Doctor Verified

प्रेगनेंसी के दौरान लू (हीट स्ट्रोक) की समस्या से कैसे बचें? एक्सपर्ट से जानें आसान ट‍िप्‍स

प्रेगनेंसी के शुरूआती स्‍टेज के दौरान हीट स्‍ट्रोक से बचने के ल‍िए आप कुछ आसान ट‍िप्‍स को अपना सकते हैं

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: May 04, 2022Updated at: May 04, 2022
प्रेगनेंसी के दौरान लू (हीट स्ट्रोक) की समस्या से कैसे बचें? एक्सपर्ट से जानें आसान ट‍िप्‍स

प्रेगनेंसी की शुरूआती स्‍टेज या पहली स्‍टेज का समय बेहद नाजुक होता है, इस समय कई तरह के र‍िस्‍क होने वाली मां को परेशान कर सकते हैं ज‍िनमें से एक है गर्मि‍यों के मौसम में लू लगने का खतरा। अगर आप गर्भवती हैं तो आपको इस दौरान अपना खास ख्‍याल रखना चाह‍िए क्‍योंक‍ि बाहर गरम हवा के थपेड़ों से आपको लू लग सकती है। लू लगने के कारण शरीर के तापमान में फर्क आता है ज‍िसका असर होने वाले बच्‍चे की सेहत पर पड़ता है। अगर प्रेगनेंसी की शुरूआती स्‍टेज पर आपको हीट स्‍ट्रोक यानी लू का खतरा होगा तो आपके शरीर के तापमान में फर्क आने से शि‍शु के द‍िमाग पर बुरा असर पड़ सकता है, इस दौरान आपको भी इंफेक्‍शन का डर रहता है और बच्‍चे की स्‍पाइनल कोर्ड पर भी हीट स्‍ट्रोक हमला कर सकती है। इस समस्‍या से बचने के ल‍िए आपको कुछ आसान ट‍िप्‍स फॉलो करने चाह‍िए ज‍िनके बारे में हम आगे जानेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के झलकारीबाई अस्‍पताल की गाइनोकॉलोज‍िस्‍ट डॉ दीपा शर्मा से बात की।

drink water

प्रेगनेंसी की पहली स्‍टेज में हीट स्‍ट्रोक से कैसे बचें? (How to prevent heat stroke during first stage of pregnancy) 

प्रेगनेंसी के शुरूआती स्‍टेज में आपको हीट स्‍ट्रोक की समस्‍या से बचने के ल‍िए कुछ आसान ट‍िप्‍स को अपनाना चाह‍िए, जान‍िए आगे लेख से-

1. लू से बचने के ल‍िए पर्याप्‍त मात्रा में पानी प‍ीएंं (Stay hydrated)

डि‍हाइड्रेशन के कारण भी लू लग सकती है, आपको अपने शरीर का तापमान 37 ड‍िग्री तक बनाकर रखना चाह‍िए। बच्‍चे का तापमान खुद ही नॉर्मल हो जाता है उसके ल‍िए आपको अलग से कोई कदम उठाने की जरूरत नहीं पड़ती। गरम मौसम में आपको ड‍िहाइड्रेशन के कारण उल्‍टी, डायर‍िया आद‍ि समस्‍या हो सकती है इसल‍िए आपको द‍िन में 8 से 10 ग‍िलास पानी का सेवन करना चाह‍िए। 

इसे भी पढ़ें- महिलाओं में हर्निया की समस्या होने पर दिखते हैं ये 6 लक्षण, डॉक्टर से जानें इसके कारण और इलाज

2. लू से बचना है तो बाहर न न‍िकलें (Avoid going out in hot weather)

गर्मि‍यों में लू की समस्‍या से बचने के ल‍िए आप दोपहर के दौरान बाहर न न‍िकलें, इस दौरान आपको लू लग सकती है और अन्‍य समस्‍या जैसे इंफेक्‍शन, स‍िर में दर्द, उल्‍टी जैसे लक्षण नजर आ सकते हैं इसल‍िए आपको पर्दे का इस्‍तेमाल करना चाह‍िए ताक‍ि घर में गरम हवा बाहर से अंदर न आए और लू से बचने के ल‍िए आपको ज्‍यादा से ज्‍यादा आराम करना चाह‍िए खासकर प्रेगनेंसी के पहले स्‍टेज में जब आपको खास ख्‍याल रखने की जरूरत होती है। आपको प्रेगनेंसी में कॉटन कपड़े पहनने चाह‍िए ताक‍ि गर्मी एब्‍सॉर्ब होकर आप तक न आए।       

3. छोटे मील्‍स खाएं (Eat small meals)

heat stroke symptoms

लू से बचने के ल‍िए आपको छोटे मील्‍स प्‍लान करने चाह‍िए, आप एक साथ ज्‍यादा खाने के बजाय छोटे मील्‍स जैसे सलाद का सेवन कर सकते हैं। आपको अपनी डाइट में फाइबर र‍िच फूड्स को शाम‍िल करना चाह‍िए। ताजे फल और सब्‍ज‍ियों का सेवन करें।

4. लक्षणों की पहचान समय पर करें (Identify heat stroke symptoms)

ज्‍यादा तापमान में ज्‍यादा समय के ल‍िए रहने के कारण हीट स्‍ट्रोक की समस्‍या होती है, इसका जल्‍द से जल्‍द इलाज क‍िया जाना चाह‍िए। हीट स्‍ट्रोक की समस्‍या होने पर शरीर में पानी और नमक की कमी हो जाती है, पसीना आना भी इस दौरान बंद हो जाता है। लू लग जाने पर आपको दौरे आना, बेहोशी की हालत, घबराहट, बेचैनी, मतली और उल्‍टी, स‍िर में दर्द  की समस्‍या हो सकती है। अगर आपको ये लक्षण नजर आते हैं तो डॉक्‍टर से संपर्क करें और जल्‍द से जल्‍द इलाज करवाएं।

इसे भी पढ़ें- इन 6 समस्याओं में फायदेमंद होती है खदिर (खैर) की छाल, जानें उपयोग का तरीका

5. रोजाना एक्‍सरसाइज करें (Regular exercise)

कुछ लोगों को लगता है क‍ि गरम द‍िनों में एक्‍सरसाइज नहीं करना चाह‍िए पर ऐसा कुछ नहीं है, अगर आप प्रेगनेंट हैं तो आपको लू से बचने के ल‍िए रोजाना एक्‍सरसाइज करनी चाह‍िए। एक्‍सरसाइज में आप कार्ड‍ियो एक्‍सरसाइज, वॉक‍िंंग, योगा, मेड‍िटेशन आद‍ि शाम‍िल कर सकते हैं।  

हीट स्‍ट्रोक या लू की समस्‍या से बचने के ल‍िए आपको ये ऊपर बताए गए उपायों को अपनाना चाह‍िए।

Disclaimer