बच्चों में इन 6 कारणों से बढ़ती है हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या, जानें लक्षण, इलाज और बचाव के टिप्स

आज के समय में कुछ कारणों से बच्चों में हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या देखने को मिल रही है, जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज के बारे में।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Oct 11, 2021
बच्चों में इन 6 कारणों से बढ़ती है हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या, जानें लक्षण, इलाज और बचाव के टिप्स

शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होने की बात पर आमतौर पर आपके मन में उम्रदराज या बड़े लोगों का ध्यान आएगा। लेकिन यह समस्या अब युवाओं के अलावा बच्चों में भी तेजी से बढ़ रही है। हाल ही में हुए एक रिसर्च के मुताबिक बच्चों में बढ़ता हुआ कोलेस्ट्रॉल का स्तर दिल से जुड़ी गंभीर बीमारियों के जोखिम को बढ़ाने का काम कर रहा है। बच्चों में खानपान और जीवनशैली से जुड़ी आदतों की वजह से हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या जन्म ले रही है जो आगे चलकर गंभीर रूप धारण कर सकती है। एससीपीएम हॉस्पिटल में बतौर बाल रोग विशेषज्ञ काम कर रहे डॉ शेख जफर का मानना है कि बच्चों में हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या बहुत आम नहीं है लेकिन यह समस्या अब तेजी से बढ़ रही है। आइये जानते हैं बच्चों में कोलेस्ट्रॉल की समस्या होने के प्रमुख कारण के बारे में और इससे बचने के जरूरी उपाय के बारे में।

बच्चों में हाई कोलेस्ट्रॉल के कारण (High Cholesterol Causes In Children)

High-Cholesterol-In-Children

(image soure - freepik)

हाल ही में हुए एक शोध के मुताबिक 19 साल से कम उम्र के बच्चों में भी कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने लगा है। शोध के मुताबिक लगभग 23 प्रतिशत बच्चे हैं जिनकी उम्र 19 साल से कम है लेकिन हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या से ग्रसित हैं। शरीर में कोलेस्ट्रॉल की अधिक मात्रा के कारण अच्छों के विकास में दिक्कतें आती हैं और इसकी वजह से आगे चलकर दिल से जुड़ी गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ता है। कोलेस्ट्रॉल शरीर में मौजूद एक फैटयुक्त पदार्थ है जो कोशिकाओं की झिल्ली और हॉर्मोन की संरचना को बनाने का काम करता है। देश में अगर हम शहरी इलाकों की बात करें तो इन इलाकों में बच्चों में हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या का प्रतिशत लगभग 20 के आसपास है। इसका मतलब यह है कि 19 साल से कम उम्र वाले लगभग 20 प्रतिशत बच्चों में जो शहरी इलाकों में रहते हैं हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या है। बच्चों में हाई कोलेस्ट्रॉल के प्रमुख कारण इस प्रकार से हैं।

इसे भी पढ़ें : शिशुओं और बच्चों में यीस्ट इंफेक्शन (थ्रश) के कारण, लक्षण और इलाज

1. असंतुलित खानपान के कारण शहरी इलाकों में बच्चों में हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या।

2. अधिक फैट और खराब तेल ववाले फास्ट फूड्स का सेवन करने की वजह से।

3. शारीरिक गतिविधियों में कमी की वजह से हाई कोलेस्ट्रॉल।

4. हाई कोलेस्ट्रॉल की फैमिली हिस्ट्री के कारण।

5. मोटापे की समस्या (असंतुलित खानपान की वजह से) के कारण हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या।

6. मधुमेह, किडनी की बीमारी और थायरॉइड के कारण हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या।

इसे भी पढ़ें : बच्चों के मुंह से बदबू आने के हो सकते हैं ये 5 कारण, जानें इनसे बचाव के लिए क्या करें

High-Cholesterol-In-Children

(image soure - shutterstock)

बच्चों में हाई कोलेस्ट्रॉल के लक्षण (High Cholesterol Symptoms In Children's)

आमतौर पर बच्चों में हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या होने पर कोई खास लक्षण देखने को नहीं मिलते हैं। आपके बच्चे में मोटापे की समस्या, असंतुलित खानपान जैसे कई कारणों की वजह से हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या हो सकती है। इस समस्या को पहचानने के लिए आपको समय-समय पर शरीर में कोलेस्ट्रॉल की जांच करानी चाहिए। जिन लोगों के परिवार में हाई कोलेस्ट्रॉल का इतिहास रहा है उन्हें जरूर अपने बच्चे की जांच करानी चाहिए। अगर आपके बच्चे की उम्र 2 साल है और परिवार में हाई कोलेस्ट्रॉल का जोखिम है तो इसकी जांच एक्सपर्ट की देखरेख में जरूर कराएं। हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या गंभीर होने पर ये समस्याएं हो सकती हैं।

बच्चों में हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या का इलाज और बचाव (Treatment And Prevention Of High Cholesterol In Children's)

मधुमेह, किडनी की बीमारी और थायरॉइड की समस्या होने पर आपको डॉक्टर से बच्चे की जांच जरूर करानी चाहिए। इसके अलावा अगर आपके परिवार का हाई कोलेस्ट्रॉल का इतिहास है तो बच्चों के 2 साल के होने के बाद चिकित्सक की सलाह के बाद कोलेस्ट्रॉल की जांच कराएं। जांच के बाद अगर बच्चे के रक्त में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक है तो इसके लिए चिकित्सक कुछ दवाओं के सेवन और परहेज की सलह दे सकते हैं। हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या खानपान और खराब जीवनशैली के कारण होती है। इस समस्या से बचने के लिए आपको खानपान का विशेष ध्यान रखना चाहिए। अधिक फैट युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन, कार्बोनेटेड ड्रिंक्स का सेवन और बाहर मिलने वाले फास्ट फूड्स का सेवन बंद करने और नियमित रूप से दौड़ने या शारीरिक गतिविधियों में भाग लेने से आप इन समस्याओं से बच सकते हैं। बच्चों में इसके लक्षण दिखाई देने पर एक्सपर्ट डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

(main image source - freepik)

Disclaimer