Expert

पीसीओएस (PCOS) से पीड़ित महिलाएं पिएं ये 5 हर्बल चाय, बैलेंस होंगे हार्मोन्स

Herbal Teas For Pcos: पीसीओएस को मैनेज और हार्मोन्स को संतुलित रखने के लिए हर्बल चाय पीना बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है, PCOS में पिएं 5 हर्बल चाए।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Jul 15, 2022Updated at: Jul 15, 2022
पीसीओएस (PCOS) से पीड़ित महिलाएं पिएं ये 5 हर्बल चाय, बैलेंस होंगे हार्मोन्स

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम या पीसीओएस (PCOS) की समस्या महिलाओं में तेजी से बढ़ रही है। वर्तमान समय में ज्यादातर महिलाएं इससे जूझ रही हैं। पीसीओएस हार्मोन्स से जुड़ी एक गंभीर समस्या है। यह तब होती है जब महिलाओं के शरीर में हार्मोन्स का संतुलन बिगड़ता है। इस स्थिति में महिलाओं में पुरुष हार्मोन टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ जाता है और एस्ट्रोजन का उत्पादन कम होता है। पीसीओएस के चलते महिलाओं को शरीर में अनचाहे बाल, अनियमित पीरियड्स, गालों में पिंपल्स, हिर्सुटिज़्म, मूड स्विंग्स के साथ ही चिंता, तनाव और लोअर बैली फैट ज्यादा होने जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। साथ ही इससे गर्भधारण में दिक्कतें आती हैं। इसलिए पीसीओएस को मैनेज करना बहुत जरूरी है।

क्या आप जानते हैं पीसीओएस को मैनेज करने में कुछ हर्बल चाय का सेवन बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है? जी हां, आपने बिल्कुल सही पढ़ा। आयुर्वेदिक चिकित्सक डॉ. दीक्षा भावसार सवलिया की मानें तो हर्बल चाय का सेवन करने से हार्मोन्स को संतुलित रखने में मदद मिलती है। आइए जानते हैं पीसीओएस को मैनेज करने के लिए 5 हर्बल चाय (Herbal teas to manage PCOS In Hindi)।

Herbal Teas for pcos in hindi

पीसीओएस (PCOS) से पीड़ित महिलाओं के लिए हर्बल चाय- Herbal Teas For Pcos In Hindi

1. स्पियरमिंट टी (Spearmint Tea)

पहाड़ी पुदीना की चाय या स्पियरमिंट टी बढ़े हुए टेस्टोस्टेरोन को करने में मदद करती है और हिर्सुटिज़्म में राहत प्रदान करती है। यह ओव्यूलेशन को बढ़ावा देने के साथ ही एण्ड्रोजन के स्तर को कम करती है। आप रोजाना सुबह सबसे पहले स्पीयरमिंट का सेवन कर सकते हैं।

इसे भी पढें: फैटी लिवर में चावल खाना चाहिए या नहीं?

2. ग्रीन टी (Green Tea)

ग्रीन टी पीने करने से पीसीओएस वाली महिलाओं में मोटापा कम करने में मदद मिलती है। यह इसंलिन रेजिस्टेंस्टेंस और टेस्ट्रेस्टेरोन के स्तर को कम करने में भी मददगार है

3. अदरक की चाय (Ginger Tea)

अदरक में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जिससे यह सूजन से लड़ने में मददगार है। अदरक की चाय पीने से हार्मोन्स को रेगुलेट करने में मदद मिलती है। यह पीरियड्स की ऐंठन, मूड स्विंग और सिरदर्द जैसे लक्षणों कम करने में मददगार है। आप सुबह-शाम अदरक की चाय का सेवन कर सकते हैं, आप इसमें नींबू या शहद मिलाकर भी पी सकते हैं।

4. मुलेठी की चाय (Licorice root Tea)

यह टेस्टोस्टेरोन के बढ़े हुए स्तर को कम करने के लिए बेहतरीन चाय है। यह भूख को नियंत्रित करने में भी मददगार है। यह शुगर क्रेविंग्स को कंट्रोल करने में भी मददगार है। लेकिन हाई ब्लड प्रेशर वाले लोग इसके सेवन से बचें।

इसे भी पढें: ज्यादा सोचने की आदत (Overthinking) को कम करने के लिए फॉलो करें ये 5 आयुर्वेदिक टिप्स

5. दालचीनी की चाय (Cinnamon Tea)

यह ब्लड शुगर को कंट्रोल करने और इंसुलिन लेवल को कम करने में सहायक है। दालचीनी की चाय पीने से वजन कम करने और पीरियड्स को नियमित करने में भी मिलती है। यह कैफीन फ्री होती है, आप कभी भी इसका सेवन कर सकते हैं।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer