इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए करें जिमीकंद का सेवन, जानें इसके अन्य फायदे-नुकसान और लेने का तरीका

जिमीकंद खाने से इम्यूनिटी बढ़ने के साथ ही कई अन्य स्वास्थ्य लाभ भी मिलते हैं। इसे अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग नामों से जाना जाता है। 

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Apr 28, 2021Updated at: Apr 28, 2021
इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए करें जिमीकंद का सेवन, जानें इसके अन्य फायदे-नुकसान और लेने का तरीका

कोरोना काल में हम सभी ने अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) पर बहुत ध्यान दिया है। इसे बढ़ाने के लिए हमने अपनी डाइट में तरह-तरह की चीजों को शामिल किया है। क्योंकि कोरोना वायरस से बचने के लिए इम्यूनिटी का मजबूत होना बहुत जरूरी है। मजबूत रोग प्रतिरोधक क्षमता वायरस से लड़ने में हमारी मदद करता है। इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए हमने तुलसी, काली मिर्च, लौंग, इलायची और भी कई अन्य चीजों का सेवन करना शुरू किया है। आप चाहें तो अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए अपनी डाइट में जिमीकंद (Jimikand in Diet) को भी शामिल कर सकते हैं। इसमें कई ऐसे विटामिंस और मिनरल्स पाए जाते हैं, जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाता है। दिल को स्वस्थ रखने, मेमोरी पावर बढ़ाने, हीमोग्लोबिन बढ़ाने और पेट के रोगों को दूर करने के लिए भी इसका सेवन किया जा सकता है। इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर, विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। इसे सब्जी, चटनी के रूप में खाया जा सकता है। लेकिन इसका सेवन हमेशा सीमित मात्रा में ही करना चाहिए, ज्यादा मात्रा में इसे खाने से आपको नुकसान भी हो सकता है। जिमीकंद को सूरन के नाम से भी जाना जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम अमोर्फोफ्लस पेओनिफोलियस (Amorphophallus Paeonifolius) है। इसे अंग्रेजी में याम (Yam) कहते हैं। यह हाथी के पैर जैसा दिखता है, इसलिए इसे एलिफेंट फुट याम भी कहा जाता है। एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटल की डायटीशियन अदिति गुप्ता से जानें जिमीकंद के फायदे-नुकसान और इसे लेने का तरीका (Jimikand Health Benefits, Side Effects and Uses)-  

imikand 1

जिमीकंद में मौजूद पोषक तत्व (Nutrients in Jimikand)

  • फाइबर (Fiber)
  • विटामिन सी (Vitamin C)
  • विटामिन बी6 (Vitamin B6)
  • विटामिन बी1 (Vitamin B1)
  • फोलिक एसिड (Folic Acid)
  • पोटैशियम (Potassium)
  • आयरन (Iron)
  • मैग्नीशियम (Megnesium)
  • कैल्शियम (Calcium) 
  • फॉस्फोरस (Phosphorus) 
  • एंटीऑक्सीडेंट (Anti-Oxidant) 
  • बीटा कैरोटीन (Beta Carotene) 
  • प्रोटीन (Protein) 
  • कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrate)
  • जिंक (Zink)
  • वसा और ऊर्जा (Fat and Energy )

जिमीकंद के फायदे (Health Benefits of Jimikand)

जिमीकंद खाने से सेहत को कई फायदे मिल सकते हैं। इसके सेवन से आप अपनी मेमोरी पावर बढ़ा सकते हैं। साथ ही जिमीकंद के सेवन से खून की कमी भी दूर होती है। लेकिन यह बात ध्यान में रखिए कि जिमीकंद किसी बीमारी का इलाज नहीं है, यह सिर्फ आपका इनसे बचाव करने में मदद कर सकता है। 

इम्यूनिटी बढ़ाए (Boost Your Immunity)

जिमीकंद या सूरन स्वाद में बेहद अच्छा होता है। आप इसका सेवन अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कर सकते हैं। इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन सी (Anti-Oxidant and Vitamin C) पाया जाता है, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मददगार होता है। कोरोना काल में इम्यूनिटी बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है, ऐसे में जिमीकंद की सब्जी आपके लिए सहायक हो सकती है। इम्यूनिटी बढ़ाने पर यह वायरस और इंफेक्शन से लड़ने में हमारी मदद करता है।  

पेट के रोगों में लाभकारी (Beneficial in Stomach Diseases)

अगर आप पेट में गैस, एसिडिटी, कब्ज और अपच से परेशान हैं, तो ऐसे में जिमीकंद का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है। इसके उच्च मात्रा में फाइबर पाया जाता है, जो पेट के सभी रोगों को दूर करने में लाभकारी होता है। पेट के रोगों में इसके जड़ का इस्तेमाल औषधि के रूप में किया जाता है। आप भी अपने पेट को स्वस्थ रखने के लिए इसका सेवन कर सकते हैं। लेकिन सीमित मात्रा में ही इसका सेवन करना फायदेमंद होता है। 

kab

कैंसर से करे बचाव (Prevent from Cancer)

जिमीकंद में पर्याप्त मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन सी और बीटा कैरोटीन (Antioxidants, Vitamin C and Beta Carotene) पाया जाता है। यह कैंसर पैदा करने वाले फ्री रैडिकल्स (Free Radicals) से लड़ने में सहायक होता है। कैंसर से अपना बचाव करने के लिए आप इसका सेवन सब्जी, चटनी या आचार के रूप में कर सकते हैं। लेकिन यह कैंसर का इलाज नहीं है, इसके इलाज के लिए आपको डॉक्टर से ही सलाह लेनी होगी। इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व सिर्फ कैंसर की रोकथाम में मदद कर सकता है।

हीमोग्लोबिन बढ़ाए (Increase Hemoglobin)

अगर आपके शरीर में खून की कमी है तो जिमीकंद का सेवन करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। इसमें काफी अधिक मात्रा में आयरन पाया जाता है, जो शरीर से खून की कमी को दूर करता है। हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए इसका सेवन करना काफी लाभकारी हो सकता है। महिलाएं अकसर ही एनीमिया की शिकार होती हैं, ऐसे में जिमीकंद को अपनी डाइट में शामिल करना उपयुक्त हो सकता है।

जिमीकंद के अन्य फायदे (Other Benefits of Jimikand)

  • - जिमीकंद में एंटी-इंफ्लेमेटरी (Anti-Inflammatory) गुण पाए जाते हैं, तो गठिया और अस्थमा (Arthritis and Asthma) के रोगियों के लिए लाभकारी हो सकता है।
  • - यह शरीर में ब्लड फ्लो को तंदुरुस्त रखता है। ब्लड सर्कुलेशन  (Blood Circulation) को बढ़ाने में भी जिमीकंद मदद करता है।
  • - जिमीकंद में विटामिन बी6 (Vitamin B6) काफी अच्छी मात्रा में पाया जाता है, जो दिल को स्वस्थ (Healthy Heart) रखने में मदद करता है।
  • - यह ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) को भी कंट्रोल में रखता है। 
  • - इसमें फाइबर (Fiber) पाया जाता है, जो वजन कम करने या कंट्रोल करने में मदद करता है।
  • - पाचन क्रिया (Digestion Process) को दुरुस्त करने के लिए जिमीकंद का सेवन किया जा सकता है।

जिमीकंद को खाने का तरीका (How to Eat Jimikand)

जिमीकंद की सब्जी बहुत ही स्वादिष्ट होती है। आप इसका सेवन सब्जी और चटनी के रूप में कर सकते हैं। इसके अलावा आप चाहें तो इसे स्नैक्स के रूप में भी ले सकते हैं। इसके लिए आप इसे टुकड़ों में काट लें और फ्राई कर लें, चाय के साथ जिमीकंद खाना बेहद स्वादिष्ट लगता है। अचार और पकौड़े बनाकर भी इसका सेवन किया जा सकता है। इसके अलावा आप इसे सप्लीमेंट के रूप में भी ले सकते हैं। मार्केट में इसका पाउडर भी मौजूद है। लेकिन इसका सेवन करने से पहले आपको डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए। साथ ही सीमित मात्रा में ही आपको इसका सेवन करना चाहिए।

jimikand

जिमीकंद के नुकसान (Side Effects of Jimikand)

वैसे तो सीमित मात्रा में जिमीकंद का सेवन करना लाभकारी हो सकता है। लेकिन ज्यादा मात्रा में इसके सेवन से आपको बचना चाहिए। इसके साथ ही कुछ संवेदनशील लोगों को भी इसके सेवन से बचना चाहिए। गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए। इसके साथ ही जिन लोगों को स्किन रिलेटेड प्रॉब्लम होती है, वे भी इसका सेवन करने से बचें। इसके सेवन से होने वाले नुकसान-

  • - इससे त्वचा एलर्जी होने की संभावना रहती है।
  • - ज्यादा मात्रा में इसके सेवन से उल्टी हो सकती है। 
  • - गर्भवती महिलाओं को इसे खाने से बचना चाहिए।

जिमीकंद का बहुत अत्याधिक मात्रा में सेवन करने से बचना चाहिए। अगर आपको त्वचा रोग है, तो बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन न करें। गर्भवती होने और स्तनपान कराने पर भी इसका सेवन न करें। इसके साथ ही इसे बहुत थोड़ी मात्रा में  ही खाएं और खाने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer