बीमारी का कारण बनता है। एचआईवी एड्स एक ऐसी स्थिति है, जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को कमजोर बना देता है। अगर एड्स के शुरुआती लक्षणों को नजरअंदाज किया जाए, तो यह एक जानलेवा संक्रमण हो सकता है।

प्रतिवर्ष 1 दिसंबर को विश्व एड्स दिवस (world aids day 2021) के रूप में मनाया जाता है। इस दिवस का मुख्य उद्देश्य लोगों के बीच इस संक्रामक बीमारी के प्रति जागरूकता फैलाना है। एड्स जैसी जानलेवा बीमारी से बचने के लिए इसके शुरुआती लक्षणों पर गौर करना बहुत जरूरी है। 

hiv adis in men and women

मणिपाल हॉस्पिटल, ओल्ड एयरपोर्ट रोड की सलाहकार संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉक्टर नेहा मिश्रा (Dr. Neha Mishra, Consultant Infectious Disease, Manipal Hospital, Old Airport Road) बताती हैं कि एक समय ऐसा था, जब पुरुषों में एचआईवी के मामले अधिक देखने को मिलते थे। एचआईवी एड्स के अधिकतर मामले पुरुषों में ही सामने आते थे, लेकिन अब यह बीमारी पुरुषों के साथ ही महिलाओं में भी देखने को मिल रही है। अब एड्स से संक्रमित कुल आबादी में लगभग 40 प्रतिशत महिलाएं हैं। एड्स दोनों लिंगों को समान रूप से प्रभावित कर सकता है। महिलाओं और पुरुषों में एचआईवी एड्स के कुछ लक्षण समान होते हैं, तो कुछ लक्षण दोनों में अलग-अलग तरह से सामने आते हैं। 

एचआईवी एड्स के सामान्य लक्षण (HIV aids symptom)

एचआईवी किसी को भी प्रभावित कर सकता है। यह पुरुषों और महिलाओं दोनों को हो सकता है। एचआईवी से संक्रमित होने के कुछ हफ्तों बाद शरीर seroconversion से गुजरता है। यह एक ऐसी स्थिति होती है, जिसमें वायरस बहुत तेजी से बढ़ता है। इस दौरान पीड़ित व्यक्ति को वायरस फ्लू का सामना करना पड़ता है। इस स्थिति के बाद पीड़ित में धीरे-धीरे अधिक लक्षण विकसित होने लगते हैं। एचआईवी एड्स के सामान्य और शुरुआती लक्षण हैं-

1. फ्लू जैसे लक्षण

एचआईवी एड्स होने पर पीड़ित व्यक्ति में फ्लू जैसे लक्षण देखने को मिल सकते हैं। एचआईवी वायरस के शरीर में प्रवेश करने के बाद प्रतिरक्षा प्रणाली वायरस के प्रति प्रतिक्रिया करती है। इस दौरान बुखार, खांसना, बार-बार छींकना, सिरदर्द जैसे लक्षण देखने को मिल सकते हैं। एचआईवी के ये लक्षण 2-6 सप्ताह के बाद देखने को मिल सकते हैं। लेकिन फ्लू के सभी लक्षण एचआईवी हो यह जरूरी नहीं है।

इसे भी पढ़ें - एचआईवी और एड्स के बीच क्या अंतर है? डॉक्टर से जानें शरीर पर कैसे असर डालती है ये बीमारी

2. लिम्फ नोड्स में सूजन 

लिम्फ नोड्स में सूजन महिलाओं और पुरुषों में एड्स का एक लक्षण हो सकता है। एड्स के तेजी से संक्रमण होने पर यह लक्षण देखने को मिलता है। इस स्थिति में एचआईवी वायरस धीमी गति से गुणा होता रहता है। अगर इस लक्षण के बाद ही एड्स का इलाज शुरू कर दिया जाए, तो इसकी गति को रोका या धीमा किया जा सकता है। इसकी वजह से रोगी को निगलने में परेशानी हो सकती है।

3. लगातार वजन कम होना

एड्स होने पर पुरुषों और महिलाओं के वजन में भी बदलाव होने लगता है। इस स्थिति में वजन धीरे-धीरे कम होने लगता है। अगर लगातार 2 महीने तक आपका वजन कम होता जाए, तो इस लक्षण को बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें। इसके साथ ही एचआईवी एड्स होने पर मतली, दस्त, खराब भोजन अवशोषण और भूख में कमी जैसे लक्षण भी दिखाई दे सकते हैं। लगातार वजन कम होने पर टेस्ट जरूर करवाएं।

skin rashes aids symptoms

4. त्वचा में बदलाव

त्वचा में परिवर्तन या बदलाव भी एचआईवी एड्स का एक सामान्य लक्षण हो सकता है। एचआईवी त्वचा पर असामान्य धब्बे बनने का कारण बन सकता है। यह धब्बे लाल, गुलाबी और भूरे हो सकते हैं। त्वचा के साथ ही यह जननांगों या गुदा पर भी घाव पैदा कर सकते हैं। इसके अलावा स्किन रैशेज भी एचआईवी का एक लक्षण है। अगर आपके शरीर पर हल्के लाल रंग के चकत्ते या रैशेज हो रहे हैं, तो आपको डॉक्टर से जरूर संपर्क करना चाहिए।

5. तनाव और सूखी खांसी

एचआईवी से पीड़ित लोग काफी तनाव में रहते हैं। हमेशा तनाव में रहना भी एचआईवी का एक लक्षण हो सकता है। लेकिन हर तनाव एचआईवी नहीं होता है। इसके अलावा एचआईवी का लक्षण सूखी खांसी भी हो सकता है। जब बिना खांसी के कफ बनता रहता है, कफ में खून आता है तो यह एड्स की तरफ इशारा करता है। मतली, खाना खाने के बाद उल्टी होना एड्स के लक्षण हैं। मांसपेशियों में दर्द और थकान भी एड्स के सामान्य लक्षण हैं।

महिलाओं में एचआईवी एड्स के लक्षण (hiv aids symptoms in women)

वैसे तो पुरुषों और महिलाओं में एचआईवी के लक्षण सामान्य होते हैं। लेकिन कुछ ऐसे लक्षण हैं, जो एचआईवी होने पर सिर्फ महिलाओं में ही देखने को मिलते हैं। जानें महिलाओं में एचआईवी के लक्षण-

aids symptoms in women

(image source : noticiasaominuto.com)

1. मासिक धर्म में परिवर्तन 

एचआईवी से पीड़ित महिलाओं के मासिक धर्म में परिवर्तन देखने को मिल सकता है। जिन महिलाओं का एड्स होने पर तेजी से वजन कम होने लगता है, उनका पीरियड्स मिस होने लगता है। इसके अलावा हार्मोनल उतार-चढ़ाव मासिक धर्म के लक्षण जैसे ऐंठन, स्तन कोमलता और थकान भी एड्स के लक्षण होते हैं। यह भी ध्यान रखें कि आजकल मासिक धर्म में परिवर्तन होना आम है, जरूरी नहीं इसकी वजह एचआईवी हो। 

2. वेजाइनल यीस्ट इंफेक्शन 

एचआईवी वेजाइनल यीस्ट इंफेक्शन के जोखिम को काफी हद तक बढ़ा सकता है। अगर आपको योनि संक्रमण के लक्षण देखने को मिलें, तो इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें। योनि संक्रमणों के लक्षणों में शामिल हैं- योनि और योनि के आसपास जलन होना, शारीरिक संबंध बनाने के दौरान दर्द होना, पेशाब करने में दर्द होना, पेशाब का रंग गाढ़ा होना, सफेद योनि स्त्राव। वैसे तो अधिकतर महिलाओं को योनि संक्रमण होता ही है, लेकिन एचआईवी इस संक्रमण को अधिक बार होने का कारण बन सकता है।

इसे भी पढ़ें - World AIDS Day 2021: एचआईवी होने पर क्या खाएं और क्या नहीं, डॉक्टर से जानें हेल्दी डाइट टिप्स

पुरुषों में एचआईवी एड्स के लक्षण (hiv aids symptoms in men)

सामान्य लक्षणों के साथ ही एचआईवी के कुछ ऐसे लक्षण भी है, तो सिर्फ पुरुषों में ही देखने को मिलते हैं। जानें पुरुषों में एचआईवी एड्स के लक्षण-

1. यौन रोग

पुरुषों में एड्स की समस्या होने पर यौग रोग की समस्या पैदा हो सकती है। यह हाइपोगोनाडिज्म का संकेत होता है, इसका मतलब है कि आपके अंडकोष पर्याप्त सेक्स हार्मोन टेस्टोस्टेरोन नहीं बना पाता है। यह स्थिति एचआईवी से जुड़ी है। 

2. लिंग पर घाव

पुरुषों में एचआईवी का एक सामान्य संकेत लिंग पर दर्दनाक खुला घाव हो सकता है। यह पुरुषों के गुदा या लिंग पर दिखाई दे सकता है। 

3. पेशाब करते समय दर्द

पुरुषों में एचआईवी का एक लक्षण पेशाब करते समय दर्द और जलन होना भी है। अधिकतर मामलों में यह गोनोरिया या क्लैमाइडिया जैसे यौन संचारित संक्रमण का लक्षण होता है।

एचआईवी एड्स पुरुषों और महिलाओं दोनों को प्रभावित कर सकता है। इसलिए दोनों को ही इसके लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। एचआईवी एड्स के इलाज में देरी आपके लिए जानलेवा भी हो सकता है।

(image source : mdanderson.org, hernorm.com)

Disclaimer