अपच से लेकर मूड स्विंग्स कंट्रोल करने तक, जानें केसर और किशमिश को साथ खाने के 10 फायदे

केसर और किशमिश को भिगो कर खाने से शरीर की गंदगी डिटॉक्स हो जाती है और ये ब्रेन हेल्थ को भी बूस्ट करता है। आइए जानते हैं इनके अन्य स्वास्थ्य लाभ। 

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Sep 14, 2021Updated at: Sep 14, 2021
अपच से लेकर मूड स्विंग्स कंट्रोल करने तक, जानें केसर और किशमिश को साथ खाने के 10 फायदे

किशमिश पोषक तत्वों से भरपूर कुछ उन ड्राई फ्रूट्स में आते हैं, जिन्हें खाना शरीर के डिटॉक्सिफिकेशन में मदद करता है। पर क्या आपको पता है कि किशमिश को केसर (soaked raisins kesar benefits) के साथ भिगो कर खाना सेहत के लिए कितना फायदेमंद है? दरअसल, पहले के लोग किशमिश को भिगो कर खाने को ही कहते थे। दरअसल, उनका मानना था कि किशमिश को भिगो कर खाने से पित्त शांत होता। ये बवासीर और  पेट से जुड़ी कई बीमारियों से बचाव में मदद करता है। साथ ही केसल एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर है जो कि सर्दी-जुकाम को ठीक करने से साथ हाजमा सही रखने में भी मदद करता है। तो, किशमिश और केसर को भिगो कर एक साथ खाने के इन्हीं लाभों के बारे में विस्तार से जानने के लिए हमने  डॉ. संजय शास्त्री  से बात की जो कि एक आयुर्वेदिक डॉक्टर हैं और लखनऊ आयुर्वेदा क्लीनिक में कार्यरत हैं। तो, आइए विस्तार से जानते हैं केसर और किशमिश को साथ खाने के 10 फायदे (Health benefits soaked raisins kesar)

Inside4soakedraisinskesarbenefits

केसर और किशमिश को साथ खाने के फायदे -Health benefits soaked raisins kesar

1. पेट ठंडा करता है

केसर और किशमिश दोनों को रातभर भिगो कर रखने और सुबह-सुबह इन दोनों को खाने से और इसका पानी पीने से पेट ठंडा रहता है। दरअसल, कुछ लोगों के पेट का पीएच गड़बड़ हो जाता है और ये अधिक एसिडिक हो जाता है। ऐसे में इस पीएच की गड़बड़ी को बैलेंस करने का काम करता है केसर और किशमिश। दरअसल,  केसर में यूपेप्टिक (Eupeptic) होता है, जो कि पेट में एसिड के प्रोडक्शन को कम करने में मदद करता है और जिन लोगों को खाते ही एसिडिटी की समस्या होती है, उनकी इस परेशानी को कम करने में मदद करता है। 

2. कब्ज की समस्या को दूर करता है

केसर और किशमिश दोनों को भिगोकर खाने से पुरानी से पुरानी कब्ज की समस्या भी दूर हो जाती है। दरअसल, किशमिश भरपूर मात्रा में फाइबर से भरपूर है जिसे भिगो देने पर ये और बढ़ जाता है। साथ ही केसर का पानी आपके स्टूल को आसान बनाने में मदद करता है और आंतों की सफाई करता है। साथ ही इन दोनों को भिगो कर रखने से घुलनशील फाइबर पहले से ही जेल जैसा पदार्थ बनाते हैं जो पाचन प्रक्रियाओं को तेज कर देता है और उनका हल्का लैक्सटेसिव प्रभाव पेट साफ करके, बाउल मूवमेंट को तेज करता है और जो कब्ज की समस्या को दूर करता है

3. एनीमिया को रोकता है

किशमिश आयरन से भरपूर होती है, इसलिए वे आरबीसी के उत्पादन को बढ़ा सकते हैं, जिससे एनीमिया को रोका जा सकता है। साथ ही केसर में मौजूद कैरोटीनॉयड आपकी इम्यूनिटी बढ़ा सकता है। इसके अलावा आयरन हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं (आरबीसी) के निर्माण के लिए जरूरी है तो, जिनमें खून की कमी है उन्हें ये नुस्खा जरूर अपना चाहिए। साथ ही पानी में भिगोई हुई किशमिश नाइट्रिक ऑक्साइड के एक अच्छे स्रोत के रूप में कार्य करती है, जो शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में मदद करती है।

Inside3kesar

4. दिल के लिए हेल्दी

किशमिश पोटेशियम का एक समृद्ध स्रोत है। पोटेशियम सोडियम के प्रभावों का मुकाबला कर सकता है और शरीर में इसे बढ़ने से रोकता है। दरअसल, सोडियम बढ़ने से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होती है जो कि आगे चल कर दिल की बीमारियों का कारण बनता है। इसलिए केसर और किशमिश को सुबह-सुबह भिगो कर खाना जहां ब्लड प्रेशर कंट्रोल करता है वहीं सोडियम की अधिकता के कारण शरीर में होने वाले सूजन को भी रोकता है। 

इसे भी पढ़ें : आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए इन आयुर्वेदिक तरीकों से करें गेंदे के फूल का इस्तेमाल

5 . शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है

किशमिश और केसर को पानी में भिगोने और अगली सुबह, पानी पानी सहित पीने से ये शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में मदद करता है। इसे रेगुलर करने शरीर से सभी हानिकारक विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालती है और लिवर डिटॉक्स में भी मदद करती है। इससे आपका खून भी साफ होता है और आपकी स्किन भी बेहतर होती है। साथ ही केसर का एंटीऑक्सीडेंट गुण शरीर के एंजाइम को नियंत्रित करता है और लिवर डैमेज से बचाव में भी मदद करता है। 

6. इम्यूनिटी बढ़ाता है

किशमिश विटामिन बी और सी से भरपूर होती है और किशमिश एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर। ये दोनों मिल कर इम्यून सिस्टम को मजबूती देने का काम करती है।  नतीजतन, ये आपके शरीर की प्राकृतिक प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को मजबूत कर सकते हैं। इसके अलावा किशमिश में मौजूद बायोफ्लेवोनॉयड्स शरीर को इंफेक्शन से भी बचाते हैं और केसर सर्दी-जुकाम से बचाए रखने में मदद करता है। इस तरह ये एक साथ कई बीमारियों से बचाते हैं। 

7. कोलेस्ट्रॉल को कम करता है

किशमिश ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने में मददगार है और केसर खून को साफ करने में। पर इन दोनों का एक सबसे बड़ा फायदा ये है कि ये कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकते हैं। दरअसल,  किशमिश की उच्च फाइबर सामग्री और खनिज संरचना ब्लड कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करती है। इस तरह ये दिल को हेल्दी रखता है और स्ट्रोक, दिल का दौरा, हाई ब्लड प्रेशर और ऐसी अन्य बीमारियों के जोखिम को कम करता है।

8. हड्डियों को मजबूत बनाता है

100 ग्राम किशमिश में फॉस्फोरस और बोरॉन जैसे अन्य ट्रेस खनिजों के साथ 50 मिलीग्राम कैल्शियम होता है। नतीजतन, किशमिश का नियमित सेवन इन पोषक तत्वों के अवशोषण को बढ़ा सकता है और हड्डियों के खनिज घनत्व में सुधार करते हुए दांतों और हड्डियों को मजबूत कर सकता है। साथ ही केसर एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर है जो कि गठिया में सूजन और दर्द को कम कर सकता है। इस तरह इन दोनों का एक साथ उपयोग करना हड्डियों को मजबूती देने में मददगार है।  

Inside1pms

इसे भी पढ़ें : Akshay Kumar Birthday: अक्षय कुमार रोज पीते हैं गोमूत्र, आयुर्वेद के अनुसार जानें गोमूत्र पीने के फायदे

9. PMS के लक्षणों को कंट्रोल करने में मददगार

7-8 किशमिश को एक या दो केसर रात भर भिगो दें और इन्हें पीरियड्स आने से पहले लेना शुरू करें। ये पीएमएस के लक्षण जैसे मूड स्विंग्स और एक्ने आदि को कम करने में मददगार है। इसके अलावा ये पीसीओडी के लक्षणों को भी करने में मददगार है और महिलाओं में चिंता, ऐंठन और ब्लॉटिंग आदि को भी कम करने में मदद करता है। 

10. नींद की गुणवत्ता में सुधार करता है

किशमिश और केसर दोनों मिल कर आपकी नींद को भी बेहतर बनाने में मदद करते हैं। किशमिश में प्राकृतिक रूप से मौजूद मेलाटोनिन, आपको जल्दी और अच्छी नींद लेने में मदद करता है। साथ ही किशमिश में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट अनिद्रा से जूझ रहे मरीजों में पाए जाने वाले ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को भी बेअसर करता है। साथ ही केसर में मौजूद क्रॉकेटिन नींद को बढ़ावा देता है तो, इस तरह ये दोनों मिल कर नींद को बेहतर बनाने में भी मदद करते हैं। 

दरअसल, पानी में भिगोई हुई किशमिश के फायदे कच्चे किशमिश के फायदों से ज्यादा हैं। बाहरी त्वचा और किशमिश की परत में मौजूद विटामिन और खनिज पानी में घुल जाते हैं और केसर इसे दोगुना कर देता है। तो, इन तमाम फायदे के लिए इन दोनों को एक बार जरूर ट्राई करें।  

All images: getty images

Read more articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer